कारगिल युद्ध के शहीदों को याद करेंगे पूर्व सैनिक

Bilaspur Updated Sat, 21 Jul 2012 12:00 PM IST
बिलासपुर। जिला स्तरीय पूर्व सैनिक कल्याण समिति बिलासपुर की ओर से हर साल की भांति इस बार भी 26 जुलाई को कारगिल विजय दिवस पर शहीद सैनिकों को श्रद्धांजलि अर्पित की जाएगी। पूर्व सैनिकों की ओर से घुमारवीं उपमंडल के अंतर्गत डंगार में राज्य स्तरीय कारगिल विजय दिवस मनाया जाएगा। समारोह में रिटायर्ड मेजर जनरल सतीश कुमार बतौर अतिथि शिरकत करेंगे। जबकि, पुलिस अधीक्षक संतोष पटियाल विशिष्ट अतिथि होंगे।
पूर्व सैनिक कल्याण समिति के चेयरमैन कैप्टन नरेंद्र सिंह ने बताया कि पूर्व सैनिकों की ओर से 26 जुलाई को राज्य स्तरीय कारगिल विजय दिवस डंगार में मनाया जाएगा। समारोह में कारगिल में प्रदेश का प्रथम शहीद परमवीर चक्र से सम्मानित कैप्टन सौरव कालिया, परमवीर चक्र से सम्मानित शहीद कैप्टन विक्रम बतरा, वीरचक्र से सम्मानित हवलदार उद्धम सिंह के अलावा प्रदेश के 52 बहादुर शहीद सैनिकों को श्रद्धांजलि अर्पित की जाएगी।
उन्होंने कहा कि कारगिल युद्ध 14 मई 1999 को शुरू हुआ और 26 जुलाई 1999 तक चला। जिला बिलासपुर के चैहड़ी गांव के हवलदार उद्धम सिंह ने अपने प्रदेश व जिले का नाम रोशन कर मातृ भूमि के लिए 14 जून 1999 को कारगिल में प्राण न्यौछावर किए। मोरसिंघी गांव के हवलदार राज कुमार, कोठी गांव के नायक मंगल सिंह, पट्टा गांव के राइफल मैन विजयपाल, जेजवीं गांव के नायक अश्विनी कुमार, खतेड़ गांव के हवलदार प्यार सिंह, डूहक गांव के नायक मस्त राम ने कुर्बानी देकर दुश्मनों को मुंहतोड़ जवाब दिया। जिले के बकैण गांव के हवलदार संजय कुमार ने कारगिल युद्ध में एक मिसाल पेश की। उन्हें देश के सबसे बड़े युद्ध पदक परमवीर चक्र से नवाजा गया।
उन्होंने बताया कि कारगिल युद्ध में देश के करीब 533 सैनिक वीरगति को प्राप्त हुए और लगभग तीन सौ सैनिक घायल हुए थे। कैप्टन नरेंद्र सिंह ने कहा कि कारगिल विजय युद्ध दिवस के लिए शहीद परिवारों व युद्ध पदक विजेताओं को निमंत्रण पत्र भेजा जा रहा है। समारोह की अध्यक्षता पूर्व सैनिक कल्याण समिति के अध्यक्ष एवं राष्ट्रीय सैनिक संस्था के संयोजक सूबेदार प्रकाश चंद करेंगे।

Spotlight

Most Read

Dehradun

आरटीओ में गोलमाल, जांच शुरू

आरटीओ में गोलमाल, जांच शुरू

21 जनवरी 2018

Related Videos

ये वीडियो देखकर आपकी आंखे फटी रह जाएंगी

हिमाचल प्रदेश में एक बड़ा हादसा होते-होते बच गया। यहां एक स्टीमर को पानी में उतारने के लिए लाई गई मशीन ही पानी में गिर गई। देखिए जरा ये तस्वीर।

17 दिसंबर 2017

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper