कलायत का विकास नहीं होने की टीस

Karnal Updated Tue, 02 Oct 2012 12:00 PM IST
कलायत। शिक्षा मंत्री गीता भुक्कल ने सोमवार को कलायत स्थित अपने आवास पर पत्रकारों से बात करते हुए कहा कि आरोही स्कूलों की विश्वसनीयता बनाए रखने के लिए अध्यापकों का अलग कैडर बनाया गया है। उन्होंने बताया कि इन स्कूलों में बहाल हुुए अध्यापकों की नौकरी स्थिर रहेगी और उनका स्थानांतरण भी नहीं होगा।
शिक्षा मंत्री ने कहा कि हरियाणा को शिक्षा का हब बनाया जा रहा है। प्रदेश में अनेक शिक्षण संस्थान खोले गए हैं। उन्होंने कहा कि शिक्षा के क्षेत्र में पिछड़ा होने के कारण कलायत विकास की दौड़ में थोड़ा पीछे है। इसके लिए उनके मन मेें टीस है। मौका मिलते ही कलायत में सरकारी कालेज बनवा कर रहेंगी। उन्होंने कहा कि क्षेत्र विशेष की तरक्की को लेकर विपक्ष सरकार पर बेबुनियाद आरोप लगा रहा है। जिला कैथल के विकास का चिट्ठा खोलते हुए उन्होंने कहा कि पूरे जिला के विकास के लिए अनेक योजनाओं परियोजनाओं को लागू किया जा रहा है। भुक्कल ने कहा कि इनेलो ने प्रदेश में बिजली का एक भी कारखाना नहीं लगाया और जबकि कांग्रेस सरकार बिजली समस्या के स्थायी समाधान के लिए परमाणु संयंत्र लगाना चाहती है, तो विपक्ष इसका विरोध कर रहा है। रिटेल क्षेत्र में प्रत्यक्ष विदेशी निवेश (एफडीआई) का समर्थन करते हुए गीता ने कहा कि एफडीआई से किसान को लाभ होगा। इससे पूर्व भुक्कल ने क्षेत्र की जनता की समस्याओं से रूबरू होते हुए समाधान का आश्वासन दिया।

Spotlight

Most Read

Jharkhand

चारा घोटाला: चाईबासा कोषागार मामले में कोर्ट ने सुनाया फैसला, तीसरे केस में लालू दोषी करार

रांची स्थित विशेष सीबीआई अदालत ने चारा घोटाले के तीसरे मामले में बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और आरजेडी के अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव को दोषी करार दिया है। साथ ही पूर्व सीएम जगन्नाथ मिश्रा को भी दोषी ठहराया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

हरियाणा में इस नौकरी के लिए उमड़ा बेरोजगारों का हुजूम

हरियाणा में बेरोजगारी का क्या आलम है, ये देखने को मिला करनाल में। दरअसल मंगलवार को करनाल में ईएसआई हेल्थ केयर में चपरासी के 70 पदों के लिए प्रदेश भर से हजारों युवाओं की भीड़ उमड़ पड़ी।

17 जनवरी 2018