गन्ना पिराई के लिए नंबर न आने पर भड़के किसान

Karnal Updated Wed, 19 Dec 2012 05:31 AM IST
कैथल। शुगर मिल में गन्ने की पिराई के लिए पर्ची न मिलने के कारण किसानों ने मंगलवार को मिल प्रशासन के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। शुगर मील में गन्ना लेकर पहुंचे किसान गुरनाम सिंह, हरदेव, रामकुमार, अमित वालिया, नवीन, कुलदीप सिंह, जोगिंद्र हथिरा, राजकुमार, महाबीर और सोहनलाल ने कैथल शूगर मिल अधिकारियों पर पक्षपात का आरोप लगाते हुए कहा कि क्षेत्र के किसानों के साथ अन्याय किया जा रहा है। अन्य क्षेत्र से पहुंचे किसानों को मिल द्वारा तवज्जो दी जा रही है। किसानों ने मिल अधिकारियों पर चहेतों को पर्चियां देने के भी आरोप लगाए।
किसानों ने बताया कि लगभग 22 दिन में केवल 2 प्रतिशत ही पर्चियां क्षेत्र के किसानों को गन्ना लाने के लिए दी गई है। इसके अलावा उन्हें गन्ने का भाव भी काफी कम दिया जा रहा है। यहां गन्ना 240 रुपये प्रति क्विंटल लिया जा रहा है, जबकि यूपी में गन्ना 300 रुपये प्रति क्विंटल के भाव से दिया जा रहा है। उन्होंने सरकार से 350 रुपये प्रति क्विंटल गन्ने का भाव देने की मांग की।
किसान नरेंद्र सजूमा, फकीरचंद, अजमेर सजूमा, नरेंद्र सजूमा, दमनलाल, श्रीचंद, भीम सिंह, शेर सिंह, कपिल व पालाराम ने बताया कि शुगर मिल में लगभग 25 हजार प्रति क्विंटल गन्ने की प्रतिदिन पिराई होती है, मिल द्वारा एक रुपये प्रति शेयर के अनुसार काटा भी जा रहा है। इससे किसानों को काफी नुकसान उठाना पड़ रहा है। मिल द्वारा बाहर के क्षेत्रों से गन्ना लाने वाले किसानाें के कोई सैंपल नहीं लिए जाते, जबकि क्षेत्र के किसानों के सैंपल लेकर उन्हें परेशान किया जा रहा है। उन्होंने शुगर मिल में लचर व्यवस्था पर भी उंगलियां उठाते हुए कहा कि मिल में गन्ने की ट्राली खड़ी करने तक की सुविधा नहीं है। ऐसे में वह अपनी ट्रालियां सड़क पर खड़े करने को मजबूर हैं। किसानों ने बताया कि वे इस समस्या के बारे में एमडी को भी अवगत करवा चुके हैं, लेकिन उनकी समस्या की ओर कोई ध्यान नहीं दिया जा रहा।
इस संबंध में शुगर मिल के सीएमओ रामदिया ने बताया कि पिछले दिनों 15-15 घंटे के तीन बार ब्रेक हो गए थे। इसके कारण देरी हुई है। किसानों की समस्या 21 दिसंबर तक हल कर दी जाएगी। गन्ना पर्चियों मिलाकर जिले के किसानों के लिए सामान्य पर्चियां दे दी जाएगी।
शुगर मील में मैनेजिंग डायरेक्टर रनजीत कौर ने बताया कि मिल में पहले से ही 25 लाख क्विंटल गन्ना उपलब्ध है। अभी कुछ दिन पहले ही शूगर मिल अधिकारियों की बैठक हुई थी। इसमें कैथल, शाहाबाद और अन्य दो जिलाें को पानीपत से गन्ना लेने के लिए अलॉट किया गया। उन्हें पानीपत से साढ़े 4 लाख क्विंटल गन्ना अलॉट किया गया है। इसमें से वे 40 हजार क्विंटल गन्ना पानीपत का ले चुके हैं। किसानों की समस्या जल्द ही हल कर दी जाएगी।

Spotlight

Most Read

National

पाकिस्तान की तबाही के दो वीडियो जारी, तेल डिपो समेत हथियार भंडार नेस्तनाबूद

सीमा सुरक्षा बल के जवानों ने पाकिस्तानी गोलाबारी का मुंहतोड़ जवाब दिया है। भारत के जवाबी हमले में पाकिस्तान की कई फायरिंग पोजिशन, आयुध भंडार और फ्यूल डिपो को बीएसएफ ने उड़ा दिया है।

23 जनवरी 2018

Related Videos

हरियाणा में इस नौकरी के लिए उमड़ा बेरोजगारों का हुजूम

हरियाणा में बेरोजगारी का क्या आलम है, ये देखने को मिला करनाल में। दरअसल मंगलवार को करनाल में ईएसआई हेल्थ केयर में चपरासी के 70 पदों के लिए प्रदेश भर से हजारों युवाओं की भीड़ उमड़ पड़ी।

17 जनवरी 2018

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper