बिजली चोरों पर कसेगा नकेल निगम

Panipat Updated Mon, 12 Nov 2012 12:00 PM IST
पानीपत। बिजली निगम ने बिल न भरने वाले डिफाल्टर उपभोक्ताओं और बिजली चोरों पर नकेल कसने के लिए रणनीति तैयार की है। बिजली निगम के एमडी ने भी इसके लिए आदेश जारी कर दिए हैं। कार्यकारी अभियंता के दिशा निर्देशन में 15 टीमों का भी गठन किया गया है। टीम सदस्यों को सख्त आदेश दिए गए हैं कि वे कार्य में किसी भी प्रकार की कोताही न बरतें।
यह होंगे टीम सदस्य
गठित की गई 15 टीमों में एसडीओ, जेई, लाइनमैन व सहायक लाइन मैन को शामिल किया गया है। अभियान के चलते बिल जमा न कराने वाले उपभोक्ताओं की सूची तैयार की जाएगी। क्षेत्र के अनुसार अभियान चलाया जाएगा। इस अभियान के अंतर्गत हर रोज 50-50 कनेक्शन काटे जाएंगे।
कनेक्शन बचाना है तो भरें बिल
जो भी उपभोक्ता अपना बिजली का कनेक्शन बचाना चाहते हैं, उनके पास बिजली का बिल भरने के अलावा कोई दूसरा रास्ता नहीं है। कार्यकारी अभियंता ने उपभोक्ताओं का आह्वान किया है कि जो लंबे समय से बिल नहीं भर रहे हैं, वे इस बार बिल भर दें। जिन उपभोक्ताओं के बिल में किसी भी प्रकार की समस्या है तो इसके लिए अपने क्षेत्र के सब डिवीजनल आफिसर से मिलकर तुरंत प्रभाव से उपभोक्ता के बिल में आई त्रुटि को ठीक करेगा। अगर कोई भी एसडीओ किसी कारणवश बिल की त्रुटि को ठीक करने में असमर्थता जताता है, तो संबंधित उपभोक्ता सीधे कार्यकारी अभियंता सिटी डिवीजन से दफ्तर आकर अपनी समस्या बतला सकता है। समस्या जायज पाने पर उचित कार्रवाई हर हालत में की जाएगी।

खुले दरबार का भी सहारा
सिटी डिवीजन के कार्यकारी अभियंता की अध्यक्षता में खुले दरबार लगाए जा रहे हैं। हाल ही में फतेहपुरी चौक पर लगाए गए खुले दरबार में 50 शिकायतों का मौके पर ही समाधान किया। इसके बाद 16 नवंबर को जाटल रोड व 27 नवंबर को गीता मंदिर रेलवे रोड पर उपभोक्ताओं की समस्या को सुलझाने के लिए खुला दरबार लगाया जाएगा।

वर्जन
बिजली निगम के एमडी ने सख्त आदेश दिए हैं कि जो उपभोक्ता बिल नहीं भर रहे हैं, उनको बिल भरने के लिए प्रेरित किया जाए। इसके बाद भी कोई उपभोक्ता बिल भरने में लापरवाही दिखाता है तो तुरंत उसका कनेक्शन काट दें। जो भी उपभोक्ता बिल नहीं भर रहे हैं, उनके साथ सख्ती बरतना निगम की मजबूरी बन गई है। कनेक्शन काटने के लिए 15 टीमों को गठन किया गया है। यदि उपभोक्ता को कोई शिकायत है तो वे एसडीओ से मिल सकते हैं, फिर भी समाधान नहीं होता है तो उपभोक्ता सीधे कार्यालय में आ सकता है।
- एसएस मलिक, कार्यकारी अभियंता, बिजली निगम सिटी डिवीजन

Spotlight

Most Read

Chandigarh

RLA चंडीगढ़ में फिर गलने लगी दलालों की दाल, ऐसे फांस रहे शिकार

रजिस्टरिंग एंड लाइसेंसिंग अथॉरिटी (आरएलए) सेक्टर-17 में एक बार फिर दलाल सक्रिय हो गए हैं, जो तरह-तरह के तरीकों से शिकार को फांस रहे हैं।

21 जनवरी 2018

Related Videos

पानीपत में मेयर के भाई का अपहरण! एक किडनैपर दबोचा गया

पानीपत में मेयर सुरेश वर्मा के छोटे भाई नरेश को अगवा कर लिया गया। किडनैपर्स ने नरेश को यूपी में ले जाने की कोशिश की पर नाकेबंदी की वजह से नरेश को बबैल रोड पर ही छोड़कर भाग निकले।

10 दिसंबर 2017

आज का मुद्दा
View more polls
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper