तबाह न करे दे ये सावन की बरसात

Bilaspur Updated Thu, 19 Jul 2012 12:00 PM IST
बिलासपुर। कुछ साल पहले बाढ़ के रौद्र रूप की मार झेल चुके झंडूता तहसील के सुन्हाणी गांव के लोगों को बरसात के इस मौसम में दोबारा डर सताने लगा है। उनकी चिंता इस बात को लेकर है कि सुन्हाणी खड्ड में हो रहा अवैध खनन कहीं इस बार भी बाढ़ का कारण न बन जाए। सुरक्षा को लेकर चिंतित ग्रामीणों ने बुधवार को बिलासपुर में डीसी से मुलाकात कर मामले में हस्तक्षेप का आग्रह किया।
फरियाद लेकर उपायुक्त के पास पहुंचे लच्छमण राम, विमला, शकुंतला, कमलेश, मीना, अरफान, मोहम्मद इजहार, बलकीसां, कृष्ण कुमार व सुरेश कुमार ने कहा कि चार वर्ष पूर्व सुन्हाणी खड्ड में आई बाढ़ से उनके मकान व जमीनें तबाह हो गई थीं। प्रशासन ने फौरी राहत के तौर पर बसाव के लिए उन्हें खड्ड के किनारे जमीन दे रखी है। इस जमीन पर मकान बनाकर वे गुजर-बसर कर रहे हैं।
ग्रामीणों के अनुसार सुन्हाणी के ही कुछ लोग खड्ड में अवैध रूप से खनन करके रेत, बजरी व पत्थर निकालकर उन्हें बेच रहे हैं। इतना ही नहीं, उनके मकानों की सुरक्षा के लिए निर्माणाधीन डंगे के पत्थर भी वे लोग उठा रहे हैं। रोकने पर वे धमकियां देने और मारपीट करने पर उतारू हो जाते हैं। शिकायत करने के बावजूद खनन विभाग भी कोई कार्रवाई नहीं कर रहा है। अवैध खनन के चलते बरसात के मौसम में खड्ड का बहाव अपना रुख बदल कर दोबारा उनके मकानों को तबाह कर सकता है। उन्हाेंने प्रशासन से इस मामले में समय रहते ठोस कदम उठाने की मांग की। उपायुक्त रितेश चौहान ने जिला खनन अधिकारी को इस मामले में आवश्यक कानूनी कार्रवाई करने को कहा है।

Spotlight

Most Read

Madhya Pradesh

MP निकाय चुनाव: कांग्रेस और भाजपा ने जीतीं 9-9 सीटें, एक पर निर्दलीय विजयी

मध्य प्रदेश में 19 नगर पालिका और नगर परिषद अध्यक्ष पद पर हुए चुनाव में कांग्रेस और भाजपा के बीच कड़ा मुकाबला देखने को मिला।

20 जनवरी 2018

Related Videos

ये वीडियो देखकर आपकी आंखे फटी रह जाएंगी

हिमाचल प्रदेश में एक बड़ा हादसा होते-होते बच गया। यहां एक स्टीमर को पानी में उतारने के लिए लाई गई मशीन ही पानी में गिर गई। देखिए जरा ये तस्वीर।

17 दिसंबर 2017

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper