थमा नहीं तेल का खेल, पुलिस ‘फेल’

Panipat Updated Mon, 03 Dec 2012 05:30 AM IST
पानीपत। पानीपत रिफाइनरी और उसके आसपास डीजल और पेट्रोल की चोरी का एक बार फिर खुलासा हुआ है। तेल चोरी के काले कारोबार में माफिया और वर्दीधारियों की भूमिका को लेकर पुलिस पूरा दिन मामले की तस्वीर साफ करने से बचती रही। कई पुलिस अधिकारी समेत खुद पुलिस प्रवक्ता भी इस मामले में कुछ भी कहने से बचते रहे।
पानीपत रिफाइनरी के चारों तरफ तेल का काला कारोबार फैला हुआ है। जानकारों की मानें तो इस अवैध धंधे में माफिया व वर्दीधारी संलिप्त हैं। शनिवार शाम को टैंकरों से डीजल और पेट्रोल चोरी पकड़े जाने पर यह मामला गरमा गया। टैंकर और पाइप लाइन से तेल चोरी की कोई यह पहली घटना नहीं है। लेकिन अधिकारी हैं कि इस तरह के हादसों के बाद भी कान व आंखें बंद किए बैठे हैं।

पांच के खिलाफ मामला दर्ज, एक गिरफ्तार
थाना सदर पुलिस ने पैप्सी पुल के पास रिफाइनरी रोड से एक बंद ढाबे में टैंकरों से पेट्रोल और डीजल चोरी के मामले में पांच लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया है। इनमें बिजेंद्र निवासी शेखपुरा कालसा, राजीव, विक्की व संजय निवासी उपली, घरौंडा शामिल हैं। पुलिस ने इनमें से एक आरोपी बिजेंद्र को गिरफ्तार कर लिया है और उससे पूछताछ शुरू कर दी है।

बरामद तेल का खुलासा नहीं
थाना सदर पुलिस ने बीती रात को जीटी रोड रिफाइनरी रोड पर पैप्सी पुल के पास एक बंद ढाबे से तेल चोरी के मामले से पर्दा तो उठा दिया, लेकिन तेल की मात्रा का खुलासा नहीं किया। पुलिस ने यमुनानगर निवासी पेट्रोल पंप मालिक रामेश्वर की सूचना पर यहां दबिश दी थी। पुलिस ने मौके से पेट्रोल से भरे दो ड्रम, दो आधे व पेट्रोल, डीजल के दो टैंकर बरामद किए। पुलिस अधिकारियों ने इस पूरे मामले में कहीं पर भी तेल की मात्रा का खुलासा नहीं किया। अधिकारी तेल की मात्रा पूछने पर टलने के प्रयास में लगे रहे।

ऐसे बचते रहे थाना सदर प्रभारी
थाना पुलिस तेल चोरी की पुष्टि को टालने के प्रयास में लगी रही और अधिकारी एक रटा रटाया जवाब देते रहे। अमर उजाला संवाददाता ने थाना सदर प्रभारी नर सिंह को रविवार दोपहर 12:45 बजे मोबाइल से संपर्क साधकर जब तेल चोरी के मामले की जानकारी मांगी तो थाना प्रभारी ने खुद को थाने से बाहर बताया और शाम को पूरी रिपोर्ट देने का आश्वासन दिया। इसके बाद दोपहर बाद 4:28 बजे पुन: उनके सरकारी मोबाइल पर संपर्क साधने पर किसी चौकी इंचार्ज ने फोन उठाया और उन्होंने बताया कि थाना प्रभारी मोबाइल चार्जिंग पर लगाकर बाहर गए हैं। इसके बाद 5:41 बजे फिर फोन करने पर उसी चौकी इंचार्ज ने थाना प्रभारी के वापस न आने का जवाब दिया और वापस आते ही तुरंत संदेश देने का आश्वासन दिया। पुलिस प्रवक्ता नरेंद्र सिंह ने भी तेल की मात्रा पूछे जाने पर खुद को बचाने का प्रयास किया। वे भी थाने से इतनी ही रिपोर्ट मिलने की बात कहकर टल गए।

छापामारी में पुलिस की लापरवाही
पेट्रोल पंप मालिक रामेश्वर ने शनिवार शाम को पुलिस कंट्रोल रूम को फोन कर रिफाइनरी रोड पर तेल चोरी की सूचना दी। उसने यहां पर करीब चार दर्जन लोगों के होने की बात कही। पुलिस अधिकारी सूचना को गंभीरता से लेते तो आरोपी रंगे हाथों पकड़े जा सकते थे और बड़े मामले का खुलासा हो सकता था। बताया जाता है कि कंट्रोल रूम से सूचना पाकर एक जांच अधिकारी कुछ पुलिसकर्मियों को साथ लेकर गाड़ी का सायरन बजाते हुए छापामारी करने पहुंचे। सायरन सुनकर चौकन्ने चोरों ने लाइट से गाड़ी पर नजर रखते रहे। गाड़ी को अपनी तरफ आते देख सभी चोर मौके का फायदा उठाकर भाग निकले।

बच निकलते हैं असल मालिक
तेल और गैस चोरी के काले कारोबार के असल मालिक नामी गिरामी हस्तियां हैं। इनमें कई तो माफिया व वर्दीधारक भी शामिल हैं। पुलिस चोरी की वारदात पकड़ने के बाद टैंकर चालक या अन्य छोटे लोगों काबू कर लेते हैं। असल मालिक पर पुलिस हाथ डालने का प्रयास ही नहीं करती। शनिवार को पूरे मामले में एक बड़े नेता का नाम सामने आता रहा, लेकिन सुबह का सूरज निकलते ही उसी नाम का दूसरा व्यक्ति मामले में पाया गया। चर्चा है कि कोई अधिकारी यह साहस जुटाता है तो उसको दूसरे थानों का मुंह देखना पड़ता है।

अब तक की बड़ी घटनाएं
- तीन जनवरी को रेरकलां गांव के पास टैंकर से चोरी करते 60 किलोग्राम तारकोल बरामद
- 17 फरवरी को हिसार जा रहे टैंकर से ढाई टन तारकोल लादकर ले जाते चालक काबू
- 10 दिसंबर 2011 को चोर 18 हजार तेल से भरा टैंकर चोरी कर ले गए। टैंकर नजफगढ़ से बरामद
- 31 अक्तूबर को गांजबड़ गांव के पास पाइप लाइन से एयर फ्यूल चोरी का भंडाफोड़। वहां से चार हजार लीटर एयर फ्यूल बरामद
- नौ अगस्त को खोतपुरा से चोरी का 23 मीट्रिक तारकोल बरामद
- 16 जुलाई को रिफाइनरी रोड से डीजल से भरा टैंकर बरामद
- चार जुलाई को थर्मल के पास टैंकर से डीजल चोरी करते तीन काबू

वर्जन
पुलिस रिफाइनरी के आसपास तेल चोरी की वारदातों को रोकने का लगातार प्रयास कर रही है। शनिवार को सूचना मिलते ही पुलिस ने दबिश दी और टैंकर से तेल चोरी के मामले का खुलासा किया। पुलिस ने इस मामले में एक आरोपी को गिरफ्तार किया है और कई नामजद किए हैं। आरोपियों की धरपकड़ की जा रही है। शनिवार को बरामद तेल की मात्रा की जानकारी थाने से मिली नहीं है।
- नरेंद्र सिंह, प्रवक्ता, पुलिस पानीपत

Spotlight

Most Read

Lakhimpur Kheri

हिंदुस्तान बना नौटंकी, कलाकार है पक्ष-विपक्ष

हिंदुस्तान बना नौटंकी, कलाकार है पक्ष-विपक्ष

22 जनवरी 2018

Related Videos

पानीपत में मेयर के भाई का अपहरण! एक किडनैपर दबोचा गया

पानीपत में मेयर सुरेश वर्मा के छोटे भाई नरेश को अगवा कर लिया गया। किडनैपर्स ने नरेश को यूपी में ले जाने की कोशिश की पर नाकेबंदी की वजह से नरेश को बबैल रोड पर ही छोड़कर भाग निकले।

10 दिसंबर 2017

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper