वीआईपी ट्रीटमेंट का आरोप: युवराज सिंह को हरियाणा पुलिस ने किया गिरफ्तार, पूछताछ के बाद छोड़ा, जानें क्या है मामला

संवाद न्यूज एजेंसी, हांसी/हिसार (हरियाणा) Published by: भूपेंद्र सिंह Updated Sun, 17 Oct 2021 09:16 PM IST

सार

क्रिकेटर युवराज सिंह पर अनुसूचित जाति समाज के बारे में अपमानजनक टिप्पणी करने के का आरोप है। इस मामले में रजत कलसन ने पुलिस को शिकायत दे रखी है।
युवराज सिंह
युवराज सिंह - फोटो : सोशल मीडिया
विज्ञापन
ख़बर सुनें

विस्तार

अनुसूचित जाति समाज के बारे में अपमानजनक टिप्पणी करने के मामले में क्रिकेटर युवराज सिंह को हांसी (हिसार, हरियाणा) पुलिस ने शनिवार को गिरफ्तार किया। युवराज सिंह से हिसार स्थित पुलिस विभाग की गजेटिड ऑफिसर मैस में पूछताछ की गई और बाद में हाईकोर्ट के निर्देशानुसार उसे जमानत पर छोड़ा गया।
विज्ञापन


उधर, शिकायतकर्ता रजत कलसन ने आरोप लगाया है कि युवराज सिंह को हरियाणा पुलिस ने पूरा वीआईपी ट्रीटमेंट दिया। उसके साथ सेल्फी खिंचवाई गईं। ऑफिसर मैस में जूस व स्नेक्स खिलाए गए।


रजत ने बताया कि उन्होंने पंजाब एवं हरियाणा हाईकोर्ट के युवराज सिंह को अंतरिम जमानत दिए जाने के आदेश को सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी है। उनकी पूरी कोशिश रहेगी कि जो सेलिब्रेटी व वीआईपी आपत्तिजनक शब्दों से अपमान करते है, उन्हें जेल भेजकर एक सख्त संदेश दिया जाए।

यह भी पढ़ें: हरियाणा की बड़ी खबरें: सोनीपत में पुलिस को निहंगों की धमकी, एचएयू के वैज्ञानिकों ने बनाया ई–ट्रैक्टर

पूछताछ के बाद हांसी पुलिस अब युवराज सिंह के खिलाफ अदालत में चालान पेश करेगी। इसके बाद युवराज सिंह को विशेष अदालत से नियमित जमानत भी हासिल करनी पड़ेगी। युवराज सिंह को हिसार की अनुसूचित जाति व जनजाति अत्याचार अधिनियम के तहत स्थापित विशेष अदालत में हर पेशी में आना होगा। अपराध साबित होने पर उसे 5 साल की सजा भी हो सकती है। 
युवराज सिंह ने जांच में सहयोग किया। उसे पहले भी दो बार जांच में से शामिल कर चुके हैं। हाईकोर्ट के निर्देश पर उसे बेल पर छोड़ दिया गया है। 
- विनोद शंकर, डीएसपी, हांसी।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन
सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें हर राज्य और शहर से जुड़ी क्राइम समाचार की
ब्रेकिंग अपडेट।
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन
विज्ञापन

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00