31 मार्च से धर्मनगरी में कम होगा ट्रैफिक का दबाव

Karnal Updated Wed, 12 Dec 2012 05:30 AM IST
xकुरुक्षेत्र। डेढ़ साल से धर्मनगरीवासियों को बढ़ते ट्रैफिक दबाव के कारण दिक्क्तें उठानी पड़ रही हैं। धर्मनगरी की लाइफ लाइन जीएल नंदा मार्ग पर हैवी ट्रैफिक, जाम और रोजाना के हादसे इन परेशानियों से लोग निरंतर जूझ रहे हैं। अब मार्च 2013 लोगों को इन सभी समस्याओं से छुुटकारा दिलवाने वाली है। धर्मनगरी की लाइफ लाइन कहे जाने वाले पूर्व प्रधानमंत्री गुलजारी लाल नंदा मार्ग पर एक अप्रैल तक ट्रैफिक में जबरदस्त सुधार होगा। सुंदरपुर फाटक पर 46 करोड़ की लागत से बन रहे ओवरब्रिज का निर्माण कार्य 31 मार्च से पहले पूरा होगा। 7 जुलाई 2011 को मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने इस ओवरब्रिज का शिलान्यास किया था। इस फ्लाईओवर के लिए सांसद नवीन जिंदल काफी समय से प्रयासरत रहे थे। ओव्ररब्रिज निर्माण कार्य के शुरू होने पर सुंदरपुर रोड से निकले वाला हैवी ट्रैफिक रुक गया था और डेढ़ वर्ष से लोगों को परेशानी हो रही थी। मार्ग खुलने से सबसे बड़ा लाभ कुरुक्षेत्र के अर्बन इस्टेट के सेक्टरों और हाउसिंग बोर्ड कालोनी से कुरुक्षेत्र यूनिवर्सिटी और एनआईटी के लिए आवाजाही करने वाले लोगों को होगा। क्योंकि कुरुक्षेत्र में ऐसे लोगों की बड़ी संख्या है, जोकि सेक्टरों से इन दो शिक्षण संस्थाओं के अलावा अन्य विभागों में काम करने वाले इसी रास्ते से आवाजाही करते हैं। वहीं, इस ओवरब्रिज के दोनों किनारों पर बसी कालोनियां व आसपास स्थित गांवों तथा बस्तियों के लोगों भी लाभ मिलेगा।

सूर्यग्रहण मेले और गीता जयंती पर मिलेगी राहत
मेलों, उत्सवों और अन्य आयोजनों का दौर कुरुक्षेत्र में सालभर रहता है और ऐसे मौकों पर फ्लाईओवर चालू होने के बाद ट्रैफिक की स्थिति से निपटने में राहत मिलेगी। खास तौर पर कुरुक्षेत्र में हर साल होने वाले गीता जयंती कुरुक्षेत्र उत्सव और खास मौके पर होने वाले सूर्यग्रहण मेले में यह फ्लाईओवर कारगर सिद्ध होगा।

जीटी रोड सीधा जुडे़गा ब्रह्म सरोवर से
कुरुक्षेत्र की लाइफ लाइन कहे जाने वाले नंदा रोड का बोझ तो घटेगा ही, साथ में अमीन, पलवल, खासपुर, गोबिंदगढ़, सलारपुर, किरमिच और आसपास के अन्य गांवों को काफी फायदा होगा। अब शहर के बाहर से ही पिहोवा, कैथल और हिसार के लिए बड़े वाहन सीधे निकल सकेंगे। यह फ्लाईओवर (रेल ओवरब्रिज) जीटी रोड को सीधे ब्रह्म सरोवर से जोड़ देगा, जिससे तीर्थयात्रियों को राहत मिलेगी। सांसद नवीन जिंदल के प्रयासों से तैयार होने वाला यह फ्लाईओवर कुरुक्षेत्र की सूरत बदल देगा, क्योंकि इसके साथ ही पर्यटन और कृषिगत उद्योगों को बढ़ावा देने वाली सीढ़ी तैयार हो जाएगी।

अवधि से पहले पूरा होगा निर्माण
परियोजना के एसडीओ कुलदीप चंद ने बताया कि इस फ्लाईओवर को तैयार करने की डेडलाइन 1 जुलाई है, लेकिन हमें भरोसा है कि 31 मार्च तक विभाग इसे लोकार्पण के लिए सरकार को सौंप देगा।

लागत राशि में हो चुका है इजाफा
सुंदरपुर आरओबी निर्माण का काम सरकार ने 2 जुलाई 2011 को लोकनिर्माण विभाग को सौंपा था। उसे 1 जुलाई 2013 तक यह कार्य पूरा करके देना है, लेकिन फ्लाईओवर लगभग तैयार है। संभावना है कि 31 मार्च तक इसे सरकार को सौंप दिया जाए। इसका शिलान्यास पिछले साल जुलाई को किया गया गया था। तब इसकी अनुमानित लागत 37 करोड़ 58 लाख 55 हजार 195 रुपये थी, जो बाद में बढ़कर 46 करोड़ 34 लाख 92 हजार हो गई। इसमें रेलवे की हिस्सेदारी 20 करोड़ 61 लाख एक हजार रुपये और राज्य सरकार की हिस्सेदारी 25 करोड़ 73 लाख 91 हजार रुपये तय की गई। पंचकूला की एक कंपनी ने इस निर्माण कार्य का ठेका लिया।

943 मीटर लंबा है फ्लाईओवर
साइट सुपरवाइजर सुनील कुमार के मुताबिक यह फ्लाईओवर 943 मीटर (एक किलोमीटर में मात्र 57 मीटर कम) लंबा है। फ्लाईओवर के निर्माण शुरू होने से लगातार कार्य युद्धस्तर पर जारी है। उनका कहना है कि इस फ्लाईओवर का निर्माण कार्य मार्च अंत पूरा हो जाएगा।

Spotlight

Most Read

Dehradun

आरटीओ में गोलमाल, जांच शुरू

आरटीओ में गोलमाल, जांच शुरू

21 जनवरी 2018

Related Videos

हरियाणा में इस नौकरी के लिए उमड़ा बेरोजगारों का हुजूम

हरियाणा में बेरोजगारी का क्या आलम है, ये देखने को मिला करनाल में। दरअसल मंगलवार को करनाल में ईएसआई हेल्थ केयर में चपरासी के 70 पदों के लिए प्रदेश भर से हजारों युवाओं की भीड़ उमड़ पड़ी।

17 जनवरी 2018

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper