Hindi News ›   Haryana ›   Karnal ›   Drever arrested and case registered against aadti and rice millers

बिहार से आए लो क्वालिटी वाले ट्राले को लेकर मिलर और करनाल की फर्म के खिलाफ धोखाधड़ी का केस दर्ज

Amar Ujala Bureau अमर उजाला ब्यूरो
Updated Mon, 23 Nov 2020 02:38 AM IST
Drever arrested and case registered against aadti and rice millers
विज्ञापन
ख़बर सुनें
यूपी-बिहार से लाए जा रहे सस्ते चावलों को सीएमआर में देने के खेल में शहर के रत्तक रोड स्थित बांके बिहारी धर्मकांटे पर पकड़े गए 359.60 क्विंटल चावल भरे दो वाहनों के मामले में खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति विभाग ने आढ़त फर्म बालाजी ट्रेडिंग कंपनी व बीजी ओवरसीज राइस मिल उपलाना के संचालक पंकज गर्ग के धोखाधड़ी सहित विभिन्न धाराओं में नामजद एफआईआर दर्ज कराई है। वाहन चालक को पुलिस के हवाले कर दिया गया है। पुलिस ने मामले की जांच शुरू कर दी गई है।

डीएफएससी के मंडी निरीक्षक योगेश्वर कुंडू की तहरीर पर दर्ज की गई एफआईआर में आरोप लगाया गया कि बाला जी ट्रेडिंग कंपनी दुकान-118 द्वारा जय मां मनसा देवी ट्रेडर करनाल के नाम फर्जी बिल तैयार करके चावल की काला बाजारी करने के उद्देश्य से आपसी साठगाठ से बीजी ओवरसीज उपलाना भेजा जा रहा था। शनिवार को सीएम फ्लाइंग और सीआईडी की संयुक्त टीम द्वारा यूपी और बिहार से आए निम्न गुणवत्ता वाले चावल के दो बड़े ट्रालों को पकड़ा था। मौके पर चालक शहरयान निवासी डबारसी (गाजियाबाद) ने चावलों को बिहार से लाने की जानकारी दी थी। साथ ही बाला जी ट्रेडिंग कंपनी के नाम बिल्टी भी दिखाते हुए राइस मिल संचालक का मोबाइल नंबर दिया गया था। यह भी बताया था कि जो पता उसे दिया गया है, वह चावल से लोड़ ट्राले को बीजी ऑवरसीज उपलाना में लेकर जा रहा था। मंडी निरीक्षक योगेश्वर कुंडू ने बताया कि दोनो वाहनों में 359.60 क्विंटल चावल है। जिसे हैफेड की सुपुर्दगी में दे दिया गया है। उपलाना के राइस मिल संचालक पंकज गर्ग हैफेड के माध्यम से सीएमआर का कार्य करता है। इस कार्रवाई से राइस मिलर्स में खलबली मच गई है।

--------------------------------------------------
चौबीस घंटे चलती रही जांच, राइस मिलर्स में हड़कंप
सीएम फ्लाइंग द्वारा दो गाड़ियों को पकड़े जाने का मामला चर्चा का विषय बना रहा। वहीं हैफेड, डीएफएससी और पुलिस की टीम भी पूरी रात और रविवार दिनभर जांच में जुटी रही। जांच में सामने आया कि देवरिया से आई गाड़ी की बिल्टी पक्की पाई गई। जबकि बिहार से बीजी ऑवरसीज नामक राइस मिल में आने वाली गाड़ी के सभी कागजात फर्जी पाए गए। रविवार देर शाम को तीन विभागों ने गाड़ी का स्टॉक हैफेड के गोदाम में लगवा दिया। इन दो गाड़ियों के पकड़े जाने के बाद अन्य राइस मिलर्स की चेकिंग की जा सकती है।
-----------------------------------------------
-सीएम फ्लांइग, सीआईडी, डीएफएससी और हैफेड की टीम द्वारा पकड़ी गाड़ी के फर्जी कागजात पाए गए हैं। फर्जी बिल्टी बनाने और अवैध रूप से चावल की कालाबाजारी के चलते डीएफएससी इंस्पेक्टर योगेश कुंडू की शिकायत पर मिलीभगत करते फर्जी कागजात तैयार करके बिहार से असंध चावल लाने के आरोप में राइस मिल संचालक पंकज गर्ग और करनाल की दुकान नंबर 118 के मालिक के खिलाफ धोखाधड़ी का केस दर्ज कर लिया है। पुलिस अब मामले की जांच कर रही है।
-कर्मबीर सिंह, पुलिस जांच अधिकारी, असंध

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन
  • Downloads
    News Stand

Follow Us

  • Facebook Page
  • Twitter Page
  • Youtube Page
  • Instagram Page
  • Telegram
एप में पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00