पंचायती जमीन मलकीयत दिखा लाखों ऐंठे

Karnal Updated Tue, 06 Nov 2012 12:00 PM IST
गुहला-चीका। पंजाब के सन्नौर निवासी एक व्यक्ति ने गांव कमहेड़ी में खरीदी गई जमीन को लेकर उसके साथ 59 लाख 50 हजार रूपये की धोखाधड़ी होने का आरोप लगाया है। इस संबंध में उसने एसपी को शिकायत देकर कार्रवाई की मांग की है। पत्रकारों को दिए शपथ पत्र में पंजाब के सन्नौर गांव वासी सतीश कुमार ने बताया कि इसी साल फरवरी माह में गांव खरकड़ा व चीका चार प्रॉपर्टी डीलरों ने कई अन्य लोगों के साथ मिलकर कथित तौर पर पंचायती जमीन को अपनी मलकीयत दिखाकर उनसे लाखाें रुपये एेंठ लिए। उन्हाेंने शिकायत में आरोप लगाया कि उक्त लोगाें ने पटवारी के साथ कथित मिलीभगत करके जमीन की जाली फर्द तैयार की व मेरे साथ जमीन का सौदा 40 लाख 50 हजार रुपये प्रति एकड़ के हिसाब से किया था, जिसके आधार पर उसने बतौर ब्याना 59 लाख 50 हजार रुपये उन्हें दे दिए। रजिस्टरी का समय नजदीक आने पर जब गुहला तहसील से इस जमीन के बारे में तशदीक की तो कार्यालय में मौजूद तहसीलदार गुहला ने बताया कि यह जमीन किसी की मलकियत न होकर पंचायती है। इस पर न्यायालय द्वारा स्टे लगाया हुआ है जिसे न तो बेचा जा सकता है और न ही खरीदा जा सकता है। उन्होंने बताया कि डीलरों ने अपने आप को जमीन का मालिक बताने वाले लोगाें के साथ मिलकर इस धोखाधड़ी को अंजाम दिया। पीड़ित ने बताया कि जब उन्हाेंने इस बारे में जमीन विक्रेता व डीलराें से बात की तो उन्हाेंने कहा कि आपको इससे कुछ लेना-देना नहीं है।
इस संबंध में थाना चीका प्रभारी वीरेंद्र सिंह ने कहा कि मैंने हाल ही में कार्यभार संभाला है। जमीन बेचने को लेकर धोखाधड़ी करने की एक शिकायत जिला पुलिस कप्तान के माध्यम से हमारे पास आई है। मामले की पूरी तरह तहकीकात की जाएगी। जमीन में धोखाधड़ी करने वाले किसी भी आरोपी को बख्शा नहीं जाएगा।
इस बारे में नायब तहसीलदार गुहला नवदीप नैन ने कहा कि जमीन की रजिस्टरी को लेकर पंजाब के कुछ लोग हमारे पास आए थे। लेकिन उक्त जमीन की जांच करने पर पता चला है कि अदालत द्वारा स्टे दिया हुआ है जिसकी रजिस्टरी करना राजस्व विभाग के अधिकार क्षेत्र की बात नहीं है। जमीन पर अदालत द्वारा स्टे लगाने के बाद किसी भी जमीन को खरीदना व बेचना गैर कानूनी है।

Spotlight

Related Videos

हरियाणा में इस नौकरी के लिए उमड़ा बेरोजगारों का हुजूम

हरियाणा में बेरोजगारी का क्या आलम है, ये देखने को मिला करनाल में। दरअसल मंगलवार को करनाल में ईएसआई हेल्थ केयर में चपरासी के 70 पदों के लिए प्रदेश भर से हजारों युवाओं की भीड़ उमड़ पड़ी।

17 जनवरी 2018

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper