मैनहोल खुले मिले तो नपेंगे अफसर : सीपीएस

Karnal Published by: Updated Fri, 12 Jul 2013 05:33 AM IST
विज्ञापन

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

ख़बर सुनें
कुरुक्षेत्र। जिला लोक संपर्क और कष्ट निवारण समिति की बैठक में सेक्टरों की समस्याओं खुले मैनहोल का मुद्दा छाया रहा। समस्याएं सुनने पहुंचे मुख्य संसदीय सचिव प्रहलाद सिंह गिल्लाखेड़ा ने स्पष्ट निर्देश दिए कि यदि मैनहोल खुले पाए गए तो अधिकारी कार्रवाई के लिए तैयार रहें। उन्होंने डीसी मनदीप सिंह बराड़ से कहा कि वे समय-समय पर मैनहोल बंद होने की रिपोर्ट लेते रहें।
विज्ञापन

इसके अलावा बिजली ट्रांसफार्मरों से लेकर सड़क और खुले सीवरेज के गटरों का मुद्दा छाया रहा। बैठक में आईं कुल 21 शिकायतों में से 17 शिकायतों को मौके पर ही निपटाया गया। स्थानीय पंचायत भवन में आयोजित बैठक में आवासीय क्षेत्र में खुली दूध की डेयरियों का मामला भी उठा। बैठक के बीच में जन समस्याओं के मुद्दों पर अमर उजाला में प्रकाशित समाचार पत्र की प्रति लहराई गई। आज की बैठक हुडा के सेक्टर-चार में खुले मैनहोल का मामला माई सिटी में 23 जून 2013 और 11 जुलाई 2013 को 100 गज के प्लॉटों का मामला उठाया। रेजिडेंट वेलफेयर एसोसिएशन के अध्यक्ष रामपाल डाबर ने माई सिटी की प्रति मुख्य संसदीय सचिव को दिखाते हुए कहा कि हुडा के अधिकारी सेक्टरों की समस्याओं को देखकर भी अनदेखा कर रहे हैं। डाबर ने सेक्टर-30 और सेक्टर चार की ओर से दी गई शिकायत में कहा कि अब लोगों के लिए हुडा के सेक्टरों में भी रहना मुहाल हो गया है। कई जगह मैनहोल खुले हैं। इस कारण किसी भी समय दुर्घटना का अंदेशा है। संसदीय सचिव ने कार्यकारी अभियंता हुडा और संपदा अधिकारी को निर्देश दिए कि कोई भी मैनहोल खुला नहीं मिलना चाहिए और यदि खुला मिला तो संबंधित विरुद्ध कार्रवाई अमल में लाई जाएगी। उन्होंने डीसी मनदीप सिंह बराड़ को निर्देश दिए कि वे खुले मैनहोल बंद कराने के लिए अधिकारियों द्वारा किए जा रहे कार्यों की रिपोर्ट लेते रहें।


सेक्टरों में सड़कों के लेवल गलत
सुनील दत्त शर्मा की ओर से स्थानीय सड़कों का लेवल ठीक करने संबंधित की गई शिकायत के मद्देनजर संसदीय सचिव ने कार्यकारी अभियंता को निर्देश दिए कि वे सड़कों का लेवल निर्धारित मापदंड के तहत रखें, जिससे कि किसी को भी कोई परेशानी न हो।

सेक्टरों खराब हैं ट्रांसफार्मर
रेजिडेंट वेलफेयर एसोसिएशन के सदस्यों की ओरसे बिजली के खराब ट्रांसफार्मर बदलने के लिए भी शिकायत की। संसदीय सचिव ने बिजली विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए कि वे खराब ट्रांसफार्मर बदलने के लिए किसी भी प्रकार की कोताही न बरतें। वैसे भी सरकार ने खराब ट्रांसफार्मर 24 घंटे में बदलने के निर्देश जारी किए हैं।

जिला भर से थी ये शिकायतें
कष्ट निवारण समिति के सदस्य संजीव कुमार ने शाहाबाद में फुटपाथ की मरम्मत कराने की शिकायत रखी, जिस पर हुडा कार्यकारी अभियंता ने बताया कि इसके टेंडर हो चुके हैं और कार्य शीघ्र शुरू होगा। जयपाल पांचाल, सुरेश यूनिसपुर और सतीश कुमार ने शिकायत की थी कि लाडवा से बाबैन तक जाने वाली सड़क पर काम और मरम्मत की गति धीमी है और स्थानीय अनाज मंडी में पैच वर्क का काम भी नहीं हुआ। संसदीय सचिव ने अधिकारियों को निर्देश दिए कि वे सड़कों की मरम्मत के कार्य में तेजी लाएं और जहां पर पैच वर्क का कार्य करना है, उसे भी निर्धारित समयावधि के तहत अविलंब पूरा करें। मुख्य संसदीय सचिव ने थानेसर के एसडीएम अशोक बंसल को निर्देश दिए कि वे जयपाल पांचाल द्वारा भैंसों की डेयरी संबंधी विषय पर की शिकायत के बारे में मौके पर जाकर जांच करें तथा एक सप्ताह के अंदर जांच करके रिपोर्ट दें। बैठक में विजय कुमार और अन्य लोगों द्वारा वन मंडल अधिकारी की शिकायत की गई। शिकायत में कहा गया कि संबंधित व्यक्ति को पार्टीबाजी की वजह से नौकरी से हटा दिया है। मुख्य संसदीय सचिव प्रहलाद सिंह गिल्लाखेड़ा में मामले को गंभीरता से लेते हुए पिहोवा की एसडीएम कमलप्रीत कौर को निर्देश दिए कि वे मामले की जांच करके अविलंब रिपोर्ट दें। गांव दुगारी के युसुफ अली द्वारा 100-100 गज के प्लाट देने सम्बंधी विषय पर की गई शिकायत के दृष्टिगत संसदीय सचिव ने जिला विकास एवं पंचायत अधिकारी को निर्देश दिए कि वे मामले की जांच करके डीसी मनदीप सिंह बराड़ को रिपोर्ट करें।

इस वर्ष पूरा होगा सड़क मरम्मत का काम
मुख्य संसदीय सचिव प्रहलाद सिंह गिल्लाखेड़ा ने कहा कि वर्ष 2013 के अंत तक प्रदेश की सभी सड़कों की मरम्मत का कार्य पूरा कर लिया जाएगा। उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री ने संबंधित विभागों के अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि वे मरम्मत के कार्यों में तेजी लाएं।

ये लोग रहे मौजूद
इस अवसर पर एसपी राकेश आर्य, एडीसी यश गर्ग, जिला कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष जय भगवान शर्मा, जिला कांग्रेस कमेटी के कोषाध्यक्ष विनोद गर्ग, जिला विकास और निगरानी कमेटी के सदस्य सुरेश रोड और रणसिंह देसवाल सहित कष्ट निवारण समिति के सरकारी और गैर सरकारी सदस्य मौजूद रहे।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us

X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X