प्रभावित परिवारों के लिए प्रशासन ने पहुंचाया खाना

Panchkula Updated Tue, 18 Sep 2012 12:00 PM IST
पंचकूला। चंडीकोटला में प्रभावित मकानों के परिवारों के लिए प्रशासन ने आखिरकार भोजन की व्यवस्था करने का फैसला ले लिया है। सोमवार को माता मनसा देवी में लगने वाले भंडारे से करीब 60 परिवारों के लिए शाम को भोजन पहुंचाया गया। प्रशासन ने बताया कि तीनों वक्त मनसा देवी में लगने वाले भंडारे से भोजन की व्यवस्था की गई है। पिछले छह दिन से काम पर नहीं जाने से इन परिवारों पर रोटी का संकट पैदा हो गया था। अमर उजाला ने रविवार के अंक में चंडीकोटला में खाने के पड़े लाले की खबर प्रकाशित की थी। इसके बाद सोमवार को पीड़ितों के लिए भोजन की व्यवस्था कर दी गई। भोजन और अन्य चीजों की व्यवस्था का हाल जानने के लिए रेडक्रास की एक टीम सचिव विजय लक्ष्मी की नेतृत्व में पहुंची और लोगों से बातचीत की।
चंडीकोटला में अधिकतर परिवार मजदूरी कर पेट भरते हैं। मकानों में आई दरारों के बाद वे काम पर नहीं जा रहे हैं। इससे कई परिवारों के सामने रोटी का संकट आ गया है। प्रभावित लोगों ने रविवार को ही मांग की थी कि उनके लिए कम्युनिटी किचन व भंडारे की व्यवस्था की जाए।
शामलात भूमि पर लगाए जाएंगे तंबू
प्रशासन ने प्रभावित लोगोें के लिए गांव की शामलात भूमि पर तंबू की व्यवस्था कर दी है। प्रशासन लोगों से नाडा साहिब, मनसा देवी और आंगनबाड़ी में बसने की बात कह रहा था, लेकिन वे अपने घर के आसपास ही बसना चाहते हैं। इसलिए प्रशासन ने सोमवार को प्रभावित लोगों के लिए गांव की शामलात भूमि पर टैंट लगाने की व्यवस्था कर दी। उसी दौरान ही लोगों ने भूमि को समतल कर दिया। शाम तक गांव में तंबू पहुंचने की सूचना थी।
विधायक ने मुख्यमंत्री से अवगत कराया
पंचकूला के विधायक डीके बंसल ने सोमवार को चंडीकोटला के हालातों को मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा से अवगत कराया। उन्होंने मुख्यमंत्री से प्रभावित परिवारों के पुनर्वास की मांग की। मुख्यमंत्री ने विधायक की बात को गंभीरता से लेते हुए हरियाणा के मुख्य सचिव को शीघ्र ही इस दिशा में रिपोर्ट देने को कहा है। मुख्यमंत्री ने रिपोर्ट का जायजा लेने के बाद प्रशासन को निर्देश दिया कि पीड़ितों को प्राथमिकता के आधार पर टैंट एवं खाने की व्यवस्था करवाई जाए। विधायक डीके बंसल ने अपना एक प्रतिनिधिमंडल राजनीतिक सलाहकार एवं हरियाणा प्रदेश व्यापार मंडल के जिला प्रधान सतनाम सिंह चट्ठा के नेतृत्व में चंडीकोटला भेजा और गांववासियों की हर संभव मदद देने का वादा किया।
ग्रामीण एकजुट होकर कर रहे हैं मदद
गांव के पूर्व सरपंच दयाल सिंह और डिस्टिक्ट ग्रीवसेंज कमेटी के सदस्य रोहित शर्मा ने बताया कि ग्रामीण एकजुट होकर लोगों की मदद कर रहे हैं। जिसे गांव के बाहर शिफ्ट होना है तो लोग उसकी हर संभव मदद करने से पीछे नहीं हट रहे। गांव में कुछ लोग तो ऐसे हैं, जिन्होंने अपने घर में ही लोगों को शरण दी हुई है। उन्होंने बताया कि प्रशासन भी पूरी तरह से उनकी मदद कर रहा है। ग्रामीण अफवाहों पर ध्यान न दें
एसडीएम शरणदीप कौर बराड़ ने सोमवार को चंडीकोटला का दौरा किया। उन्होंने बताया कि कुछ लोग ग्रामीणों के बीच अफवाह फैला रहे हैं कि उनकी प्रशासन कोई मदद नहीं कर रहा है। इससे ग्रामीणों में गलत संदेश जा रहा है। उन्होंने कहा कि प्रशासन अपनी तरफ से ग्रामीणों की मदद के लिए हर संभव प्रयास कर रहा है। खाने-पीने और रहने की व्यवस्था की गई है। दरारों के तथ्य पूरी तरह से साफ होने के बाद उनकी स्थाई व्यवस्था की ओर से भी कदम उठाया जाएगा। उन्होंने कहा कि संकट की घड़ी में सभी को एक साथ रहकर मुसीबत का सामना करना चाहिए।

Spotlight

Most Read

National

राजनाथ: अब ताकतवर देश के रूप में देखा जा रहा है भारत

राज्य नगरीय विकास अभिकरण (सूडा) की ओर से आयोजित कार्यक्रम में राजनाथ सिंह ने कहा कि प्रधानमंत्री आवास योजना से नया आयाम मिला है।

22 जनवरी 2018

Related Videos

VIDEO: हरियाणा में प्यार करने की सजा देख रूह कांप उठेगी

हरियाणा के मेवात से एक वीडियो सामने आया है जिसमें एक युवक को भरी पंचायत में जूतों से पीटा जा रहा है। युवक का जुर्म दूसरे गांव की लड़की से प्यार करना बताया जा रहा है। पंचायत ने युवक पर 80 हजार रुपये का दंड और पांच जूतों का फरमान सुना था।

18 जनवरी 2018

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper