चाइनिज आइटम के सामने फीकी पड़ी देशी की रंगत

Karnal Updated Tue, 06 Nov 2012 12:00 PM IST
करनाल। दीवाली के लिए अब बाजारों में खरीदारी होने लगी है। दीवाली के दिन घरों और संस्थानों में बेहद सुंदर जगमगाहट करने के लिए जहां बाजारों में दुनिया भर का इलेक्ट्रानिक सामान मौजूद है, वहीं दूसरी ओर मेहमान नवाजी और गिफ्ट देने के लिए क्राकरी का सामान भी लोगों को खूब भा रहा है। घरों को सुंदर बनाने के लिए सजावट का सामान बेचने वाली दुकानों में भी खासी भीड़ उमड़ने लगी है। हर आइटम में उपलब्ध चाइनिज सामान बाजार में भारतीय सामान पर हावी है। चाइनिज सामान की चमक धमक और सस्ता होना लोगों को आकर्षित कर रहा है। वह अलग बात है की मजबूती के मामले में वह भारतीय सामान के सामने नहीं टिक पाता है। बाजार में भारतीय देवी देवताओं की मूर्तियां तक चाइना से आ रही है। आलीशान कोठियों से लेकर आम घरों और संस्थानों को सजाने तक के लिए शहर के बाजार में एक से बढ़कर एक आइटम उपलब्ध है।

इस तरह के आइटम बाजार में
कलरफुल मोतिया वाली बिंदर वाल, मनकों के साथ मिरर वाली चमकती बिंदरवाल, गोल्डन और सिल्वर कलर के घोटे वाली बिंदरवाल व लटकन, करीब 20 डिजाइन के कलश, भगवान गणेश व मां लक्ष्मी के स्वरूप के कलश, झूमर समेत काफी सामान बाजार की करीब 500 दुकानों पर उपलब्ध है। दीवाली के लिए विशेष तौर पर इस सामान को बेचने के नाम पर जाने जाने वाले कर्णगेट के वीर जनरल स्टोर के मालिक अरमिंद्र सिंह के अनुसार चाइनिज सामान की बाजार में धूम है, लेकिन वह लोग यह माल नहीं रखते। वह लोग अपना ग्राहक नहीं खराब करना चाहते हैं। दस रुपये से लेकर करीब डेढ़ हजार तक की कीमत का सामान उन लोगों के पास है। जो लोगों के घरों को बेहद सुंदर ढंग से सजाने के लिए उपलब्ध है।

गिफ्ट आइटम की भी मची धूम
दीवाली के पर्व पर हर घर में मेहमान नवाजी होती है। हर व्यक्ति अपने निकट संबंधियों को इस अवसर पर उपहार प्रदान करने की परंपरा निभाने का प्रयास करता है। कुछ लोग बाजार में ऐसे गिफ्ट अपने चाहने वालों के लिए खोजते हैं, जो कुछ दिनों के लिए उनकी याद ताजा कराए रखे। ऐसे में लोगों के दिमाग में क्राकरी की आइटम भी आती है। इसके लिए बाजार सज गए हैं। क्राकरी की आइटम में ब्रांडेड में कैटल, पुडिंग सेट, ग्लास, लेमन सेट, डिनर सेट व थरमोवेयर के टिफिन समेत बाजार में सैकड़ों वैरायटी उपलब्ध है।

ब्रांडेड कंपनियों के आइटम भी बाजार में
ब्रांडेड कंपनियों के नाम का जिक्र करे तो मिल्टन, येरा और लेजर समेत कई कंपनियों की पहचान खासी है। शहर के मून क्राकरी शॉप के मालिक चित्तरंजन बत्तरा के अनुसार इंडियन माल के सामने चाइनिज माल क्वालिटी के हिसाब से तो नहीं टिक पाता, लेकिन चमक धमक और सस्ता होने के कारण लोगों के बीच जगह बनाए हुए है। वह लोग नहीं बेचते अलग बात है, लेकिन खरीदारी के समय ग्राहकों की खराब हो जाती है। वह लोग चाइनिज पर टूट पड़ते हैं। उनके पास 100 रुपये से लेकर 3000 हजार रुपये तक की आइटम उपलब्ध है।

25 रुपये में बिजली की लड़ी
दीवाली के दिन घरों और संस्थानों में जगमगाहट करने के लिए शहर में करीब एक हजार दुकानों पर माल उपलब्ध है। कई करोड़ रुपये का कारोबार होने की उम्मीद है। 25 रुपये की बिजली की लड़ी से लेकर जगमगाने वाले दीये, जलते हुए दौड़ने वाले दीये, इलेक्ट्रानिक ओम, शुभ लाभ के लिए बना सातिया, कैंडल, बार्डर और अन्य कई आइटम बाजार में उपलब्ध है। इस बार लेजर लाइट का कारोबार बाजार में कुछ अधिक है। लोग इसे नई आइटम मानने के साथ खास क्रेज से खरीद रहे हैं। इसमेें दुनिया भर के डिजाइन है, जो दो हजार रुपये की कीमत तक के है।

चाइनिज की बढ़ रही है मांग
हां, चाइनिज माल बाजार में उपलब्ध है। उनकी दुकान पर भी थोड़ा बहुत माल है। पिछले साल चाइनिज का काफी क्रेज था। इस बार ऐसा नहीं है। बहुत कम लोगों में डिमांड है। वह लोग भी माल कम लाए है। ग्राहक की डिमांड पर ही माल दिखाया जाता है। इस समय दीवाली के लिए 500 रुपये से लेकर 2500 रुपये तक की वॉल क्लॉक, तीन सौ रुपये से लेकर डेढ़ हजार रुपये तक लक्ष्मी गणेश, हनुमान व अन्य देवी देवताओं की मूर्तियंा, लक्की मैन, कप्पल, हाथी व अन्य बहुत से गिफ्ट आइटम उपलब्ध है।
पवन कुमार, प्रोपराइटर
पुष्पांजलि आर्ट इंपोरियम
नेहरू पैलेस, करनाल

Spotlight

Most Read

Bihar

चारा घोटाला: लालू और जगन्नाथ मिश्रा को 5 साल की सजा, कोर्ट ने 5 लाख का लगाया जुर्माना

पूर्व रेल मंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के खिलाफ सीबीआई की विशेष अदालत ने बड़ा फैसला सुनाया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

हरियाणा में इस नौकरी के लिए उमड़ा बेरोजगारों का हुजूम

हरियाणा में बेरोजगारी का क्या आलम है, ये देखने को मिला करनाल में। दरअसल मंगलवार को करनाल में ईएसआई हेल्थ केयर में चपरासी के 70 पदों के लिए प्रदेश भर से हजारों युवाओं की भीड़ उमड़ पड़ी।

17 जनवरी 2018