बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
INSTALL APP

आंदोलनरत किसानों को डराने के लिए माफिया ने वायरल की हथियारों की वीडियो

Panchkula Bureau पंचकुला ब्‍यूरो
Updated Wed, 30 Sep 2020 01:27 AM IST
विज्ञापन

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

ख़बर सुनें
पंचकूला/बरवाला। गांव रत्तेवाली में खनन को बंद करवाने की मांग को लेकर चार दिन से सड़क पर बैठे ग्रामीणों को समझाने के लिए मंगलवार को कांग्रेस और भाजपा के कई नेता मौके पर पहुंचे, लेकिन किसी भी नेता को सफलता नहीं मिली। ऐसे में नेताओं को धरनास्थल से बैरंग होना पड़ा। हालांकि नेताओं ने ग्रामीणों की मांग को जायज ठहराकर अपना समर्थन दिया है। नेताओं ने कहा कि वह उनके साथ कदम से कदम मिलाकर चलेंगे और जरूरत पड़ी तो हाईवे भी जाम करेंगे। वहीं, धरने पर बैठे ग्रामीणों को डराने के लिए माफिया ने व्हाट्सएप स्टेटस पर हथियारों की वीडियो डाली है, जोकि खूब वायरल हो रही है। इस संबंध में भी ग्रामीणों ने शिकायत करनी की तैयारी शुरू कर दी है।
विज्ञापन

पूर्व उपमुख्यमंत्री ने ग्रामीणों को दिया समर्थन
प्रदेश के पूर्व उपमुख्यमंत्री चंद्रमोहन ने धरनास्थल पर पहुंच ग्रामीणों की बात सुनी और अपना समर्थन देने का ऐलान किया। उन्होंने कहा कि ग्रामीणों की समस्या जायज है, लेकिन सरकार और प्रशासन समस्या को गंभीरता क्यों नहीं है। उन्होंने ग्रामीणों से कहा कि वह इस मामले को लेकर जल्द प्रदेश के मुख्यमंत्री मनोहर लाल से मुलाकात करेंगे। चंद्रमोहन ने ग्रामीणों से कहा कि इसके बाद भी सरकार ने सुनवाई नहीं की तो नेशनल हाईवे-73 को जाम किया जाएगा। इसे दौरान वाली समस्या के लिए प्रशासन और सरकार जिम्मेदार होगी।

पूर्व पार्षद सलीम दबकौरी भी धरनास्थल पर पहुंचे
उधर, पूर्व पार्षद सलीम दबकौरी भी मंगलवार को धरनास्थल पर पहुंचे और समर्थन दिया। उन्होंने कहा कि पंचकूला जिले में खनन का कारोबार धड़ल्ले से चल रहा है, जिसके चलते ग्रामीणों को कई तरह की परेशानी का सामना करना पड़ता है। एक तो वह मशीनों की आवाज से सारी रात सो नहीं पाते हैं और दूसरी ओर ओवरलोड टिप्परों से सड़कें भी जर्जर होती है। इतना ही नहीं सड़क पर रेत और बजरी के गिरने से हादसे का भी वाहन चालकों को भय सताता है। उन्होंने कहा कि वह उनके साथ हैं। जिस समय भी उनकी जरूरत पड़ेगी वह खड़े मिलेंगे।
मांग पूरी होने तक जारी रहेगा धरना
कांग्रेस के पूर्व चेयरमैन भूला सिंह रत्तेवाली, पूर्व सरपंच सरवन सिंह, स्वर्ण सिंह, राम सिंह, जसवीर सिंह, महेंद्र सिंह ने कहा कि जब तक सरकार व प्रशासन की ओर से उनकी इस समस्या का हल नहीं किया जाता तब तक उनका धरना जारी रहेगा। यदि सरकार व प्रशासन ने इस बारे में जल्द कोई ठोस कदम नहीं उठाया तो वह राष्ट्रीय राजमार्ग-73 पर जाम लगाने से भी पीछे नहीं हटेंगे। उधर, गांव रत्तेवाली तथा आसपास के ग्रामीणों में समस्या का हल न किए जाने से काफी रोष है।
व्हाट्सएप स्टेट पर डाली हथियारों की वीडियो
उधर, ग्रामीणों को डराने के लिए खनन माफिया ने हथियारों की एक वीडियो व्हाट्सएप स्टेट पर डाली है, जो खूब वायरल हो रही है। वीडियो में कई तरह के हथियार दिखाई दे रहे हैं। गाड़ी में कुछ युवक सवार हैं। ये लोग हाथों में गंडासा पकड़कर लहरा रहे हैं। इसके अलावा वीडियो में एक साथ कई पिस्टल रखी दिखाई दे रही हैं। इनमें कुछ देसी तो कुछ विदेशी हैं। इस मामले को लेकर भी ग्रामीणों में काफी रोष है और उन्होंने कार्रवाई के लिए डीसीपी मोहित हांडा से मांग की है।
भाजपा नेताओं ने बनाए रखी दूरी
खनन मामले को लेकर धरने पर बैठे ग्रामीणों से भाजपा नेताओं ने दूरी बनाए रखी। मंगलवार को भी पार्टी का एक भी नेता मौके पर नहीं पहुंचा। जबकि सुनने में आया था कि केंद्रीय मंत्री रतनलाल कटारिया ग्रामीणों से बातचीत करने जाएंगे, लेकिन वह खटौली और श्यामटू से ही लौट आए। उन्होंने यहां किसानों से बातचीत की और तीन विधेयक कानून के बारे में उन्हें विस्तृत जानकारी दी।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us