बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
INSTALL APP

विश्वभर के लोगों को धर्मक्षेत्र कुरुक्षेत्र से मिलेगा गीता का ज्ञान : गुर्जर

Updated Sun, 04 Jun 2017 11:48 PM IST
विज्ञापन

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

ख़बर सुनें
अमर उजाला ब्यूरो
विज्ञापन

कुरुक्षेत्र।
सामाजिक एवं न्याय अधिकारिता केंद्रीय राज्यमंत्री कृष्ण पाल गुर्जर ने कहा कि विश्व के लोगों को कुरुक्षेत्र के गीता ज्ञान संस्थानम केंद्र से गीता का ज्ञान मिलेगा। इस ज्ञान से लोग जागरूक होकर धर्म के रास्ते पर आगे बढ़ेंगे, जिससे राष्ट्र का कल्याण संभव होगा। केंद्रीय राज्यमंत्री रविवार को हरियाणा मल्टी आर्ट कल्चर सेंटर के आडिटोरियम हॉल में जीओ गीता और गीता ज्ञान संस्थानम के तत्वाधान में आयोजित शिलान्यास समारोह में संबोधित कर रहे थे।
इससे पहले गीता मनीषी स्वामी ज्ञानानंद महाराज, केंद्रीय राज्यमंत्री कृष्णपाल गुर्जर, हरियाणा विधानसभा अध्यक्ष कंवरपाल गुर्जर, राज्यमंत्री कृष्ण कुमार बेदी, विधायक सुभाष सुधा, सीएम के ओएसडी अमरेंद्र सिंह ने गीता ज्ञान संस्थानम के नागर शैली में बनने वाले मुख्य प्रवेश द्वार, गीता प्रेरित सात्विक जैविक भोजनालय, गुरु कुटिया भवन एवं गीता बाजार स्थल का शिलान्यास किया। सभी मेहमानों ने मंत्रोच्चारण व शंखनाद के साथ इन भवनों की आधारशिला रखी।

केंद्रीय राज्यमंत्री ने कहा कि कुरुक्षेत्र ज्ञान की धरती है, इस धरा पर भगवान श्रीकृष्ण ने गीता का उपदेश दिया था। इन उपदेशों को आमजन मानस तक पहुंचाने के लिए गीता ज्ञान संस्थानम की स्थापना स्वामी ज्ञानानंद महाराज द्वारा की जा रही है। हरियाणा विधानसभा अध्यक्ष कंवरपाल गुर्जर ने कहा कि आज के आधुनिक युग में युवा पीढ़ी के जहन में संस्कारों की कमी आई है। किसी भी देश व प्रदेश की तरक्की तभी संभव हो सकती है, जब युवा पीढ़ी संस्कारित होगी। आज कुरुक्षेत्र की पावन धरा गीता ज्ञान संस्थानम में गीता का ज्ञान देकर युवा पीढ़ी को सही मार्ग पर लाने का प्रयास किया जाएगा। राज्यमंत्री कृष्ण बेदी ने कहा कि कुरुक्षेत्र की इस धरा पर एक बार फिर पूरे विश्व को गीता का ज्ञान देने के लिए एक अनोखे संस्थान की स्थापना की जा रही है।
विधायक सुभाष सुधा ने कहा कि राज्य सरकार ने गीता ज्ञान संस्थानम केंद्र को स्थापित करने के लिए जहां 9 एकड़ भूमि दी, वहीं राज्यपाल प्रोफेसर कप्तान सिंह सोलंकी, मुख्यमंत्री मनोहर लाल और योग गुरु बाबा रामदेव ने संस्थान के निर्माण के लिए एक-एक करोड़ रुपये की अनुदान राशि दी। इस संस्था से कुरुक्षेत्र का नाम पूरी दुनिया में गीता ज्ञान के नाम से जाना जाएगा।
गीता मनीषी स्वामी ज्ञानानंद महाराज ने कहा कि काफी समय से हमारे देश की परंपराएं लुप्त होती हुई दिखाई दी और हमारे संस्कारों पर प्रश्न चिह्न लगता हुए नजर आया, लेकिन वर्तमान समय में प्राचीन परंपरा पर चिंतन व मंथन किया जाना शुरू हुआ है। उन्होंने कहा कि इस संस्थान में गीता के नाम पर लाइब्रेरी और विश्व स्तरीय म्यूजियम स्थापित किया जाएगा। इतना ही नहीं परंपराओं के संस्कारों की विरासत को इस केंद्र में युवा पीढ़ी को परोसा जाएगा, यह संस्था प्रेरणा स्थली बनेगा।
मुख्यमंत्री के ओएसडी अमरेंद्र सिंह ने कहा कि इस गीता ज्ञान संस्थान केंद्र से देश की भावी पीढ़ी को संस्कारित करने का काम किया जाएगा। करनाल की मेयर रेणू बाला ने कहा कि इस संस्थान के निर्माण में हर संभव सहयोग किया जाएगा। इस अवसर पर गो सेवा आयोग के चेयरमैन भानी प्रसाद मंगला, चेयरमैन संजय भाटिया, भाजपा के जिलाध्यक्ष धर्मवीर मिर्जापुर, करनाल भाजपा के जिलाध्यक्ष जगमोहन आनंद, धर्मवीर डागर, बलदेव राज चावला, आत्मप्रकाश मनचंदा, किशोर अग्रवाल, पंकज भारती, रवींद्र सांगवान, सुशील राणा, हंसराज सिंगला, खैराती सिंगला, विजय नरूला, उपेंद्र सिंघल, मोहन गोयल, मदनमोहन छाबड़ा, प्रदीप मित्तल, केशव गुप्ता, महेंद्र सिंगला, पवन शर्मा, सतपाल सिंगला, सुरेश शर्मा आदि मौजूद थे।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us