पिक फीवर की चपेट में शहर के डॉगी

Panchkula Updated Tue, 16 Oct 2012 12:00 PM IST
पंचकूला। ट्राइसिटी के डॉगी तेज बुखार से पिक फीवर की चपेट में हैं। एक महीने के अंदर करीब 200 डॉगी पंचकूला के पेट एनिमल मेडिकल सेंटर में इलाज के लिए आए हैं। चिकित्सकों के अनुसार पिक फीवर का पैरासाइट डेंगू की तरह ही खतरनाक होता है, अगर समय रहते डॉगी की देखभाल नहीं की गई तो उसकी जान को खतरा हो सकता है।
डॉगियों में सर्दी, खांसी, जुखाम, तेज बुखार, दर्द के लक्षण पाए जाने पर उनमें पिक फीवर की संभावना होती है, लेकिन इसकी पुष्टि टेस्ट के बाद ही की जा सकती है। सेक्टर-3 स्थित पेट एनिमल मेडिकल सेंटर में पिछले एक महीने में पिक फीवर से ग्रसित करीब 200 डॉगियों का इलाज हुआ है। बताया जा रहा है कि एक दिन में 6 से 8 डॉगी सेंटर में आ रहे हैं।
ऐसे फैलता है पिक फीवर
सेंटर के इंचार्ज डा. एमआर सिंगला ने बताया कि डॉगियों में आम तौर पर चिचड़ियां (शरीर में कीडे़) हो जाती हैं। इन चिचड़ियों में ब्लड प्रोटोजोआ नामक एक खतरनाक पैरासाइट होता है, जो इंफैक्टेड डॉगी के शरीर से स्वस्थ डॉगी के शरीर में चिचड़ियों की सहायता से आसानी से पहुंच जाता है। शुरूआत में डॉगी खाना पीना छोड़ देता है और धीरे-धीरे करके कमजोर होना शुरू हो जाता है।
ऐसे होता है इलाज
पिक फीवर की चपेट में आए डॉगी के खून की जांच की जाती है। रिपोर्ट पाजीटिव आने पर दवाइयों और इंजेक्शन से उसका इलाज किया जाता है। पिक फीवर को ठीक होने में कम से कम चार दिन का समय लगता है।
बीमारी के लक्षण
- डॉगी खाना पीना छोड़ देता है
- शरीर में खून की कमी
- शरीर में तेज बुखार
- गंभीर हालत में पिछली टांगों में पैरालाइसिस होना
- बार-बार हांफना
चिचड़ी रोकने के लिए क्या करें
डाक्टरों के अनुसार चिचड़ियां रोकने के लिए डॉगी को टिक बाथ कराने के साथ ही एंटी टिक स्प्रे का छिड़काव और उसके गले में टिक कॉलर लगाना चाहिए और बीमारी की चपेट में आए दूसरे डॉगियों से दूर रखना चाहिए।

Spotlight

Most Read

Bihar

चारा घोटाला: लालू और जगन्नाथ मिश्रा को 5 साल की सजा, कोर्ट ने 5 लाख का लगाया जुर्माना

पूर्व रेल मंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के खिलाफ सीबीआई की विशेष अदालत ने बड़ा फैसला सुनाया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

VIDEO: हरियाणा में प्यार करने की सजा देख रूह कांप उठेगी

हरियाणा के मेवात से एक वीडियो सामने आया है जिसमें एक युवक को भरी पंचायत में जूतों से पीटा जा रहा है। युवक का जुर्म दूसरे गांव की लड़की से प्यार करना बताया जा रहा है। पंचायत ने युवक पर 80 हजार रुपये का दंड और पांच जूतों का फरमान सुना था।

18 जनवरी 2018