धान में ब्लास्ट, किसान परेशान

Karnal Updated Thu, 25 Oct 2012 12:00 PM IST
करनाल। धान में न सूखे की मार और न ही पानी की। ब्लास्ट बीमारी ने ऐसा झटका दिया कि किसान इस बीमारी से धान को बचाव भी नहीं कर पाए। यह ब्लास्ट असंध क्षेत्र के अरड़ाना गांव में आया है। जहां पर सैकड़ों एकड़ में लगी ‘धान 1121’ फसल तबाह हो गई है। किसान परेशान हैं और कृषि विभाग के अधिकारियों को ब्लास्ट की जानकारी ही नहीं है।
किसानों का कहना है कि फसल खराब होने से उजड़ गए हैं और इस घाटे को पूरा करने में कई वर्ष बीत जाएंगे। किसानों का कहना है कि दो दिन से यह बीमारी आई है। धान फूस बन गई है। यदि सरकार ने मुआवजा नहीं दिया तो किसान कर्ज मुक्त हो जाएंगे। लाखों रुपये खर्च कर फसल तैयार की थी। खर्चे पूर करने का टाइम आया तो बीमारी फसल को ले बैठी। कृषि विभाग के अधिकारियों का कहना है कि बुधवार को फोन के माध्यम से ब्लास्ट बीमारी की जानकारी मिली है। गुरुवार को असंध से टीम को गांव में भेजा जाएगा और फील्ड का दौरा करेंगे।
वायरस की तरह फैलती है बीमारी
कृषि विशेषज्ञों का कहना है कि ब्लास्ट बीमारी वायरस की तरह फैलती है। एक कोने से शुरू होकर पूरी फसल को तबाह करती है और फिर आगे बढ़ती रहती है। इस बीमारी से बचाव के लिए दवाई मार्केट में है। वैसे भी ब्लास्ट बीमारी फसल के पकने पर आती है। ऐसे में फसल को कटवा देना चाहिए। इससे बीमारी क्षेत्र में आगे नहीं बढ़ती। गांव अरड़ाना के किसान जयभगवान शर्मा, भीम शर्मा, ईश्वर कश्यप, रामफल, विष्णु, जीत राणा, सुभाष, सत्यवान आदि कहते हैं कि गांव के अधिकतर किसानों की फसल खराब हो गई। फसल पर आस लगाए बैठे थे, लेकिन अब खर्चे भी पूर नहीं हो रहे हैं। यदि प्रशासन ने मुआवजा नहीं दिलाया तो किसानों पर लाखों का कर्जा हो जाएगा और किसानों को पैसा कहीं से नहीं मिलेगा तो आगे से फसल कहां से उगाएगा।
बीमारी की जानकारी नहीं
गांव अरड़ाना में ब्लास्ट बीमारी के बार में जानकारी नहीं है। गुरुवार को टीम भेजकर रिपोर्ट बनाई जाएगी। किसानों को इस बीमारी के आने पर फसल कटवा लेनी चाहिए। दो से तीन दिन में ब्लास्ट बीमारी से फसल फूस बन जाती है। किसानों को फसल के प्रति सावधानी बरतने संबंधित जानकारी देते रहते हैं।
सुरेश गहलावत, उप निदेशक, कृषि विभाग करनाल।

Spotlight

Most Read

Bihar

चारा घोटाला: लालू और जगन्नाथ मिश्रा को 5 साल की सजा, कोर्ट ने 5 लाख का लगाया जुर्माना

पूर्व रेल मंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के खिलाफ सीबीआई की विशेष अदालत ने बड़ा फैसला सुनाया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

हरियाणा में इस नौकरी के लिए उमड़ा बेरोजगारों का हुजूम

हरियाणा में बेरोजगारी का क्या आलम है, ये देखने को मिला करनाल में। दरअसल मंगलवार को करनाल में ईएसआई हेल्थ केयर में चपरासी के 70 पदों के लिए प्रदेश भर से हजारों युवाओं की भीड़ उमड़ पड़ी।

17 जनवरी 2018