ज्योति की हत्या की रात पंचकूला में थे चौधरी के साथी

Panchkula Updated Fri, 28 Dec 2012 05:30 AM IST
पंचकूला। ज्योति हत्याकांड में फरार चल रहे हिमाचल के दून से कांग्रेस विधायक राम कुमार चौधरी के साथी गुरमीत, परमजीत और धर्मपाल के मोबाइल की लोकेशन भी 21 अक्तूबर यानी ज्योति की हत्या वाली रात पंचकूला के सेक्टर-21 में मिली है। पुलिस की जांच रिपोर्ट बताती है कि ज्योति की हत्या वाली रात विधायक चौधरी के अलावा ये तीनों भी घटनास्थल पर मौजूद थे। तीनों की मोबाइल लोकेशन 12.45 बजे सेक्टर 21 पंचकूला में पाई गई। इसके अलावा चौधरी सहित चारों आरोपियों की मोबाइल की लोकेशन एक साथ बदलती रही। पुलिस इनकी सरगर्मी से तलाश कर रही है। वीरवार को भी पंचकूला पुलिस इनके कई ठिकानों पर छापेमारी की। सूत्रों के अनुसार राम चौधरी, गुरमीत, परमजीत और धर्मपाल का गहरी दोस्ती है।
ज्योति का भी सिम फेक आईडी से लिया
विधायक राम चौधरी और ज्योति के बीच जिन नंबरों से बातचीत होती थी, वह दोनों सिम फेक आईडी पर लिए गए थे। ज्योति के पास 9915259514, 9501940607 और 9878702293 मोबाइल नंबर थे। इनमें से 9878702293 फेक आईडी से लिया गया था। इसी नंबर पर चौधरी अपने फेक आईडी के नंबर 9816464060 से बातचीत करते थे। ज्योति के फेक आईडी वाला नंबर मनीमाजरा पते का था।
हर महीने ज्योति के खाते में 50 हजार
पंचकूला के सेक्टर 11 स्थित आईसीआईसीआई बैंक में ज्योति का खाता था। ज्योति के अकाउंट नंबर 004301535745 में हर माह करीब 50 हजार रुपये बद्दी से जमा होते थे। सारा रुपया कैश जमा होता था। पुलिस ने मुंबई स्थित बैंक के दफ्तर से बाउचर मंगवाए हैं। इससे यह पता चला सकेगा कि बद्दी से रुपये जमा कौन जमा करवाता था।
विधायक ने पासपोर्ट रिन्युअल नहीं कराया
विधायक राम कुमार चौधरी ने अपना पासपोर्ट रिन्युअल नहीं कराया है। परमजीत के पास भी पासपोर्ट नहीं है। इनके खिलाफ पंचकूला पुलिस लुकआउट नोटिस जारी करने जा रही थी, लेकिन पासपोर्ट की डिटेल निकलवाई गई तो पता चला कि दोनों ने पासपोर्ट रिन्युअल नहीं कराया था, जबकि पुलिस गुरमीत और धर्मपाल के खिलाफ लुकआउट नोटिस जारी कर चुकी है।

विधायक की तलाश में बद्दी में दबिश
बददी (सोलन)। दून के नवनिर्वाचित विधायक रामकुमार चौधरी की ज्योति हत्याकांड में पंचकूला पुलिस सरगर्मी से तलाश कर रही है। वीरवार को पंचकूला पुलिस के एसपी व डीएसपी की एक टीम ने बद्दी में कई जगह अचानक दबिश दीं। बद्दी की भी एक टीम ने पंचकूला पुलिस की इसमें मदद की, लेकिन रामकुमार का कहीं कोई पता नहीं चल सका। लगातार पुलिस की दबिशों व रामकुमार की लुका छिपी में पंचकूला पुलिस भी हैरान है।
इनसेट
क्या होगी रामकुमार की रणनीति
पंचकूला सेशन कोर्ट से रामकुमार चौधरी की अग्रिम जमानत याचिका खारिज होने के बाद क्या अब रामकुमार हाईकोर्ट में अग्रिम जमानत के लिए आवेदन करेंगे या फिर पुलिस में आत्मसमर्पण करेंगे, इस बारे में तरह-तरह के कयास लगाए जा रहे हैं। उधर, मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह के साथ उनके 36 के आंकड़े से भी लोग वाकिफ हैं। क्या रामकुमार धर्मशाला में होने वाले शीतकालीन सत्र में पहुंचकर विधायक पद की शपथ ग्रहण कर सकेंगे, इस बारे में तरह तरह की अटकलें लगाई जा रही हैं। जिला कांग्रेस अध्यक्ष राहुल ठाकुर का कहना है कि रामकुमार को पहले ही पुलिस के समक्ष आत्मसमर्पण कर देना चाहिए था।

स्थानीय पुलिस ने किया सहयोग : एसपी
पुलिस अधीक्षक एस अरूल कुमार ने पंचकूला पुलिस के एसपी व डीएसपी की टीम आने की पुष्टि की और कहा कि पंचकूला पुलिस को स्थानीय पुलिस की टीम भी मदद कर रही है। उन्होंने कहा कि अभी तक रामकुमार के पकड़े जाने की कोई सूचना नहीं है।

Spotlight

Most Read

National

सियासी दल सहमत तो निर्वाचन आयोग ‘एक देश एक चुनाव’ के लिए तैयार

मध्य प्रदेश काडर के आईएएस अधिकारी और झांसी जिले के मूल निवासी ओपी रावत ने मंगलवार को मुख्य चुनाव आयुक्त का कार्यभार संभाल लिया।

24 जनवरी 2018

Related Videos

VIDEO: हरियाणा में प्यार करने की सजा देख रूह कांप उठेगी

हरियाणा के मेवात से एक वीडियो सामने आया है जिसमें एक युवक को भरी पंचायत में जूतों से पीटा जा रहा है। युवक का जुर्म दूसरे गांव की लड़की से प्यार करना बताया जा रहा है। पंचायत ने युवक पर 80 हजार रुपये का दंड और पांच जूतों का फरमान सुना था।

18 जनवरी 2018

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper