विज्ञापन

केबिनेट मंत्री को किसानों ने काले झंडे दिखाने का किया प्रयास, पुलिस ने बेरिकेड लगाकर रोके

Rohtak Bureau Updated Fri, 09 Feb 2018 11:13 PM IST
विज्ञापन
ख़बर सुनें
कैबिनेट मंत्री कविता जैन को काले झंडे दिखाने का किया प्रयास, पुलिस ने बैरिकेड लगाकर रोके
विज्ञापन
अमर उजाला ब्यूरो
यमुनानगर। दादूपुर नलवी नहर को डिनोटिफाई करने के विरोध में 172 दिन से धरने पर बैठे किसानों ने शुक्रवार को शहर में आई कैबिनेट मंत्री कविता जैन को काले झंडे दिखाने का प्रयास किया। जिला सचिवालय में कष्ट निवारण समिति की बैठक की अध्यक्षता करने आई मंत्री को काले झंडे दिखाने से पहले ही पुलिस ने करीब सौ मीटर की दूरी पर बैरिकेड लगाकर किसानों को रोक दिया। किसानों ने यहां हाथों में काले झंडे लेकर सरकार के खिलाफ प्रदर्शन किया। किसानों ने चेतावनी दी कि जब तक उनकी मांग पूरी नहीं हो जाती वे शहर में आने वाले हर मंत्री को काले झंडे दिखाएंगे।
जिला सचिवालय के सभाकक्ष में शुक्रवार दोपहर दो बजे जिला लोक संपर्क एवं कष्ट निवारण समिति की बैठक शुरू हुई। बैठक में कैबिनेट मंत्री कविता जैन के आने की भनक लगते ही किसान काले झंडे लेकर तैयार हो गए। मंत्री के आने से काफी देर पहले ही किसान काले झंडे लेकर धरना स्थल पर एकत्र हो गए। किसानों के काले झंडे दिखाने की योजना प्रशासन को जैसे ही पता चली तो पुलिस बल को मौके पर तैनात कर दिया गया। पुलिस ने जिला सचिवालय गेट से करीब सौ मीटर की दूरी पर किसानों के धरना स्थल के नजदीक ही बैरिकेड लगा दिए। दोपहर बाद 2.25 बजे मंत्री कविता जैन का काफिला जैसे ही नेशनल हाईवे 73 पर आता दिखाई दिया, किसान हाथों में काले झंडे लेकर उनकी तरफ बढ़ने लगे। पुलिस ने बैरिकेड लगाकर उन्हें रोक लिया। मंत्री जिला सचिवालय गेट से किसानों की तरफ देखे बिना ही अंदर चली गई। किसानों ने सरकार के खिलाफ यहां जमकर नारेबाजी। मंत्री कविता जैन के वापस जाने तक किसान काले झंडे लेकर धरना स्थल पर बैठे रहे। मंत्री जैन के जाने के दौरान भी किसान काले झंडे लेकर खड़े हो गए और नारेबाजी करने लगे। पुलिस की तैनाती के चलते किसान मंत्री को काले झंडे नहीं दिखा पाए।
बॉक्स
172 वें दिन से जारी है धरना
दादूपुर नलवी नहर को डिनोटिफाई करने के विरोध व किसानों का उचित मुआवजा दिलवाने की मांग को लेकर किसान 172 दिन से अनाजमंडी गेट पर धरना दे रहे है। प्रदर्शन कर रहे किसान राजेश दहिया, अर्जुन सुढैल, राजू मेहला, प्रीतम फौजी, सतीश प्रजापत, जगमाल दहिया, जयपाल, वेदपाल राणा, अमर सिंह भूखड़ी, रणधीर सिंह, सोमनाथ सैणी, कृष्ण, परमिंद्र धीमान, सरदूल सिंह, गुरचरण सिंह ने कहा कि जब तक उनकी मांगें पूरी नहीं हो जाती। उनका धरना जारी रहेगा।

शहर में आने वाले मंत्रियों का स्वागत
किसानों ने कहा कि दादूपुर नलवी-नहर उत्तर हरियाणा की लाइफ लाइन है। यह कई साल पहले बन कर तैयार हो चुकी थी। इसमें पानी भी शुरू भी कर दिया गया था। लेकिन इसका पानी नहर के कुछ हिस्से तक ही पहुंचा। इस नहर से जिस क्षेत्र को पानी मिलना चाहिए, उस क्षेत्र को डार्क जोन घोषित किया हुआ है। जहां किसान ना तो नया ट्यूबवेल लगा सकता है और ना ही पुराना बोर खराब होने पर नया बोर करा सकता है। इस क्षेत्र को नहरी पानी की बहुत सख्त जरूरत है। अगर यह नहर बंद कर दी गईं तो इस क्षेत्र भूमि का बंजर होना तय है। उनकी मांग है कि नहर को दोबारा शुरू किया जाए और किसानों को उनका उचित मुआवजा दिया जाए। किसानों ने चेतावनी दी कि जब तक उनकी मांगें पूरी नहीं हो जाती, वे तब तक अनिश्चितकालीन धरने पर बैठे रहेंगे। इस दौरान जिले में आने वाले हर मंत्री का काले झंडे दिखाकर स्वागत करेंगे।

फोटो : 31 से 34
मंत्री कविता जैन ने 11 में से 7 मामले निपटाए
जिला सचिवालय में हुई जिला लोक सम्पर्क एवं कष्ट निवारण समिति की बैठक
अमर उजाला ब्यूरो
यमुनानगर। जिला सचिवालय के सभागार में हुई जिला लोक संपर्क एवं कष्ट निवारण समिति की बैठक में शहरी स्थानीय निकाय, महिला एवं बाल विकास व सूचना, जनसंपर्क एवं भाषा विभाग की मंत्री कविता जैन ने 11 में से 7 परिवादियों के कष्ट दूर किए वहीं, चार परिवादों को बैठक तक लंबित रखने के निर्देश दिए।
बैठक में पहला परिवाद पुलिस विभाग से संबंधित आरती पत्नी रजनीश कुमार निवासी जैन कॉलोनी कैंप ने पति व उसके परिवार पर दहेज मांगने के बारे में, परिवाद नंबर-5 में प्रार्थी दिनेश कुमार निवासी अजीजपुर ने गांव के सरपंच को बर्खास्त करने के बारे में, परिवाद नंबर-6 में रविंद्र कुमार निवासी शादीपुर ने बीपीएल कार्डधारक व सौ गज के प्लॉट दिलाने बारे, परिवाद नंबर-7 में श्यामलाल निवासी छज्जुनगला तथा गांववासियों ने गांव में गंदे पानी की निकासी बहाल करने व मौजूदा और वर्तमान सरपंच द्वारा अवैध कब्जा करने बारे, परिवाद नंबर-8 में प्रार्थी मलकीत सिंह निवासी कान्हडी कलां व अन्य गांववासियों ने डिपो होल्डर द्वारा अनाज का सही वितरण न करने के बारे में, परिवाद नंबर-9 में प्रार्थी राजबीर निवासी भट्टूवाला ने उसकी खेतीबाड़ी की जमीन के पास स्क्रीनिंग प्लांट हटाने के बारे में व परिवाद नंबर-11 में मेवाराम निवासी सेखुपरा ने उसके खेत में पानी घुसने की वजह से होने वाले नुकसान के बारे में प्रार्थना की थी। इन उपरोक्त केसों का निपटारा कर उन्हें दोनों पक्षों की सहमति से फाइल कर दिया गया। बैठक में परिवाद नंबर-2 में साधुराम निवासी पाबनी कलां ने किसान कार्ड की लिमिट गैर-कानूनी तरीके से बनवाने के बारे में, परिवाद नंबर-3 में प्रार्थी नत्थु राम व अन्य निवासीयान गोमती गली जगाधरी ने सरकार जगह पर थड़ा बनाकर जनरेटर लगवाने के बारे में, परिवाद नंबर-4 में पुलिस विभाग के महिला थाना की कर्मचारी कुसुम द्वारा वरिष्ठ नागरिक, समाज सेवी एवं प्रमुख व्यक्ति के साथ मारपीट करने के बारे व परिवाद नंबर-10 में गांव अलाहर में गंगा सागर की भूमि पर अवैध रूप से पक्का मकान बनवाने के बारे में प्रार्थना पत्र आए थे, जिन पर लोक संपर्क एवं कष्ट निवारण समिति की अध्यक्षा कविता जैन ने कड़ा संज्ञान लेते हुए उचित कार्रवाई करने और इन परिवादों को आगामी आदेशों तक लंबित रखने के आदेश भी दिए।

फोटो-22 से 26

Recommended

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन

Most Read

Yamuna Nagar

हड़ताल को लेकर रोडवेजकर्मियों ने की गेट मीटिंग, आधी रात से हड़ताल शुरू, एक यूनियन ने किया किनारा

हड़ताल को लेकर रोडवेजकर्मियों ने की गेट मीटिंग, आधी रात से हड़ताल शुरू, एक यूनियन ने किया किनारा

16 अक्टूबर 2018

विज्ञापन

Related Videos

VIDEO: मंदिर के मैनेजर की कपड़ा फाड़ पिटाई, लड़की संग किया था गंदा काम

यमुनानगर में एक मंदिर के मैनेजर को लड़की से छेड़छाड़ के आरोप में लोगों ने खूब पीटा। मैनेजर की पीटाई करते हुए उसके कपड़े भी फाड़ दिए गए और भी सभी उसे लेकर थाने पहुंच गए।

30 मई 2018

Related

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree