बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
INSTALL APP

अलगाववादियों को फंडिंग के आशंका में कुंडली में एनआईए का छापा

Updated Sat, 03 Jun 2017 08:15 PM IST
विज्ञापन

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

ख़बर सुनें

विज्ञापन
अमर उजाला ब्यूरो
सोनीपत।
एनआईए (राष्ट्रीय जांच एजेंसी) की टीम ने कुंडली स्थित प्रभु कृपा कोल्ड स्टोर पर छापामार कार्रवाई की। टीम दिनभर गोदाम में रही और यहां से रिकार्ड जब्त कर ले गई। स्टोर संचालक पाकिस्तान से सूखे मेवे व गर्म मसालों का आयात-निर्यात करता है। टीम ने हवाला के जरिये व्यापारियों को माध्यम बनाकर कश्मीर में अलगाववादियों को फंडिंग किए जाने की आशंका के चलते छापामारी की। स्टोर के संचालकों को भी मौके पर बुलवाया गया और रिकार्ड पर उनके हस्ताक्षर करवाए गए। वहीं, एनआईए की इस कार्रवाई के चलते आसपास के लोगों में हड़कंप मच गया। हर कोई जानकारी लेेने को उत्सुक था। एनआईए की छह सदस्यीय टीम डीएसपी देवेंद्र सिंह के नेतृत्व में पहुंची थी। टीम का सहयोग स्थानीय पुलिस ने किया।
एनआईए को जानकारी मिली थी कि हरियाणा व दिल्ली से हवाला कारोबारियों द्वारा व्यापारियों के माध्यम से कश्मीर में अलगाववादियों को फंडिंग की जाती है। इस आशंका के चलते एनआईए ने योजना तैयार की और कश्मीर के अलावा दिल्ली व हरियाणा के कई ठिकानों पर ताबड़तोड़ छापामारी की। शनिवार को सुबह करीब सात बजे एनआईए की टीम डीएसपी देवेंद्र सिंह के नेतृत्व में कुंडली में पहुंची और स्थानीय पुलिस को साथ लेकर यहां के प्रभु कृपा कोल्ड स्टोर में पहुंची। टीम के पहुंचते ही यहां के स्टाफ में हड़कंप मच गया। टीम ने सबसे पहले यहां के रिकार्ड को खंगालना शुरू किया और ज्यादातर रिकार्ड को अपने कब्जे में ले लिया। इसके बाद स्टोर के संचालक धर्मेश निवासी कोहाट एन्क्लेव, पीतमपुरा, दिल्ली को मौके पर बुलवाया गया और उनसे भी पूछताछ की। पूछताछ के बाद टीम ने स्टोर संचालकों से रिकार्ड पर हस्ताक्षर करवाए और इसे अपने साथ ले जाने के लिए रख लिया। बताया गया कि एनआईए की टीम इस रिकार्ड की जांच दिल्ली में करेगी। स्टोर संचालक धर्मेश पाकिस्तान से सूखे मेवे व गर्म मसाले का आयात करता है और यहां से लाल मिर्च व जीरा पाकिस्तान में भेजता है।

छापामारी सूचना लीक होने से बिगड़ा मामला
सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार एनआईए की छापामारी की सूचना सुबह 10 बजे के करीब ही सोशल मीडिया पर लीक हो गई। बताया जा रहा है कि उस समय तक 5-6 जगहों पर ही छापामारी की जा सकी थी। आशंका जताई जा रही है कि बाद में जिन ठिकानों पर छापामारी की गई वहां के संचालकों को मामले की सूचना पहले ही मिलने के कारण संदिग्ध कागजात इधर-उधर कर दिए गए और रिकार्ड को दुरुस्त करने की कोशिश की गई। मामले की सच्चाई जांच के बाद ही पता चल सकेगी।
फोटो : 30 : सोनीपत के नाथूपुर स्थित कोल्ड स्टोर में एनआईए की छापेमारी के दौरान मौजूद पुलिस बल।
फोटो : 31 : सोनीपत के नाथूपुर स्थित कोल्ड स्टोर में एनआईए की छापेमारी के दौरान खड़े वाहन।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें हर राज्य और शहर से जुड़ी क्राइम समाचार की
ब्रेकिंग अपडेट।
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us