पीसीएल में खिलाने की एवज में लिए थे ढाई लाख रुपये

Panchkula Updated Tue, 26 Jun 2012 12:00 PM IST
पंचकूला। रिश्वत लेने के आरोप में पकड़े गए क्रिकेट कोच के बारे में एक नया खुलासा सामने आया है। नारायणगढ़ के एक छात्र ने विजिलेंस को शपथ पत्र देकर कहा है कि साल 2010 में प्रीमियम क्रिकेट लीग (पीसीएल) में हरियाणा यूथ की टीम में शामिल करने के एवज में कोच ने उससे ढाई लाख रुपये रिश्वत लिए थे। शपथ पत्र के मुताबिक कोच ने लालच दिया था कि फाइनल जीतने पर एक करोड़ की राशि मिलेगी। जबकि टीम फाइनल में हार गई थी। फाइनल में पहुंचने पर भी 50 लाख रुपये की इनामी राशि मिली थी, लेकिन कोच ने छात्र को एक भी रुपया नहीं दिया। छात्र के पिता ने बताया कि उसने यह राशि ब्याज और अन्य लोगों से उधार लेकर ली थी, जिसका ब्याज आज भी वे भर रहे हैं। रिमांड खत्म होने पर सोमवार को कोच को अदालत में पेश किया गया। विजिलेंस ने अदालत से दो दिन के और रिमांड की मांग की, लेकिन अदालत ने रिमांड पर स्वीकृति नहीं दी। इसके बाद कोच को न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया।
नारायणगढ़ के रहने वाले विक्रम सिंह ने बताया कि वे साल 2010 में पंचकूला के ताऊ देवी लाल स्टेडियम में ट्रायल देने आए थे। ट्रायल के दौरान एक रिश्तेदार के मार्फत कोच आरपी चोपड़ा से मुलाकात की। उस दौरान प्रीमियम क्रिकेट लीग (पीसीएल) का आयोजन चल रहा था। कोच ने विक्रम के पिता से कहा कि यदि वह ढाई लाख रुपये का इंतजाम कर लें तो उनके बच्चे का सिलेक्शन पीसीएल टूर्नामेंट हो जाएगा। उन्होंने लालच दिया कि जीत पर एक करोड़ का इनाम पक्का है और प्रत्येक खिलाड़ी के पास करीब आठ से दस लाख आएंगे। हालांकि टीम फाइनल में हार गई। टीम को 50 लाख की इनामी राशि दी गई, लेकिन कोच ने विक्रम के हिस्से की रकम नहीं दी। उसके पिता ने कई बार कोच से मिन्नतें की, लेकिन वह नहीं माना।
विजिलेंस ने विक्रम और उनके पिता के बयान दर्ज कर लिए हैं। विक्रम ने बताया कि उसके पास कोच के खिलाफ कई सुबूत हैं। विजिलेंस के डीएसपी निहाल सिंह ने बताया कि वे फिर से अदालत से कोच का रिमांड लेने की मांग करेंगे। इसके लिए वे सेशन कोर्ट का दरवाजा भी खटखटाएंगे। उन्होंने कहा कि उन्हें पूछताछ के लिए कोई वक्त ही नहीं मिला। रविवार का पूरे दिन चोपड़ा के टेस्ट होते रहे।
खेल अधिकारी को फिर से भेजा नोटिस
विजिलेंस की टीम ने खेल अधिकारी को एक बार फिर से नोटिस भेजकर पूछताछ के लिए बुलाया है। रविवार को नोटिस भेजने के बाद भी खेल अधिकारी अश्विनी शर्मा विजिलेंस के थाने नहीं पहुंचे। सोमवार को एक बार फिर से उन्हें नोटिस भेज दिया गया है। उन्होंने बताया कि चोपड़ा ने रिमांड के दौरान खेल अधिकारी का नाम लिया है और जांच के लिए उन्हें बुलाया गया है।

Spotlight

Most Read

Bihar

चारा घोटाला: लालू और जगन्नाथ मिश्रा को 5 साल की सजा, कोर्ट ने 5 लाख का लगाया जुर्माना

पूर्व रेल मंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के खिलाफ सीबीआई की विशेष अदालत ने बड़ा फैसला सुनाया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

VIDEO: हरियाणा में प्यार करने की सजा देख रूह कांप उठेगी

हरियाणा के मेवात से एक वीडियो सामने आया है जिसमें एक युवक को भरी पंचायत में जूतों से पीटा जा रहा है। युवक का जुर्म दूसरे गांव की लड़की से प्यार करना बताया जा रहा है। पंचायत ने युवक पर 80 हजार रुपये का दंड और पांच जूतों का फरमान सुना था।

18 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls