बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
INSTALL APP

निगम में शामिल होने को सभी नियम पूरे करते है पांच गांव, कमिश्नर को पक्ष-विपक्ष के तर्क लेकर बनाई रिपोर्ट सौंपी

Rohtak Bureau रोहतक ब्यूरो
Updated Thu, 01 Oct 2020 12:24 AM IST
विज्ञापन
नगर निगम कार्यालय
नगर निगम कार्यालय - फोटो : Sonipat

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

ख़बर सुनें
सोनीपत। नगर निगम से जिन 13 गांवों को बाहर निकाला गया था, उनमें से पांच गांवों को दोबारा निगम में शामिल करने का रास्ता साफ होता दिख रहा है। रोहतक मंडल कमिश्नर डी. सुरेश के साथ गांवों को निगम में शामिल करने को लेकर हुई बैठक में नगर निगम कमिश्नर जगदीश शर्मा ने पूरी रिपोर्ट सौंप दी है तो वहां इसको लेकर काफी चर्चा भी हुई।
विज्ञापन

उस रिपोर्ट में बताया गया है कि यह पांच गांव निगम में शामिल होने के सभी नियम पूरे करते हैं, लेकिन निगम में गांव शामिल करने को लेकर दोनों पक्ष है। जहां कुछ लोग गांवों को निगम में शामिल कराना चाहते हैं, वहीं कुछ लोग इसका विरोध कर रहे हैं। इसमें पक्ष-विपक्ष के तर्क की रिपोर्ट भी कमिश्नर को सौंपी गई है। इसपर अब मंडल कमिश्नर अपनी रिपोर्ट तैयार कराकर सरकार को भेजेंगे, जहां से गांव शामिल करने को लेकर आखिरी फैसला लिया जाएगा।

नगर निगम जुलाई 2015 में बनने के साथ ही 26 गांवों को इसमें शामिल किया गया था। उसके बाद गांवों के कुछ लोगों ने आरोप लगाया था कि निगम ने गांवों का 157 करोड़ रुपया व 3700 एकड़ पंचायती जमीन को ट्रांसफर कराकर अपने पास रख लिया है। उसके बावजूद गांवों में विकास कार्य नहीं कराए गए तो गांवों में प्रापर्टी टैक्स, बिलों में एमसी टैक्स आदि लगाने शुरू कर दिए। इस कारण गांवों को निगम से बाहर निकालने की मांग की गई थी और इसके लिए आंदोलन शुरू करते हुए नगर निगम विरोध समिति बनाई गई थी। इस नगर निगम विरोध समिति में कुछ गांवों के चंद लोग शामिल थे। समिति के लोग हरियाणा भवन में सीएम मनोहर लाल से मिले थे और उसके बाद 52 दिन तक शहर के अग्रसेन चौक पर धरना दिया गया था। जिसके बाद सीएम मनोहर लाल ने 13 गांवों को निगम से बाहर करने की 2 जून 2018 को घोषणा की थी। लेकिन इसके कुछ समय बाद ही मुरथल, बहालगढ़, कमासपुर, नांगल खुर्द, किशोरा गांव को दोबारा निगम में शामिल करने की मांग उठने लगी और इनमें से कई गांवों के लोगों ने सीएम से मिलकर यह मांग रखी थी। जिसके बाद पांच गांवों को निगम में शामिल करने को लेकर रिपोर्ट तैयार करने के निर्देश दिए गए और उसपर काम शुरू कर दिया गया था।
गांव बाहर करके ऐसे हुआ था निगम की सीमा का निर्धारण
नगर निगम से मुकीमपुर, दिपालपुर, खेवड़ा, हरसाना, नसीरपुर बांगर को पूरी तरह से बाहर कर दिया गया है। वहीं मुरथल, नांगल खुर्द, कमासपुर, किशोरा, चौहान जोशी, बहालगढ़, असावरपुर, बैंयापुर गांव की आबादी वाला क्षेत्र बाहर किया गया है, लेकिन इनकी खेती व अन्य कुछ जमीन नगर निगम में रखी गई थी। इनके अलावा बढख़ालसा, ककरोई, महलाना, भिगान, हसनपुर, इब्राहिमपुर कुराड की बिना आबादी वाली कुछ जमीन को नगर निगम में शामिल किया गया।
रोहतक के लघु सचिवालय में हुई मीटिंग
नगर निगम से जिन 13 गांवों को बाहर किया गया था, उनमें से मुरथल, बहालगढ़, कमासपुर, नांगल खुर्द, किशोरा गांव को दोबारा निगम में शामिल करने की रिपोर्ट तैयार की गई है। डीसी श्यामलाल पूनिया व नगर निगम कमिश्नर जगदीश शर्मा की कमेटी ने इस रिपोर्ट को तैयार कराया है, जिसमें पांचों गांव को निगम में शामिल होने के मानक पूरे करने की बात कही गई है। इसके साथ ही रोहतक के लघु सचिवालय में बुधवार को इसको लेकर मंडल कमिश्नर डी. सुरेश की अध्यक्षता में बैठक हुई। उसमें डीसी श्यामलाल पूनिया व निगम कमिश्नर जगदीश शर्मा भी शामिल हुए। जहां इन गांवों को लेकर तैयार की गई पूरी रिपोर्ट कमिश्नर को सौंपी गई तो गांव को निगम में शामिल करने को लेकर आए पक्ष-विपक्ष के तर्क की रिपोर्ट भी सौंपी गई। अब मंडल कमिश्नर की ओर से सरकार को रिपोर्ट भेजी जाएगी और उसके आधार पर गांव को निगम में शामिल करने को लेकर फैसला होगा।
वर्जन
नगर निगम में पांच गांवों मुरथल, बहालगढ़, कमासपुर, नांगल खुर्द, किशोरा को दोबारा से शामिल करने को लेकर रोहतक में बैठक हुई थी। जहां पूरी रिपोर्ट मंडल कमिश्नर को सौंपी गई है और अब उनकी रिपोर्ट सरकार को भेजी जाएगी, जिसपर कोई फैसला लिया जाएगा। श्यामलाल पूनिया, डीसी

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us