फर्जी आईपीएस से छुड़वाते थे जमीन का कब्जा

Panchkula Updated Sat, 01 Sep 2012 12:00 PM IST
पंचकूला। फर्जी आईपीएस का जाल जमीन और कोठी का कब्जा दिलवाने, पुलिस में नौकरी लगवाने सहित अन्य धोखाधड़ी के मामलों में ट्राइसिटी और आसपास फैला हुआ था। आरोपी इंटेलिजेंस ब्यूरो का एसपी बनकर लोगों से लाखों की धोखाधड़ी कर ट्राइसिटी में घूमता रहा। आरोपियों को शुक्रवार को अदालत में पेश किया गया, जहां से 6 सितंबर पर रिमांड पर भेज दिया गया। सीआईए जल्द ही आरोपियों से वारदात में प्रयोग की होने वाली जिप्सी, अंबेस्डर कार और नेम प्लेट बरामद करेगी। गौरतलब है कि सीआईए और सीआईडी ने मिलकर वीरवार देर रात फर्जी आईपीएस और उसके तीन साथियों को रामगढ़ चौक से काबू किया था। इन आरोपियों में कुरुक्षेत्र के मोहन नगर निवासी अमन कुमार उर्फ कुमार अमन, मनीमाजरा के समाधि गेट निवासी स्वर्ण सिंह, भिवानी के सिकंदपुर निवासी रविंदर कुमार और भिवानी के कोहालवासी गांव के नरेश कुमार शामिल हैं।
सीआईए की पूछताछ में फर्जी आईपीएस और उसके साथियों ने खुलासा किया कि उन्होंने ट्राइसिटी और आसपास के इलाकों में कई लोगों से भारी-भरकम राशि लेकर जमीनों के कब्जे छुड़ाए हैं। इसके अलावा खुलासा किया कि वे असली पिस्टल, नकली एके-47 और पिस्टल की उत्तर प्रदेश के कानपुर जिले से लेकर आए हैं। हालांकि असली और नकली असलहों के बारे में पूछताछ जारी है।

दिसंबर 2011 में चंडीगढ़ में आया काबू
सीआईए के इंस्पेक्टर करमवीर सिंह के अनुसार फर्जी आईपीएस और उसके साथ लालबत्ती गाड़ियों में जाकर लोगों से ठगी किया करते थे। फर्जी आईपीएस के साथ स्वर्ण सिंह उनका ड्राइवर और रविंदर व नरेश गनमैन बनकर चलते थे। इससे पहले अमन कुमार दिसंबर 2011 में सीबीआई का एएसपी बनकर सेक्टर-36 इलाके में आते अटावा गेस्ट हाउस में ठहरा था। उस समय पुलिस ने आरोपी से वर्दी और सीबीआई का कार्ड आदि बरामद किया था। इस संबंध में चंडीगढ़ के सेक्टर-36 में आरोपी के खिलाफ मामला भी दर्ज है। इसके अलावा कुरुक्षेत्र और पटियाला में भी विभिन्न मामले दर्ज हैं।

फर्जी आईपीएस ने चंडीगढ़ में की शादी
पुलिस के अनुसार फर्जी आईपीएस की तीन महीने पहले ही चंडीगढ़ की एक चार्टर्ड एकाउंटेंट युवती के साथ शादी हुई थी। अपनी पत्नी को भी आरोपी ने खुद को एक प्रशासनिक अधिकारी बताकर शादी की है। वहीं, शादीशुदा होने के बावजूद आरोपी ने एक मैटरीमोनियल वेबसाइट पर भी आवेदन कर रखा है। बताया जा रहा है आरोपी ने पोस्ट ग्रेजुएट होने के साथ-साथ वकालत की भी डिग्री कर रखा है।


धोखाधड़ी के शिकारों में शामिल लोग
-चंडीगढ़ सेक्टर-8 के मकान नंबर 1516 निवासी मनीष ने अपने दो बेटों को पुलिस में भर्ती कराने के लिए 4 लाख रुपये दिए थे। मनीष की पंचकूला के सेक्टर-11 में प्रापर्टी बिजनेस का कार्यालय है।
- खरड़ के तोलामाजरा निवासी सिक्योरिटी गार्ड अवतार सिंह ने पुलिस में नौकरी के लिए 1.60 लाख रुपये दिए थे।
-एमडीसी के सेक्टर-4 की किराये पर ली गई कोठी के पहले किराएदार राजेश त्यागी ने लुधियाना में जमीन खरीदने के नाम पर 20 लाख रुपये दिए थे।

Spotlight

Most Read

Lucknow

अखिलेश यादव का तंज, ...ताकि पकौड़ा तलने को नौकरी के बराबर मानें लोग

यूपी के पूर्व सीएम अखिलेश यादव ने केंद्रीय मंत्री सत्यपाल सिंह पर निशाना साधा और कहा कि भाजपा देश की सोच को अवैज्ञानिक बताना चाहती है।

22 जनवरी 2018

Related Videos

VIDEO: हरियाणा में प्यार करने की सजा देख रूह कांप उठेगी

हरियाणा के मेवात से एक वीडियो सामने आया है जिसमें एक युवक को भरी पंचायत में जूतों से पीटा जा रहा है। युवक का जुर्म दूसरे गांव की लड़की से प्यार करना बताया जा रहा है। पंचायत ने युवक पर 80 हजार रुपये का दंड और पांच जूतों का फरमान सुना था।

18 जनवरी 2018

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper