किसी हाल नहीं झेलेंगे अब उत्पीड़न

Karnal Updated Thu, 29 Nov 2012 12:00 PM IST
करनाल। अनुसूचित जाति व पिछड़ा वर्ग के कर्मियों ने अब अपने अधिकाराें के लिए कड़ा रूख अपना लिया है। दोनों वर्गों के कर्मियों ने खुले तौर पर कहा कि दोनों वर्गों के एकजुट होने के बाद कोई ताकत उन लोगों से नहीं टकरा पाएगी। खासकर सरकारी कर्मियों का उत्पीड़न करने वाले अधिकारियों के खिलाफ अब विरोध का बिगुल बजाने में देरी नहीं होगी। इतना ही नहीं दोनों वर्गों के प्रतिनिधियों ने सामाजिक तौर पर दलित और पिछड़ा के उत्पीड़न पर भी कड़ी प्रतिक्रिया की है। उन लोगों ने कहा अब शोषण और उत्पीड़न करने वाले लोगों के खिलाफ कड़ी से कड़ी कार्रवाई की जाएगी।
बुधवार को इस बात पर शहर के कर्ण पार्क में आयोजित सेवा स्तंभ संगठन के बैनर तले आयोजित बैठक में तय की गई। बैठक में दोनों पक्षों के काफी लोग एकत्रित हुए। इन लोगों ने बैठक में दोनों वर्गों के कर्मियों और लोगों के साथ होने वाले शोषण और उत्पीड़न पर विस्तार से चर्चा की गई। बैठक में मौजूद लोगों ने कहा कि एकजुट हुए बिना कोई चारा उन लोगों के पास नहीं है। वह लोग अब अपने संगठन को मजबूत करने पर ध्यान देंगे। उनका दोनों वर्गों के लोगों से आग्रह है कि वह अधिक से अधिक संख्या में संगठन के साथ जुडे़ और मजबूती का परिचय दे। उन लोगों ने साथ ही यह भी कहा कि संगठन दोनों वर्गाें में शामिल किसी व्यक्ति को भी गलत करने के लिए इजाजत नहीं देता है। हां ज्यादती किसी हाल में बर्दाश्त नहीं होगी।
डा. भीमराव अंबेडकर और महात्मा ज्योतिबा राव फूल व शहीद उद्यम सिंह सरीखे महान लोगों के दिखाए मार्ग का अनुसरण करने का प्रयास किया जाएगा। समय-समय पर ऐसे महान लोगों के सम्मान और याद में संयुक्त कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे। बैठक की अध्यक्षता करते हुए सेवा स्तंभ के जिला शाखा के वरिष्ठ उपाध्यक्ष विश्वपाल ने कहा अब दोनों वर्गों के लोगों को एक मंच नपर लाने का प्रयास प्रारंभ हो गया है, जो सकारात्मक रहेगा। बैठक में मुख्य तौर पर संगठन के राज्य अध्यक्ष सूबेसिंह, प्रदेश संयोजक सेवा राम बालू, वरिष्ठ उपाध्यक्ष बीपी भट्टी, रामशरण, जयभगवान भौरिया, केबी दुगल, सुभाषचंद, संतोष कश्यप, पवन जोगी, डा. केसी चड्डा, सुमेर रंगा समेत काफी लोग मौजूद रहे।

Spotlight

Most Read

Lucknow

यूपी दिवस: प्रदेश को 25 हजार करोड़ की योजनाओं की सौगात, योगी बोले- आज का दिन गौरवशाली

यूपी दिवस के मौके पर प्रदेश को सरकार ने 25 हजार करोड़ करोड़ की योजनाओं की सौगात दी। मुख्यमंत्री योगी ने आज के दिन को गौरवशाली बताया।

24 जनवरी 2018

Related Videos

हरियाणा में इस नौकरी के लिए उमड़ा बेरोजगारों का हुजूम

हरियाणा में बेरोजगारी का क्या आलम है, ये देखने को मिला करनाल में। दरअसल मंगलवार को करनाल में ईएसआई हेल्थ केयर में चपरासी के 70 पदों के लिए प्रदेश भर से हजारों युवाओं की भीड़ उमड़ पड़ी।

17 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls