अग्निकांड पीड़ितों ने राजनीतिकों को झकझोरा

Hisar Updated Mon, 24 Dec 2012 05:31 AM IST
डबवाली (सिरसा)। डबवाली अग्निकांड की 17वीं पुण्यतिथि पर रविवार को स्मारक स्थल पर सर्वधर्म प्रार्थना सभा का आयोजन किया गया। विभिन्न संगठनों, राजनीतिक दलों और शिक्षण संस्थाओं के प्रतिनिधियों ने स्मारक स्थल पर पुष्पांजलि अर्पित की। इससे पूर्व स्मारक स्थल पर श्री अखंड पाठ और रामायण पाठ का भोग डाला गया। लोगों की ओर से स्मारक स्थल पर बच्चों की याद में विज्ञान पार्क स्थापित करने की मांग भी रखी थी। इस अवसर पर सिरसा के नगराधीश सतीश जैन, डीएसपी पूर्ण चंद पवार, तहसीलदार परमजीत सिंह चहल, फायर विक्टम एसोसिएशन की वकील अंजू, एसोसिएशन के प्रधान हरपाल सिंह, सचिव विनोद बांसल, शमशेर सिंह, सुच्चा सिंह भुल्लर उपस्थित थे।
स्मारक स्थल पर पहुंचे लोगों ने पक्ष और विपक्ष के नेताओं से सीधे सवाल किए। लोगों का कहना था ति जिस उद्देश्य को लेकर स्मारक स्थल बनाया गया है, उसकी पूर्ति आज तक नहीं हो सकी। सत्रह साल पहले पूर्व प्रधानमंत्री नरसिम्हा राव ने अग्निकांड पीड़ितों के लिए जो वादे किए थे, उनमें मेडिकल कॉलेज का निर्माण, अस्पताल में बर्न यूनिट की स्थापना, फिजियोथेरेपिस्ट की स्थायी नियुक्ति और अग्निकांड में घायल बच्चों के पढ़ाई पूरी करने के बाद नौकरी देने का वादा शामिल है। यह वादे आज तक पूरे नहीं किए गए। पीड़ितों ने कहा कि सत्रह वर्ष बाद भी सरकार इस स्मारक को राष्ट्रीय स्मारक घोषित नहीं कर सकी।
क्या बोला विपक्ष
डबवाली के विधायक और इनेलो के प्रधान महासचिव डा. अजय सिंह चौटाला ने कहा कि अग्निकांड पीड़ितों के लिए जितना भी किया जा सकता है, कम है। पीड़ितों की सभी मांगे जायज हैं। चौटाला ने कहा कि दलगत भावना से ऊपर उठकर सामाजिक रूप से अग्निकांड पीड़ितों के सहयोग के लिए प्रयास किए जाने की आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि अग्निकांड पीड़ित उनकी जो भी डयूटी लगाएंगे, वे उसे पूरा करने का भरसक प्रयास करेंगे। उन्होंने कहा कि ई-लाईब्रेरी के लिए सरकार चाहे कुछ न दे, लेकिन वे व्यक्तिगत रूप से कंप्यूटर और इंटरनेट सुविधाओं की पूर्ति करने को तैयार हैं। अग्निकांड स्थल को राष्ट्रीय स्मारक बनाने की मांग को भी सरकार के समक्ष जोरदार ढंग से रखेंगे।
क्या बोले सीएम के ओएसडी
मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा के ओएसडी (मीडिया) डा. केवी सिंह ने कहा कि अग्निकांड पीड़ितों में वे भी शामिल हैं। उनके परिवार के भी चार सदस्य इस कांड में शहीद हुए हैं। उन्होंने स्वीकार किया कि प्रयासों को सफल करने के लिए कमेटी बनाने की आवश्यकता है। उन्होंने आश्वासन दिया कि वे स्वयं एक वकील बनकर मुख्यमंत्री के समक्ष पीड़ितों की आवाज को पहुंचाएंगे। अगर कोई कानून अडचन आड़े न आई तो राष्ट्रीय स्मारक की मांग पूरी हो जाएगी। उन्होंने कहा कि अगले वर्ष जब श्रद्धांजलि समारोह होगा, तब उनकी इच्छा है कि ई-लाईब्रेरी यहां बनकर तैयार हो जाए।

‘अमर उजाला’ ने किया नवचेतना का संचार
श्रद्धांजलि समारोह में अग्निकांड पीड़ितों ने ‘अमर उजाला’ द्वारा उठाए गए मुद्दों की सराहना की। पीड़ितों ने कहा कि उनसे सत्रह वर्ष पूर्व किए वादों को याद करवाकर अमर उजाला ने उनमें नवचेतना का संचार किया है। अमर उजाला द्वारा उठाए गए मुद्दों पर सहमति व्यक्त करते हुए राजनीतिक पार्टियों के प्रतिनिधियों ने दलगत भावना से ऊपर उठकर इनका समाधान ढूंढे जाने का आश्वासन दिया। अग्निकांड पीड़ित विनोद बांसल, सुच्चा सिंह भुल्लर, रमेश सचदेवा, हरपाल सिंह, शमशेर सिंह ने कहा कि उन्हें उम्मीद है कि अब उनकी आवाज सरकार तक पहुंची है।

Spotlight

Most Read

Delhi NCR

दिल्ली-एनसीआर में दोपहर में हुआ अंधेरा, हल्की बार‌िश से गिरा पारा

पहले धुंध, उसके बाद उमस भरे मौसम और फिर हुई हल्की बारिश ने दिल्ली में हो रहे गणतंत्र दिवस के फुल ड्रेस रिहर्सल में विलेन की भूमिका निभाई।

23 जनवरी 2018

Related Videos

हिमाचल चुनाव में सबसे अमीर उम्मीदवार ने डेब्यू चुनाव में ही दर्ज की बड़ी जीत

हिमाचल प्रदेश में बीजेपी ने पूर्ण बहुमत से सत्ता में वापसी की। वहीं कांग्रेस को प्रदेश में बुरी पराजय मिली है। बीजेपी और नरेंद्र मोदी की लहर में भी वीरभद्र सिंह के बेटे विक्रमादित्य ने बड़ी जीत हासिल की है।

18 दिसंबर 2017

आज का मुद्दा
View more polls
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper