खुद बीमार समालखा सीएचसी

Panipat Updated Mon, 15 Oct 2012 12:00 PM IST
समालखा। प्रदेश सरकार द्वारा सरकारी अस्पतालों में दवाओं सहित सभी सुविधाएं देने के दावे किए जाते हैं, लेकिन उपचार करवाने आने वाले लोगों को कई बार तो अपनी जेब से खर्च कर सूई, धागा सहित दस्ताने और दवाएं भी बाहर से लानी पड़ती हैं। शनिवार रात को सड़क हादसे में घायल हुए एक व्यक्ति के उपचार के लिए सामान बाहर से खरीदने पर उसके परिचितों में रोष था।
गढ़ी छाज्जू के पूर्व सरपंच सुल्तान सहित ग्रामीण सुभाष और सतपाल ने बताया कि रात को खेत से घर लौटते समय गांव के ही अशोक को एक मोटरसाइकिल सवार ने टक्कर मारकर घायल कर दिया था। घायल को समालखा के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र लाया गया लेकिन अस्पताल में घायल के जख्म को टांका लगाने के लिए न तो सूई धागा और न ही दस्ताने थे। मेडिकल स्टोर से उक्त सामान खरीदकर लाने के बाद ही पीड़ित का उपचार हो सका।

वर्जन
अभी तक ऐसी शिकायत नहीं आई। इस बारे में एसएमओ से बातचीत की जाएगी। अगर सामान की कमी है तो उसे पूरा कराया जाएगा। भविष्य में ऐसी परेशानी नहीं आने दी जाएगी।
डा. एसके गुप्ता सीएमओ पानीपत

Spotlight

Most Read

Delhi NCR

दिल्ली-एनसीआर में दोपहर में हुआ अंधेरा, हल्की बार‌िश से गिरा पारा

पहले धुंध, उसके बाद उमस भरे मौसम और फिर हुई हल्की बारिश ने दिल्ली में हो रहे गणतंत्र दिवस के फुल ड्रेस रिहर्सल में विलेन की भूमिका निभाई।

23 जनवरी 2018

Related Videos

पानीपत में मेयर के भाई का अपहरण! एक किडनैपर दबोचा गया

पानीपत में मेयर सुरेश वर्मा के छोटे भाई नरेश को अगवा कर लिया गया। किडनैपर्स ने नरेश को यूपी में ले जाने की कोशिश की पर नाकेबंदी की वजह से नरेश को बबैल रोड पर ही छोड़कर भाग निकले।

10 दिसंबर 2017

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper