अनसेफ बिल्डिंग में पढ़ रही छात्राएं

Yamuna Nagar Updated Wed, 19 Dec 2012 05:31 AM IST
यमुनानगर। सब्जी मंडी स्थित राजकीय कन्या वरिष्ठ माध्यमिक स्कूल की बिल्डिंग को पीडब्ल्यूडी विभाग ने अनसेफ घोषित किया हुआ है। इस डर से स्कूल प्रशासन खस्ताहाल कमरों में क्लास नहीं लगा रहा हैं। खुले आसमान के नीचे भी छात्राएं सुरक्षित नहीं हैं क्योंकि दीमक लगे पेड़ कभी भी उनके ऊपर गिर सकते हैं। स्कूल में वर्तमान में सात सौ से अधिक छात्राएं पढ़ रही हैं।
कमरों की छत से पानी रिसकर छत के लैंटर में जाता है और नीचे कमरों में भी टपकता है। इससे लैंटर काफी कमजोर हो गया है। स्कूल के लगभग सभी कमरों में लकड़ी के फर्नीचर और दरवाजों और चौखट को दीमक लगी हैं। पूरे स्कूल में ही दीमक बड़ी तादाद में है। स्कूल प्रबंधन ने करीब नौ माह पूर्व पीडब्ल्यूडी विभाग द्वारा स्कूल की पुरानी बिल्डिंग का सर्वेे करवाया था। सर्वे के बाद पीडब्ल्यूडी विभाग के एक्सईएन की ओर से जारी पत्र में स्कूल की पुरानी बिल्डिंग को अनसेफ घोषित करते हुए इसकी तत्काल मरम्मत की बात कहीं गई थी। पुरानी बिल्डिंग में करीब दस कमरे हैं। स्कूल के बरामदे में कंक्रीट की बीम खतरनाक हालत में है। एक बार बीम का प्लास्टर गिर चुका है। स्कूल प्रशासन एक-दो बीम की मामूली मरम्मत करा चुका है। अन्य बीम की मरम्मत का कार्य पैसा मंजूर न होने के कारण लटका हुआ है।
कमरों में नहीं लगती क्लास
पीडब्ल्यूडी विभाग द्वारा स्कूल की बिल्डिंग को अनसेफ घोषित किए जाने के बाद स्कूल प्रशासन ने जिला शिक्षा अधिकारी को पत्र लिखकर स्कूल की मरम्मत के लिए बजट जारी करने की मांग की थी। लेकिन अभी तक स्कूल को धन राशि उपलब्ध नहीं हो पाई है। उधर, पीडब्ल्यूडी विभाग के सर्वे के बाद स्कूल प्रशासन हादसे के डर से कक्षाओं में क्लास नहीं लगवा रहा है। छात्राओं को बाहर खुले आसमान के नीचे ही पढ़ाया जा रहा है।

खुले आसमान के नीचे पेड़ों के गिरने का डर
स्कूल में जिस पेड़ के नीचे दबकर छात्राएं घायल हुई हैं, वह पेड़ सूखा हुआ था और उसकी जड़ को दीमक ने पूरी तरह खाया हुआ है। यहीं नहीं स्कूल के लगभग सभी पेड़ को दीमक लगी है। शीशम के एक पेड़ को दीमक ने पूरी तरह खाया हुआ है और यह पेड़ कभी भी गिर सकता है। इस पेड़ के समीप ही खुले आसमान के नीचे छात्राओं को पढ़ाया जाता है। इस पेड़ पर बिजली की तारें भी बंधी हुई है। पेड़ गिरने पर तारें टूटने का खतरा है, जिससे बड़ा हादसा हो सकता है। स्कूल प्रांगण में लगे पीपल के पेड़ की मोटी टहनियां खतरनाक हालत में नीचे की ओर झुकी हुई हैं, जो कभी भी बड़े हादसे का सबब बन सकती हैं। स्कूल प्रांगण में डेढ़ दर्जन से अधिक पापुलर के पेड़ हैं जो काफी लंबे और मोटे हैं। पेड़ों में दीमक लगने की समस्या के कारण ये पेड़ कभी भी खतरनाक साबित हो सकते हैं।
बाक्स-
मरम्मत के लिए छह लाख की डिमांड : प्रिंसिपल
स्कूल के प्रिंसिपल अश्वनी धीमान ने बताया कि उन्होंने करीब छह महीने चार्ज संभाला है। पुराने प्रिंसिपल के कार्यकाल में पीडब्ल्यूडी विभाग द्वारा स्कूल की पुरानी बिल्डिंग को अनसेफ घोषित किए जाने के बाद डीईओ को पत्र लिखकर 6 लाख की मंाग की गई थी। इसमें तीन लाख रुपये दीमक को खत्म करने के लिए और तीन लाख रुपये कमरों की मरम्मत के लिए मांगे गए हैं। अभी तक मरम्मत के लिए यह रकम नहीं मिल पाई है। उनका कहना है कि स्कूल में एक-दो अन्य पेड़ गिरने की कगार पर है। इन्हें कटवाने के लिए पूर्व प्रिंसिपल द्वारा पूर्व डीएफओ को पत्र लिखा गया था। अभी तक वन विभाग की ओर से पेड़ों को काटने की अनुमति नहीं दी गई है। उन्होंने बताया कि पीपल के पेड़ की एक मोटी टहनी को दो माह पूर्व कटवाया गया था। वन विभाग के डर से शेष टहनियाें को नहीं काटा गया है। प्रमीशन मिलते ही इन टहनियों को भी कटवा दिया जाएगा।
बाक्स-
उपायुक्त ने जांच के आदेश दिए
उपायुक्त अशोक सांगवान ने राजकीय कन्या वरिष्ठ माध्यमिक स्कूल में हुए हादसे की जांच के आदेश जारी कर दिए है। इसकी जांच का जिम्मा अतिरिक्त उपायुक्त डा. एसएस सैनी को सौंपा गया है। अतिरिक्त उपायुक्त ने अपनी जांच आरंभ कर दी है और कुछ दिनाें में वे अपनी रिपोर्ट उपायुक्त को सौंप देंगे।
बाक्स-
हेड आफिस भेजा गया है एस्टीमेट : डीईओ
जिला शिक्षा अधिकारी जगजीत कौर का कहना है कि अनसेफ बिल्डिंग का एस्टीमेट जिला शिक्षा अधिकारी कार्यालय में आते ही इसे तुरंत हेड आफिस भेज दिया जाता है। इस स्कूल का बजट मंजूर हुआ है या नहीं इस बारे पेपर्स देखकर ही बता पाऊंगी।

Spotlight

Most Read

National

सियासी दल सहमत तो निर्वाचन आयोग ‘एक देश एक चुनाव’ के लिए तैयार

मध्य प्रदेश काडर के आईएएस अधिकारी और झांसी जिले के मूल निवासी ओपी रावत ने मंगलवार को मुख्य चुनाव आयुक्त का कार्यभार संभाल लिया।

24 जनवरी 2018

Rohtak

बिजली बिल

24 जनवरी 2018

Rohtak

नेताजी

24 जनवरी 2018

Related Videos

छेड़छाड़ रोकने गए पुलिस कर्मियों की इन लोगों ने फाड़ दी वर्दी

लोग कानून के रखवालो पर भी हमला करने से नही चूकते। ताज़ा मामला हरियाणा के नन्दा कॉलोनी का है जहां लड़की के साथ छेड़छाड़ के मामले की सूचना मिलने पर पहुंचे पीसीआर के पुलिसकर्मियों पर लोगों ने हमला बोल दिया। यही नहीं उनकी वर्दी तक फाड़ डाली।  

17 अक्टूबर 2017

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper