नाबालिग लड़की की शादी रुकवाई

Hisar Updated Mon, 10 Dec 2012 05:30 AM IST
जींद। पालवां गांव में एक नाबालिग लड़की की शादी को प्रोटेक्शन अधिकारी कृष्णा चौधरी ने रुकवा दिया। दो दुल्हनों की आई बारात में एक दूल्हे को बिना दुल्हन के लौटना पड़ा। शादी समारोह में उस समय विघभन पैदा हो गया जब महिला एवं बाल विकास विभाग की प्रोटेक्शन अधिकारी पुलिस अमले के साथ विवाह समारोह में पहुंच गई। दो दुल्हनों में से एक के नाबालिग मिलने से उसकी शादी को रुकवा दिया गया। ऐसे में बड़े दूल्हे की ही शादी हो पाई।
रविवार को पालवां गांव निवासी एक व्यक्ति की दो लड़कियों की शादी रविवार को होनी थी। प्रोटेक्शन अधिकारी कृष्णा चौधरी को सूचना मिली कि पालवां गांव में दो लड़कियों की बारात खरक पांडवा जिला कैथल से आनी है। उनमें से एक लड़की नाबालिग है। इस पर प्रोटेक्शन अधिकारी ने उचाना पुलिस को साथ लिया और गांव में विवाह समारोह में पहुंच गई। विवाह समारोह का आनंद ले रहे लोग उस समय हैरान रह गए, जब भारी पुलिस बल के साथ प्रोटेक्शन अधिकारी ने दोनों दुल्हन बनी लड़कियों की आयु का प्रमाण पत्र दिखाने की बात कही।
परिवार वाले भी इस कार्रवाई से सहम गए और बाद में दोनों लड़कियों की आयु के लिए शिक्षा प्रमाणपत्र दिखाए। इनमें दुल्हन बनी छोटी लड़की की उम्र 16 वर्ष पाई गई। इस पर प्रोटेक्शन अधिकारी ने उसे नाबालिग होने पर उसकी शादी को रोकने के लिए कहा और दोनों पक्षों से बातचीत कर शादी को बालिग होने तक रुकवा लिया गया। इस पर दोनों पक्षों ने प्रोटेक्शन अधिकारी को लिखित में यह आश्वासन दिया है।
जिला प्रोटेेक्शन अधिकारी कृष्णा चौैधरी ने बताया कि दो लड़कियों में से एक लड़की नाबालिग मिलने से उसकी शादी को रुकवा दिया है। दूसरी लड़की की शादी हो र्गई। प्रमाण पत्रों के आधार पर छोटी लड़की की उम्र 16 वर्ष पाई गई है। ऐसे में दोनों पक्षों से बातचीत कर उसकी शादी को बालिग होने तक रुकवा दिया।



Spotlight

Most Read

Bihar

चारा घोटाले के तीसरे केस में लालू यादव दोषी करार, पांच साल की सजा का ऐलान

पूर्व रेल मंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के खिलाफ सीबीआई की विशेष अदालत ने बड़ा फैसला सुनाया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

हिमाचल चुनाव में सबसे अमीर उम्मीदवार ने डेब्यू चुनाव में ही दर्ज की बड़ी जीत

हिमाचल प्रदेश में बीजेपी ने पूर्ण बहुमत से सत्ता में वापसी की। वहीं कांग्रेस को प्रदेश में बुरी पराजय मिली है। बीजेपी और नरेंद्र मोदी की लहर में भी वीरभद्र सिंह के बेटे विक्रमादित्य ने बड़ी जीत हासिल की है।

18 दिसंबर 2017

आज का मुद्दा
View more polls