धर्मनगरी में हर समय जाम जैसे हालात

Karnal Updated Sun, 16 Dec 2012 05:30 AM IST
कुरुक्षेत्र। श्रद्धानंद चौक पर हर समय जाम के हालात रहते हैं। इन हालात में कुरुक्षेत्र की ट्रैफिक पुलिस को शायद ही मालूम हो कि कुरुक्षेत्र शहर में ट्रैफिक के क्या हालात हैं। पुलिस, प्रशासन दावे तो करता है, नेता कुरुक्षेत्र को हैरीटेज सिटी और विश्व मानचित्र पर लाने का दम भर रहे हैं, लेकिन सभी दावे इन दृश्यों के आगे बेअसर और मृत नजर आते हैं। अंदाजा लगाया जा सकता है कि इन हालातों में अगर आपात सेवाएं चाहिए तो इस स्थिति में क्या हो? घायलों, मरीजों और गर्भवती महिलाओं को ले जाने वाली एंबुलेंस और आगजनी के बाद बजने वाले सायरन से क्या जाम खुल पाएगा? इस स्थिति में पिछले वर्ष एक जान भी जा चुकी है, तब पीजीआई चंडीगढ़ जाते समय नगर के फ्लाईओवर पर वाहनों के जाम में फंसी एंबुलेंस काफी देर तक फंसी रही थी और पीजीआई पहुंचने तक नगर का व्यवसायी दम तोड़ चुका था। कुरुक्षेत्र के फ्लाईओवर पर चढ़ने से पहले श्रद्धानंद चौक पर जाम की जो स्थिति बनती है, उसमें फंसे लोग तौबा-तौबा कह उठते हैं। हिसार-कैथल, पिहोवा से आने वाले वाहन कुरुक्षेत्र होते हुए इसी चौक से यमुनानगर, यूपी आदि के लिए यहीं से निकलते हैं। उधर दिल्ली, अंबाला, यमुनानगर की ओर कुरुक्षेत्र की ओर आने वाले वाहन भी यहीं से गुजरते हैं। इनके अलावा ज्योतिनगर, रेलवे-पारस रोड, इंदिरा कालोनी, अंकुर नर्सिंग होम से निकलने वाले रोड़ का ट्रैफिक भी यहीं से आवाजाही करता है। सात सड़कों के इस जखीरे में मिलने वाला श्रद्धानंद गोलचक्र ट्रैफिक से अटा रहता है। हालात को काबू करने के लिए यहां कई बार या वीवीआईपी के आगमन पर इक्का-दुक्का पुलिसकर्मी भी तैनात होते हैं, लेकिन हालात तब बिगड़ते हैं, जब पुलिस ड्यूटी के नाम पर ये चौक खाली दिखता है। अब जनता एसपी से उम्मीद लगा रही है कि वह कैसे उनकी समस्या को दूर करेंगे। गौरतलब है कि पिछले दिनों त्योहारी माह के दौरान एसपी ने थानेसर सिटी में विशेष व्यवस्था कर जाम को दूर करने का सार्थक कदम उठाया था, लेकिन त्योहारों के बाद फिर वही हालात पैदा हो चुके हैं।

वाहन चालक खुद संभालते हैं व्यवस्था
नगर के एकमात्र फ्लाईओवर सहित सात सड़कें श्रद्धानंद चौक पर आकर मिलती हैं। इन तमाम सड़कों का ट्रैफिक ओवरब्रिज के रास्ते में पढ़ने वाले इस चौक जो दृश्य बनाता है, उसे देखकर कई बार जाम में फंसे लोग ट्रैफिक सिस्टम को कोसते दिख जाते हैं। इस मार्ग पर सुबह से रात तक ऐसे कई मौके होते हैं, जब यहा ट्रैफिक सिस्टम नाम की चीज गायब दिखती है। इस बड़ा कारण यहां ट्रैफिक पुलिस अक्सर गायब मिलती है और इन हालात में वाहन चालकों को खुद ही ट्रैफिक व्यवस्था संभालनी पड़ती है।

इन हालात में कैसे होगी एंबुलेंस की आवाजाही
समाजसेवी साक्षी जोशी का कहना है कि जाम के इन हालात में यदि एंबुलेंस सेवा को तुरंत मरीज के लिए आवाजाही करनी हो तो ऐसे में पुलिस-प्रशासन अंदाजा लगा सकता है कि उस समय क्या स्थिति बनेगी। जोशी ने पुलिस-प्रशासन से मांग की है कि नगर में ट्रैफिक के बिगड़े हुए हालात को दुरुस्त करने के लिए सार्थक कदम उठाए जाएं।

सांसद हैलीकाप्टर से निकल जाते हैं : धुम्मन
भाजपा के पूर्व सह मीडिया प्रभारी तथा भाजपा कम्यूनिकेशन सेल के प्रदेश संयोजक धुम्मन सिंह किरमिच ने कहा कि स्थानीय विधायक अशोक अरोड़ा इनेलो के हैं और उनके पास तर्क है कि कांग्रेस के राज में हालात खराब हैं, जबकि सत्तारुढ़ पार्टी कांग्रेस के सांसद नवीन जिंदल कभी कभार हैलीकाप्टर से कुरुक्षेत्र आते हैं और सड़क से जब गुजरना हो तो रास्ते खाली करा दिए जाते हैं, इन हालात में पब्लिक की समस्या कैसे दिखेगी ये लोगों भी पता चल चुका है।

फायर ब्रिगेड जैसी सेवाएं भी हो सकती हैं बाधित
हिंदू हेल्प लाइन के प्रदेश संयोजक मदन मोहन छाबड़ा के मुताबिक जाम के हालात इमरजेंसी सेवाओं में सबसे बड़ी बाधा बन सकते हैं। उनके अनुसार कुरुक्षेत्र के पुराने नगर थानेसर में आबादी का बड़ा हिस्सा बसा हुआ है। कारोबार की दृष्टि से नगर के मुख्य बाजार इधर ही है और विपरीत हालातों में जाम के दौरान सिर्फ एंबुलेंस सेवा ही नहीं, बल्कि फायर ब्रिगेड जैसी सुविधाओं पर भी असर पड़ सकता है, क्योंकि दमकल केंद्र सेक्टर-13 में है और शहर की ओर आवाजाही के लिए ओवरब्रिज से होकर ही गुजरना पड़ता है। उन्होंने पुलिस-प्रशासन से मांग की कि ओवरब्रिज तथा श्रद्धानंद चौक पर लगने वाले जाम को दूर करने के लिए यहां ट्रैफिक पुलिस की टीम को तैनात किया जाना चाहिए।

दुकानदार भी है परेशान
हरियाणा ड्राईक्लीनर्स एसोसिएशन के प्रदेशाध्यक्ष कृष्णलाल मेहता का कहना है कि नगर में ट्रैफिक व्यवस्था को बिगाड़ने में सबसे बड़ी भूमिका मुख्य मार्गों पर जहां-तहां खड़े वाहन निभा रहे हैं। अगर इन वाहनों पर अंकुश लगे तो ट्रैफिक हालात में सुधार हो सकता है. बिगड़े हुए ट्रैफिक हालातों से सबसे बुरा असर दुकानदारों के कारोबार पर पड़ रहा है। उन्होंने पुलिस-प्रशासन से मांग की कि इस स्थिति को सुधारने के लिए चुने हुए पुलिस अधिकारी और कर्मचारी तैनात किए जाएं।

खुद जाकर करेंगे निरीक्षण : ट्रैफिक प्रभारी
ट्रैफिक प्रभारी राजबीर सिंह ने बताया कि श्रद्धानंद चौक पर एक महिला सहित दो पुलिसकर्मियों की ड्यूटी लगाई गई है। यदि वहां पर ट्रैफिक को लेकर समस्या है तो वे स्वयं समय-समय पर वहां का निरीक्षण करेंगे। ट्रैफिक समस्या को देखते हुए उन्होंने पहले ही श्रद्धानंद चौक के पास बने धर्मकांटे को बंद करवा रखा है यदि और भी समस्या आई तो इस चौक पर अन्य पुलिसकर्मियों की भी ड्यूटी लगाई जाएगी।

सभी चौक पर लगाई गई है पुलिसकर्मियों की ड्यूटी
एसपी राकेश कुमार आर्य के अनुसार नगर की उन तमाम जगहों को चिह्नित किया गया जहां, जाम की स्थिति सबसे ज्यादा रहती है। एसपी ने बताया कि उन्होंने हाल ही में चिह्नित की गई तमाम जगहों पर पुलिसकर्मियों की ड्यूटी लगाई गई है ताकि ट्रैफिक व्यवस्था बहाल हो। यदि कोई पुलिसकर्मी ड्यूटी में कोताही बरतता है तो उसकी जांच की जाएगी।

Spotlight

Most Read

Lucknow

यूपी एसटीएफ ने मार गिराया एक लाख का इनामी बदमाश, दस मामलों में था वांछित

यूपी एसटीएफ ने दस मामलों में वांछित बग्गा सिंह को नेपाल बॉर्डर के करीब मार गिराया। उस पर एक लाख का इनाम घोषित ‌किया गया था।

17 जनवरी 2018

Related Videos

हरियाणा में इस नौकरी के लिए उमड़ा बेरोजगारों का हुजूम

हरियाणा में बेरोजगारी का क्या आलम है, ये देखने को मिला करनाल में। दरअसल मंगलवार को करनाल में ईएसआई हेल्थ केयर में चपरासी के 70 पदों के लिए प्रदेश भर से हजारों युवाओं की भीड़ उमड़ पड़ी।

17 जनवरी 2018

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper