बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
INSTALL APP

ओपीडी पर ताला तो कैसे होगा इलाज

Panipat Updated Mon, 11 Feb 2013 05:32 AM IST
विज्ञापन

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

ख़बर सुनें
पानीपत। गलघोंटू के बाद अब लोग स्वाइन फ्लू की चपेट में आने शुरू हो गए हैं। जिले के गांव बिंझौल में एक बच्चे की स्वाइन फ्लू से पुष्टि होने और उसी बच्चे के परिवार में एक महिला के संदिग्ध मिलने पर इसके खतरे बढ़ गए हैं, लेकिन स्वास्थ्य विभाग इसको लेकर गंभीर नहीं है। चिकित्सक सामान्य अस्पताल में स्वाइन फ्लू को लेकर व्यापक प्रबंध करने का दावा तो कर रहे हैं, लेकिन सिविल अस्पताल मेें स्वाइन फ्लू की ओपीडी पर लटका ताला दावों की पोल खोल रहा है। ऐसे में मरीज कहां पर जाएं और क्या करें उनको कोई रास्ता नहीं दिखाई दे रहा है।
विज्ञापन

सीएमओ साहब इधर दो ध्यान
स्वास्थ्य अधिकारियों ने सिविल अस्पताल की आयुष विंग में ओपीडी निर्धारित की है। अमर उजाला की टीम रविवार को सिविल अस्पताल में स्वाइन फ्लू को लेकर अधिकारियों के प्रबंधों को जांचने पहुंची तो टीम वहां का हाल देखकर हैरत में पड़ गई। आयुष विंग के मुख्य गेट का ताला बंद था और वहां पर कोई चिकित्सक तो दूर कोई स्वास्थ्य कर्मी भी नहीं मिला। स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों का भी इस तरफ कोई ध्यान नहीं था।

एक महिला मिली संदिग्ध, भेजे सैंपल
शहर से सटे गांव बिंझौल मेंएक आठ वर्षीय बच्चे के स्वाइन फ्लू की पुष्टि होने के बाद उसी परिवार की एक महिला स्वाइन फ्लू की संदिग्ध मिली है। बिंझौल निवासी कमलेश पत्नी जगदीश की गंभीरावस्था में सिविल अस्पताल में भरती कराया। सिविल अस्पताल में महिला का सैंपल लेकर जांच को भेज दिया गया और उसको वापस घर पर भेज दिया। स्वास्थ्य कर्मी वहीं उसकी देखभाल करेगा।
अब तक मिले दो दो पॉजिटिव केस
जिले में अब तक स्वाइन फ्लू से दो पॉजिटिव मामले सामने आए हैं। इसके अलावा पांच लोगों के सैंपल जांच को भेजे हैं। इनमें से दो की रिपोर्ट निगेटिव व एक रिपोर्ट पॉजिटिव मिली है। बिंझौल के आयुष की छह फरवरी को जांच की गई थी। इससे पहले आठ मरला के क्रांति नगर निवासी एक महिला को इसके लक्षण मिले थे।
डिप्थीरिया में गवां चुके हैं आधा दर्जन जान
शहर की अशोक विहार समेत दो कालोनियों में पिछले दिनों डिप्थीरिया (गलघोंटू) ब्रेकअप हो गया था। यहां पर इस बीमारी से आधा दर्जन बच्चों की मौत हो गई थी और कई दर्जन बच्चे संदिग्ध मिले थे। डिप्थीरिया ब्रेकअप होने के बाद जिला स्वास्थ्य अधिकारी भी सहम गए थे।
सीएमओ को लगाई थी फटकार
एनएचआरएम की हल्ला बोल टीम के सर्वे व कमियों को सामने लाने पर एनएचआरएम के निदेशक राकेश गुप्ता ने सीएमओ को कड़ी फटकार लगाई थी। चिकित्सकों को सामने खड़े कर उनकी कमियों को गिनवाया था। उस मीटिंग में सीएमओ व चिकित्सकों ने अपनी कमी स्वीकारी थी और स्वास्थ्य सेवाओं के पुख्ता प्रबंध करने का दावा किया था। स्वास्थ्य अधिकारी डिप्थीरिया के ब्रेकअप होने व अधिकारियों की कड़ी फटकार के बाद भी नहीं संभल पा रहे हैं।
स्वाइन फ्लू के लक्षण
- स्वाइन फ्लू में व्यक्ति को बुखार, खांसी, जुकाम, गले में सूजन, सिर व मांसपेशियों में दर्द होता है।
- थकान, उल्टी आना, नाखून नीले पड़ जाते हैं। ।
- व्यक्ति के सीने में दर्द व सांस लेने में कठिनाई आनी शुरू हो जाती है।
ऐसे फैलता है स्वाइन फ्लू
यह एक वायरल बीमारी है। संक्रमित व्यक्ति के छींकने, खांसने, थूकने व ऐसे व्यक्ति से हाथ मिलाने पर बढ़ जाता है। यह संक्रमित व्यक्ति के घर के टेलीफोन, डोर हैंडलस, फर्नीचर के छूने से भी लग जाता है।
ये रखें ध्यान
- व्यक्ति भीड़भाड़ वाले इलाके में खुले मुंह न जाएं। वे मास्क का प्रयोग करें।
- स्वाइन फ्लू के संक्रमित व्यक्तिसे दूर रहें।
- व्यक्ति छींकते व खांसते समय मुंह व नाक पर रुमाल रखें।
- साबुन से बार-बार हाथ धोएं।
- व्यक्ति प्रोटीनयुक्त भोजन करें।
- व्यक्ति अनावश्यक हाथ मिलाने से दूर रहें।
(डा. प्रीति, माइक्रोबायोलॉजिस्ट सिविल अस्पताल पानीपत)
लक्षण लगें तो यहां जाएं
अगर आपको स्वाइन फ्लू के कोई लक्षण नजर आते हैं तो तुरंत चिकित्सक से संपर्क साधे। सिविल अस्पताल की तीसरी मंजिल आइसोलेशन वार्ड बना दिया गया है। आयुष विभाग में अलग से ओपीडी बनाई गई है। यहां पर चिकित्सक हर रोज अपना चेकअप करा सकेंगे।
कोट
स्वास्थ्य विभाग स्वाइन फ्लू को लेकर गंभीर है। अस्पताल में आइसोलेशन वार्ड बना दिया गया है। मरीजों का सैंपल लेकर जांच को भेजते हैं। दो दिन में मरीज के सैंपल की रिपोर्ट आ जाती है। लोगों को इस तरह के लक्षण दिखाई देते ही तुरंत इलाज कराना चाहिए। अगर ओपीडी का ताला बंद है तो गंभीर विषय है। इस मामले की जांच की जाएगी।
डा. भूपेश चौधरी, एमएस सिविल अस्पताल पानीपत

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us