स्कूल में छात्र की मौत की निष्पक्ष जांच की मांग

Rohtak Updated Tue, 25 Sep 2012 12:00 PM IST
नारनौल। महेन्द्रगढ़ के निकट खातोद में आरपीएस स्कूल के दस जमा एक के छात्र प्रदुन कुमार की 9 सितंबर को संदिग्ध परिस्थितियों में मौत को लेकर परिजनों ने महेन्द्रगढ़ पुलिस और स्कूल प्रबंधक के बीच मिलीभगत का आरोप लगाते हुए पुलिस अधीक्षकसे उच्च स्तरीय जांच की मांग की है। एसपी अभिषेकगर्ग ने पीड़ित पक्ष की बात सुनने के बाद उन्हें इस मामले में उचित कार्रवाई का आश्वासन देते हुए मृत छात्र का विसरा जांच के लिए मधुबन भेजने की जानकारी दी।
मृत छात्र के पिता महेन्द्र सिंह ने बताया कि वे सेना से रिटायर्ड हैं और इस समय दिल्ली के पालम इलाके की एक निजी कंपनी में नौकरी कर रहे हैं। उन्होंने बताया कि 9 सितंबर की रात करीब ढाई बजे उनके पास आरपीएस स्कूल महेन्द्रगढ़ के वार्डन शेर सिंह और प्रबंधक मनीष कुमार का फोन आया कि उनके पुत्र प्रदुन की हालत खराब है और वे महेन्द्रगढ़ के चन्द्रावती अस्पताल पहुंचे। महेंद्र सिंह ने बताया कि वे अपने भाई रघुवीर और अन्य परिजनों के साथ चन्द्रावती अस्पताल पहुंचे, जहां डाक्टरों ने उन्हें प्रदुन की मृत्यु की जानकारी दी। इसके बाद वे सामान्य अस्पताल महेन्द्रगढ़ पहुंचे जहां प्रदुन के शव को स्ट्रेचर पर रखा हुआ था। महेन्द्र सिंह ने बताया कि वे सुबह करीब सात बजे अस्पताल पहुंचे थे, तब एडवोकेट ओमप्रकाश व मनीष कुमार, छात्रावास के वार्डन शेर सिंह और कुछ छात्र मौजूद थे। इन लोगों ने महेंद्र के भाई को प्रदुन का पोस्टमार्टम न कराने और जल्दी से गांव ले जाकर अंतिम संस्कार करने के लिए दबाव बनाया। उन्होंने कहा कि अस्पताल में उपस्थित विद्यालय प्रबंधकों ने प्रदुन की मौत के बारे में कोई संतोषजनक जवाब नहीं दिया।
महेन्द्र ने कहा कि एसआई रणसिंह और एएसआई रघुवीर सिंह ने हॉस्टल के तीन वार्डनों और छात्रों से पूछताछ की तो सभी के बयान मेल नहीं खा रहे थे। वार्डनों का कहना था कि उस वक्त बिजली नहीं होने के कारण अंधेरा था और उन्होंने छुड़ाओ-छुड़ाओ की आवाजें सुनी थी। वहीं, छात्रों ने बताया कि प्रदुन बाथरूम में बेहोश मिला था और उसने उल्टियां की हुई थी। उन्हें बाद में धुलवा दिया गया। महेंद्र ने आरोप लगाया कि प्रदुन के साथ कोई अप्रिय घटना हुई थी, जिसे छुपाया जा रहा है। उन्होंने पुलिस अधीक्षक अभिषेक गर्ग को बताया कि घटना के बाद वहां के एसएचओ का तबादला कर दिया गया है और अब तक मुकद्दमा दर्ज की कापी भी नहीं दी गई है। बच्चे की पोस्टमार्टम रिपोर्ट भी उन्हें नहीं दी जा रही और मधुबन भेजी जाने वाली विसरा रिपोर्ट को 15 दिन गुजरने के बावजूद भेजा नहीं गया है। उन्होंने पुलिस अधीक्षक से मांग की कि बच्चे की मौत के जिम्मेवार स्कूल प्रशासन और हॉस्टल वार्डनों के खिलाफ मुकद्दमा दर्ज किया जाए।
पुलिस अधीक्षक अभिषेक गर्ग ने ग्रामीणों को उचित कार्रवाई का आश्वासन दिया और जांच के लिए विसरा आज ही मधुबन भेजे जाने की बात कही। इस मौके पर सरपंच ताराचंद, सूबेदार मेजर ओमप्रकाश सिंह, नंबरदार गुरदयाल, सरपंच बिजेन्द्र सिंह, दीवान सिंह बॉबी, रणधीर सिंह, दौलतराम, रोहतास सिंह, भवानी सिंह, जेपी सिंह, रघुवीर सिंह, उमेद सिंह, सत्यवीर सिंह भी मौजूद थे।
उधर स्कूल प्रबंधकओपी यादव ने कहा कि मृत छात्र के अभिभावकों द्वारा लगाए गए आरोप निराधार हैं। छात्र प्रदुन कुमार की मौत का उन्हें दुख है। वे अभिभावकों की निष्पक्ष जांच की मांग का समर्थन करते हैं और जांच में हर संभव सहयोग करने को तैयार हैं। वे इस मामले में जांचके दौरान दोषी पाए जाने वाले लोगोंके खिलाफकानूनी कार्रवाई करानेके पक्षधर हैं।

Spotlight

Most Read

Lucknow

यूपी में नौकरियों का रास्ता खुला, अधीनस्‍थ सेवा चयन आयोग का हुआ गठन

सीएम योगी की मंजूरी के बाद सोमवार को मुख्यसचिव राजीव कुमार ने अधीनस्‍थ सेवा चयन बोर्ड का गठन कर दिया।

22 जनवरी 2018

Related Videos

अब इस हरियाणवी गायिका की हत्या, पुलिस पर लगे गंभीर आरोप

हरियाणा के रोहतक जिले में एक खेत से महिला की लाश बरामद होने से सनसनी फैल गई। महिला की पहचान हरियाणवी गायिका ममता शर्मा के रूप में हुई। इस संबंध में ममता शर्मा के बेटे ने पुलिस को शिकायत भी दर्ज कराई थी।

19 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper