गणितीय विज्ञान का मनुष्य जीवन में विशेष योगदान : पहाड़िया

Rohtak Updated Thu, 22 Nov 2012 12:00 PM IST
रोहतक। राज्यपाल एवं कुलाधिपति जगन्नाथ पहाड़िया ने कहा कि गणितीय विज्ञान का मनुष्य जीवन में विशेष स्थान और योगदान है। गणितीय विज्ञान के अनुप्रयोग से कंप्यूटर, आईटी (सूचना प्रौद्योगिकी), दूर संचार और विज्ञान क्षेत्र में प्रगति संभव हुई है।
वे बुधवार को महर्षि दयानंद विश्वविद्यालय के गणित विभाग द्वारा आयोजित अंतरराष्ट्रीय संगोष्ठी के उद्घाटन अवसर पर बोल रहे थे। गणितीय विज्ञान का इतिहास एवं विकास विषयक इस चार दिवसीय अंतरराष्ट्रीय संगोष्ठी का आयोजन इंडियन सोसायटी फॉर हिस्ट्री ऑफ मैथेमेटिक्स के सहयोग से किया जा रहा है। राज्यपाल ने कहा कि प्राचीन भारत समृद्ध गणितीय इतिहास की खान रहा है। नालंदा, तक्षशिला विश्वविद्यालयों में गणितीय विज्ञान प्रमुखता से विकसित हुआ। गणित का औद्योगिक क्रांति समेत वैज्ञानिक क्रांति में योगदान है। उन्होंने गणित को वैज्ञानिक विश्लेषण और समस्या निवारण का साधन बताया। कुलाधिपति ने मदवि को अंतरराष्ट्रीय गोष्ठी के आयोजन के लिए बधाई दी। उद्घाटन सत्र में राज्यपाल ने संगोष्ठी स्मारिका पुस्तिका और एब्स्ट्रैक्ट बुक का विमोचन भी किया।
एमडीयू के कुलपति डा. आरपी हुड्डा ने कहा कि भारत ने विश्व को शून्य एवं दशमलव की अवधारणा दी। उन्होंने कंप्यूटेशनल मैथेमेटिक्स की अनुप्रयुक्त विज्ञान, विशेष रूप से अंतरिक्ष विज्ञान में योगदान को उकेरा। कुलपति ने राज्यपाल का इस अंतरराष्ट्रीय संगोष्ठी में शिरकत करने के लिए आभार जताया। इंडियन सोसायटी फॉर हिस्ट्री ऑफ मैथेमेटिक्स के अध्यक्ष प्रो. एसजी दानी (आईआईटी, मुंबई) ने कहा कि इतिहास की जागरूकता व्यक्तिगत स्तर पर और सामाजिक स्तर पर जरूरी है। इस अंतरराष्ट्रीय संगोष्ठी के जरिये समाज और राष्ट्र में गणितीय विज्ञान के बारे में जागरूकता बढे़ंगी, ऐसा उनका मानना था।
संगोष्ठी की संयोजिका तथा गणित विभाग की अध्यक्षा प्रो. रेणु चुघ ने स्वागत भाषण दिया। प्रो. चुघ ने कहा कि वेद शास्त्रों में भी गणित को तरजीह दी गई थी। आयोजन सचिव प्राध्यापक डा. गुलशन तनेजा ने उद्घाटन सत्र का संचालन किया तथा सह आयोजन सचिव डा. रजीव कुमार ने आभार प्रदर्शन किया। प्राध्यापिका डा. दिव्या मल्हान ने प्रारंभिक उद्घोषणा की। उद्घाटन सत्र में दिल्ली विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. दिनेश सिंह, इग्नू के पूर्व कुलपति प्रो. एचपी दीक्षित, नेशनल बोर्ड ऑफ हॉयर मैथेमेटिक्स के अध्यक्ष प्रो. आर बाला सुब्रमण्यम, इंडियन नेशनल साइंस अकादमी के वरिष्ठ वैज्ञानिक प्रो. आईबी एस पासी, आईएसएचएम के प्रशासनिक सचिव प्रो. एसएल सिंह, विधायक संपत सिंह बतौर विशिष्ट अतिथि मौजूद रहे। चार दिवसीय अंतरराष्ट्रीय संगोष्ठी में 15 विदेशी राष्ट्रों के प्रतिष्ठित विद्वानों समेत पूरे भारत से लगभग 400 डेलीगेटस हिस्सा ले रहे हैं। प्रसिद्ध गणितज्ञ श्रीनिवास रामानुजन की 125वीं जन्म शताब्दी वर्ष के उपलक्ष्य में आयोजित की जा रही इस संगोष्ठी में गणितीय विज्ञान के विभिन्न पहलुओं पर गहन मंथन होगा।

Spotlight

Most Read

Varanasi

मतदाता पुनरीक्षण में लापरवाही, चार अफसरों को नोटिस

मतदाता पुनरीक्षण में लापरवाही, चार अफसरों को नोटिस

19 जनवरी 2018

Related Videos

VIDEO: हरियाणा में प्यार करने की सजा देख रूह कांप उठेगी

हरियाणा के मेवात से एक वीडियो सामने आया है जिसमें एक युवक को भरी पंचायत में जूतों से पीटा जा रहा है। युवक का जुर्म दूसरे गांव की लड़की से प्यार करना बताया जा रहा है। पंचायत ने युवक पर 80 हजार रुपये का दंड और पांच जूतों का फरमान सुना था।

18 जनवरी 2018

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper