विज्ञापन
विज्ञापन
UP Board Result 2019 UP Board Result 2019

फर्जी आईपीएस से छुड़वाते थे जमीन का कब्जा

Panchkula Updated Sat, 01 Sep 2012 12:00 PM IST
ख़बर सुनें
पंचकूला। फर्जी आईपीएस का जाल जमीन और कोठी का कब्जा दिलवाने, पुलिस में नौकरी लगवाने सहित अन्य धोखाधड़ी के मामलों में ट्राइसिटी और आसपास फैला हुआ था। आरोपी इंटेलिजेंस ब्यूरो का एसपी बनकर लोगों से लाखों की धोखाधड़ी कर ट्राइसिटी में घूमता रहा। आरोपियों को शुक्रवार को अदालत में पेश किया गया, जहां से 6 सितंबर पर रिमांड पर भेज दिया गया। सीआईए जल्द ही आरोपियों से वारदात में प्रयोग की होने वाली जिप्सी, अंबेस्डर कार और नेम प्लेट बरामद करेगी। गौरतलब है कि सीआईए और सीआईडी ने मिलकर वीरवार देर रात फर्जी आईपीएस और उसके तीन साथियों को रामगढ़ चौक से काबू किया था। इन आरोपियों में कुरुक्षेत्र के मोहन नगर निवासी अमन कुमार उर्फ कुमार अमन, मनीमाजरा के समाधि गेट निवासी स्वर्ण सिंह, भिवानी के सिकंदपुर निवासी रविंदर कुमार और भिवानी के कोहालवासी गांव के नरेश कुमार शामिल हैं।
विज्ञापन
विज्ञापन
सीआईए की पूछताछ में फर्जी आईपीएस और उसके साथियों ने खुलासा किया कि उन्होंने ट्राइसिटी और आसपास के इलाकों में कई लोगों से भारी-भरकम राशि लेकर जमीनों के कब्जे छुड़ाए हैं। इसके अलावा खुलासा किया कि वे असली पिस्टल, नकली एके-47 और पिस्टल की उत्तर प्रदेश के कानपुर जिले से लेकर आए हैं। हालांकि असली और नकली असलहों के बारे में पूछताछ जारी है।

दिसंबर 2011 में चंडीगढ़ में आया काबू
सीआईए के इंस्पेक्टर करमवीर सिंह के अनुसार फर्जी आईपीएस और उसके साथ लालबत्ती गाड़ियों में जाकर लोगों से ठगी किया करते थे। फर्जी आईपीएस के साथ स्वर्ण सिंह उनका ड्राइवर और रविंदर व नरेश गनमैन बनकर चलते थे। इससे पहले अमन कुमार दिसंबर 2011 में सीबीआई का एएसपी बनकर सेक्टर-36 इलाके में आते अटावा गेस्ट हाउस में ठहरा था। उस समय पुलिस ने आरोपी से वर्दी और सीबीआई का कार्ड आदि बरामद किया था। इस संबंध में चंडीगढ़ के सेक्टर-36 में आरोपी के खिलाफ मामला भी दर्ज है। इसके अलावा कुरुक्षेत्र और पटियाला में भी विभिन्न मामले दर्ज हैं।

फर्जी आईपीएस ने चंडीगढ़ में की शादी
पुलिस के अनुसार फर्जी आईपीएस की तीन महीने पहले ही चंडीगढ़ की एक चार्टर्ड एकाउंटेंट युवती के साथ शादी हुई थी। अपनी पत्नी को भी आरोपी ने खुद को एक प्रशासनिक अधिकारी बताकर शादी की है। वहीं, शादीशुदा होने के बावजूद आरोपी ने एक मैटरीमोनियल वेबसाइट पर भी आवेदन कर रखा है। बताया जा रहा है आरोपी ने पोस्ट ग्रेजुएट होने के साथ-साथ वकालत की भी डिग्री कर रखा है।


धोखाधड़ी के शिकारों में शामिल लोग
-चंडीगढ़ सेक्टर-8 के मकान नंबर 1516 निवासी मनीष ने अपने दो बेटों को पुलिस में भर्ती कराने के लिए 4 लाख रुपये दिए थे। मनीष की पंचकूला के सेक्टर-11 में प्रापर्टी बिजनेस का कार्यालय है।
- खरड़ के तोलामाजरा निवासी सिक्योरिटी गार्ड अवतार सिंह ने पुलिस में नौकरी के लिए 1.60 लाख रुपये दिए थे।
-एमडीसी के सेक्टर-4 की किराये पर ली गई कोठी के पहले किराएदार राजेश त्यागी ने लुधियाना में जमीन खरीदने के नाम पर 20 लाख रुपये दिए थे।

Recommended

UP Board Results देखने के लिए आज ही 8929470909 नंबर पर मिस्ड कॉल करें और फोन पर पाएं परिणाम
UP Board 2019

UP Board Results देखने के लिए आज ही 8929470909 नंबर पर मिस्ड कॉल करें और फोन पर पाएं परिणाम

कब और कैसे मिलेगी सरकारी नौकरी ?
ज्योतिष समाधान

कब और कैसे मिलेगी सरकारी नौकरी ?

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें

लोकसभा चुनाव में किस सीट पर बदल रहे समीकरण, कहां है दल बदल की सुगबुगाहट, राहुल गाँधी से लेकर नरेंद्र मोदी तक रैलियों का रेला, बयानों की बाढ़, मुद्दों की पड़ताल, लोकसभा चुनाव 2019 से जुड़े हर लाइव अपडेट के लिए पढ़ते रहे अमर उजाला चुनाव समाचार।

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Most Read

Panchkula

डीजल टैंक से फैक्ट्री में लगी आग, तीन फायर टेंडर से पाया काबू

डीजल टैंक से फैक्ट्री में लगी आग, तीन फायर टेंडर से पाया काबू

26 अप्रैल 2019

विज्ञापन

टिकट न मिलने के बाद नवजोत कौर सिद्धू का बयान आया सामने, जिसमें उन्होंने कह दी बड़ी बात

कांग्रेस ने चंडीगढ़ से पूर्व केन्द्रीय मंत्री पवन कुमार बंसल को उम्मीदवार बनाया है। जिसके बाद नवजोत कौर का बयान सामने आया है। नवजोत कौर ने क्या कहा देखिए रिपोर्ट।

3 अप्रैल 2019

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
Election