इस्माईलाबाद में मिली पटियाला से गुमशुदा

Karnal Updated Mon, 26 Nov 2012 12:00 PM IST
इस्माईलाबाद। ‘बेटी को जन्म देने पर मुझे ससुराल वालों ने ठुकरा दिया और आर्थिक स्थिति नाजुक होने के कारण मायके वालों ने भी शरण नहीं दी।’ यह आरोप शनिवार को ग्राम पंचायत के सामने पूजा रानी ने लगाया। खास बात यह है कि उक्त पूजा की ससुराल और मायका पंजाब में है और इस समय कस्बा इस्माईलाबाद की नारायणगढ़ कालोनी में शरण लिए हुए है। बहरहाल ग्रामीणों के कहने पर पूजा को यहां शरण तो मिली है। इस्माईलाबाद के कुछ गणमान्य लोगों ने इस संदर्भ में कस्बे के पुलिस थाने में सूचना दी है। वहीं इस बारे में पता चला है कि इस महिला की गुमशुदगी की रिपोर्ट पटियाला में दर्ज है, मगर शाम तक पटियाला से कोई व्यक्ति पूजा की सुध लेने नहीं पहुंचा था। पूजा के मुताबिक पटियाला की दर्शना कालोनी में उसका ससुराल है। महिला का कहना है कि पांच साल पहले उसका विवाह उक्त कालोनी वासी बबलू के साथ हुआ था। इस युवती ने बताया कि उसका पति व ससुराल वाले उससे लगातार मारपीट करते आ रहे हैं। पूजा ने बताया कि उसके पास सुनैना नामक एक साल की बच्ची है। पूजा ने आरोप लगाया कि बेटी होने के कारण ससुराल वाले व पति उसे तंग करते आ रहे हैं। ससुराल वाले उस पर बेटा पैदा करने का दबाव ही बनाते आ रहे हैं। पूजा के अनुसार उसके पास बेटी होने के कारण पंजाब के गोबिंदगढ़ में रहने वाले उसके मायके वाले भी अपनाने को तैयार नहीं हैं। रविवार को नारायणगढ़ नगर कालोनी वासी सुखविंदर सिंह उक्त महिला को लेकर पुलिस थाने पहुंचा। पुलिस ने पटियाला पुलिस से संपर्क साधा। इस्माईलाबाद पुलिस ने जानकारी हासिल कर बताया कि पटियाला में पूजा की गुमशुदगी की रिपोर्ट उसके ससुरालवालों ने दर्ज करवाई है। सरपंच अंजू कंसल और उनके पति बिट्टू कंसल ने बताया कि सोमवार को ग्राम पंचायत मामले को एसडीएम पिहोवा कमलप्रीत के संज्ञान में लाएगी।

Spotlight

Most Read

Bihar

चारा घोटाला: लालू और जगन्नाथ मिश्रा को 5 साल की सजा, कोर्ट ने 5 लाख का लगाया जुर्माना

पूर्व रेल मंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के खिलाफ सीबीआई की विशेष अदालत ने बड़ा फैसला सुनाया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

हरियाणा में इस नौकरी के लिए उमड़ा बेरोजगारों का हुजूम

हरियाणा में बेरोजगारी का क्या आलम है, ये देखने को मिला करनाल में। दरअसल मंगलवार को करनाल में ईएसआई हेल्थ केयर में चपरासी के 70 पदों के लिए प्रदेश भर से हजारों युवाओं की भीड़ उमड़ पड़ी।

17 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls