डेयरी फार्मिंग के विकास को आए दस देशों के वैज्ञानिक

Karnal Updated Mon, 05 Nov 2012 12:00 PM IST
घरौंडा (करनाल)। दस देशों के 27 वैज्ञानिकों का एक दल रविवार को गांव अराईपुरा में पहुंचा। वैज्ञानिकों का गांव में पहुंचने पर जोरदार स्वागत किया गया। दल ने डेयरी फार्मिंग के विकास के लिए गांव में इंटरनेशनल लाइव स्टोक संस्थान और राष्ट्रीय डेयरी अनुसंधान संस्थान की ओर से चलाई गई योजना के बारे में पशुपालकों से पशुओं के स्वास्थ्य, दूध उत्पादन व दूध के रखरखाव से जुड़ी जानकारी हासिल की।
उन्होंने डेयरी फार्मिंग के दौरान पशुपालकों को आने वाली समस्याएं भी जानीं। इस दौरान एनडीआरआई के निदेशक एके श्रीवास्तव ने कहा कि पशुपालकाें को जल्द ही मिल्क प्रोसेसिंग की जानकारी दी जाएगी। एनडीआरआई व इलरी संस्था की ओर से गंाव अराईपुरा में आयोजित कार्यक्रम में शिरकत करने पहुंचे वैज्ञानिकाें ने डेयरी फार्मिंग को लेकर अपने अनुभव ग्रामीणों से साझा किए।

इन देशों के वैज्ञानिक पहुंचे
दल में मलेशिया, जिम्बावे, जर्मनी, नार्वे, कनाडा, केन्या, यूएसए, फिलीपिंस, सेनगल, इथोपिया और ब्रिटेन देशों से खतीजा युसुफ, लिडिंवे एम सिबांदा, निवेश कांफेशर, डिइटर सलीगंर, लोरने ए बाबुइक, चेख ली, वोनड्राड मैंडफ्रो, कुंट होवें, जिम्मी स्मिथ, चैरमिन, सुजैने पिटरशन, नैलशन काबरू, रोडने कुक, सरले सहित लगभग 27 वैज्ञानिकों के दल ने गांव में निरीक्षण किया। दल ने गांव के पशुपालक सतीश कुमार, पूनम, मंजीत, सतपाल व देवेंद्र के पशुओं के स्वास्थ्य का चेकअप किया और पशुओं से जुड़ी बीमारियों की समस्याएं सुनीं।

...और आई मृत्यु दर में कमी
पशुपालकों ने दल के वैज्ञानिकों बताया कि जब से गांव में एनडीआरआई व इलरी ने योजना लागू की है। इसके बाद पशुओं की मृत्यु दर में कमी आई है और दूध का उत्पादन भी बढ़ा है और गांव के बेरोजगारों को रोजगार भी मिला है, लेकिन दूध को स्टोर करने के लिए कोई विशेष व्यवस्था नहीं है। पशुपालकों ने दल से मांग की कि दूध उत्पादन अधिक होने के साथ गांव में पनीर, खोआ व दूध से बनने वाले वस्तुओं के लिए मशीनों की व्यवस्था की जाए, ताकि गांव में और आमदनी के साधन बन सकें।

योजनाओं से मिला पशुपालकों को फायदा
एनडीआरआई के निदेशक एके श्रीवास्तव ने कहा कि एनडीआरआई व इलरी ने किसानों की समस्याओं को साझा किया और उनका समाधान करने का काफी प्रयास किया। इसमें काफी सफलता हासिल हुई। उन्होंने कहा कि पशुओं में काफी बीमारियां रहती थीं और पशुओं की मृत्यु दर भी बढ़ रही थी, लेकिन अब पशुओं की मृत्यु दर में कमी आ रही है और पशु भी स्वस्थ रहते हैं। उन्हाेंने बताया कि किसानों को खुशहाल करने के लिए अनेक योजनाएं चलाने का प्रयास किया जा रहा है।

सबसे ज्यादा पशु धन भारतीयों के पास
इलरी की निदेशक पूर्वी मेहता ने बताया कि दुनिया भर में सबसे ज्यादा पशुधन भारतीय पशुपालकों के पास है। इंटरनेशनल स्टोक संस्थान पशुधन के लिए पूरे विश्व में कार्य करता है। गांव अराईपुरा में चल रही योजना के सार्थक परिणाम सामने आए हैं। उन्हाेंने बताया कि इस प्रकार का दल भारत में भ्रमण करने के लिए पहली बार पहुंचा है।

2011 में अरोईपुरा में शुरू हुई थी योजना
एनडीआरआई व इलरी की ओर से गांव अराईपुरा में जुलाई 2011 से पशुपालकों के विकास के लिए व पशुओं की मृत्यु दर में कमी करने के लिए डेयरी फार्मिंग योजना को शुरू किया था। योजना के तहत ग्रामीण पशुपालकों को पशुओं के स्वास्थ्य से जुड़ी जानकारी दी गई। साथ ही दूध का उत्पादन बढ़ाने के तरीकों के बारे में बताया गया। इस दौरान पशुआें को कीड़े मार दवाई व मिनरल मिक्सचर दिया गया। इसके फलस्वरूप गांव में पशु मृत्यु दर 62 प्रतिशत से घटकर 20 प्रतिशत पर पहुंच गई।

सरपंच ने किया वैज्ञानिकों का स्वागत
इससे पहले गांव के सरपंच अजय सिंह राणा ने वैज्ञानिकों के गांव में पहुंचने पर आभार व्यक्त किया। उन्होंने कहा कि इलरी व एनडीआरआई ने संयुक्त रूप से गांव के किसानों को डेयरी पशुपालकों व फसलें उगाने की नई विधियों की जानकारी दी है। इस कार्य को गांव में क्रमबद्ध तरीके से गांव में चलाया। इससे गांव के लोगों को काफी फायदे हुए। उन्होंने एनडीआरआई से मांग की कि गांव में और प्रशिक्षण केंद्र खोले जाएं।

Spotlight

Most Read

Kanpur

बाइकवालाें काे भी देना हाेगा टोल टैक्स, सरकार वसूलेगी 285 रुपये

अगर अाप बाइक पर बैठकर आगरा - लखनऊ एक्सप्रेस वे पर फर्राटा भरने की साेच रहे हैं ताे सरकार ने अापकी जेब काे भारी चपत लगाने की तैयारी कर ली है। आगरा - लखनऊ एक्सप्रेस वे पर चलने के लिए सभी वाहनों को टोल टैक्स अदा करना होगा।

17 जनवरी 2018

Related Videos

हरियाणा में इस नौकरी के लिए उमड़ा बेरोजगारों का हुजूम

हरियाणा में बेरोजगारी का क्या आलम है, ये देखने को मिला करनाल में। दरअसल मंगलवार को करनाल में ईएसआई हेल्थ केयर में चपरासी के 70 पदों के लिए प्रदेश भर से हजारों युवाओं की भीड़ उमड़ पड़ी।

17 जनवरी 2018

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper