किसानों की सारी भ्रांतियां हुई दूर : सिवाच

Hisar Updated Fri, 12 Oct 2012 12:00 PM IST
फतेहाबाद। उत्तर प्रदेश के जिला बुलंदशहर स्थित नरोरा में परमाणु बिजली संयंत्र देखने गए 58 सदस्यीय किसानाें और अधिकारियों का दल वीरवार को वापस लौट आया। इस दल में 41 किसान शामिल थे। किसानों का कहना है कि जो भ्रांतियां थी वो सारी इस दौरे के बाद दूर हो गई।
किसान हंसराज सिवाच, निहाल सिंह सिवाच, रमेश, जोगेंद्र पूर्व सरपंच, सुरेश दत्ता ने परमाणु बिजली संयत्र का दौरा करने के बाद बताया कि लोगों के बीच परमाणु बिजली संयंत्र के संबंध में अलग-अलग भ्रांतियां थी जो देखने के बाद पूरी तरह से खत्म हो गई। परमाणु बिजली संयंत्र पर्यावरण का मैत्री है और यहां जीव-जंतु और खेती आदि देखकर यह कहा जा सकता है कि आधुनिक युग में यहां के निवासी जीवन यापन कर रहे हैं। उन्हाेंने बताया था कि परमाणु संयंत्र लगने से आने वाली पीढ़िया अपंग पैदा होगी, महिला गर्भवती नहीं होंगी, पशुओं और अन्य जीवों में खतरनाक बीमारी होगी, लेकिन यहां आकर देखने से पता लगा कि इस संयंत्र में रह रहे लोगों का जीवन का ढंग बहुत ही आधुनिक है। इस संयंत्र में आधुनिक चिकित्सा सुविधायुक्त अस्पताल है। वहां के निवासियों ने किसानों को बताया कि वे 20 सालों से यहां रह रहे है और उनका पूरा परिवार यहां रहता है। किसी भी तरह की कोई बीमारी और अन्य किसी भी प्रकार का कोई खतरनाक रेडिएशन का आभास उन्हें कभी नहीं हुआ।
किसानों के दल ने संयंत्र के साथ-साथ आसपास के क्षेत्रों में खेती कर रहे किसानों और निवासियों से बातचीत की। वहां के किेसानों ने बताया कि यहां जगंल था और गंगा में स्नान करने आते थे। परमाणु बिजली संयंत्र से 4 गांवों के लोग विस्थापित हुए। एनपीसीआईएल की तरफ से पुर्नवास के तहत यहां के लोगों को सभी सुविधाएं उपलब्ध करवाई गई है। यहां आधुनिक अस्पताल, स्कूल, कालेज, दो बैंक, गैस एजेंसी, खेल स्टेडियम सहित कई महत्वपूर्ण सुविधाएं उपलब्ध करवाई गई है।
दल के किसानों ने बताया कि वे इस संबंध में सभी ग्रामीणों को भी जागरूक करेंगे। किसानों ने जिला प्रशासन का भी धन्यवाद किया। किसानों के दल के साथ उपपुलिस अधीक्षक सिद्वार्थ, तहसीलदार दर्शन सिंह, सहायक सूचना एवं जनसंपर्क अधिकारी आत्माराम, एनपीसीआईएल के एसके गुमास्ता, कार्यकारी अभिंयता वीके शर्मा सहित कई अधिकारी और चिकित्सक शामिल थे।
एशिया का पहला परमाणु बिजली संयत्र है नरोरा
नरोरा स्थित परमाणु बिजली संयंत्र के केंद्र निदेशक एसके शर्मा ने अपनी टीम के साथ इस दल का स्वागत किया और उन्हें बताया कि नरोरा परमाणु बिजली केंद्र एनपीसीआईएल की ईकाई है। दो दशक से भी ज्यादा समय से बिजली उत्पादन कर रहा है। इस संयंत्र में दो 220-220 मेगावाट की यूनिट है जो प्रतिदिन बिजली उत्पादन करती है। उन्होंने बताया कि यह एशिया का पहला परमाणु बिजली संयंत्र है, जिसमें आधुनिक कंट्रोल रूम 24 घंटे हर गतिविधि पर नजर रखता है। आईएसओ ने इस संयत्र को सुरक्षा प्रंबंधन और पर्यावरण संरक्षण के उच्च गुणवता के लिए प्रमाण पत्र जारी किया है।

Spotlight

Most Read

Kanpur

एक्सप्रेस-वे का काम अधूरा, टोल टैक्स देना पड़ेगा पूरा 

लखनऊ-आगरा एक्सप्रेस-वे पर 19 जनवरी की मध्य रात्रि से टोल टैक्स तो शुरू हो जाएगा लेकिन एक्सप्रेस-वे पर तैयारियां आधी-अधूरी हैं। एक्सप्रेस-वे के किनारे न रेस्टोरेंट बने और न होटल। कई जगह पर बैरीकेडिंग टूटने से जानवर भी सड़क  पर आ जाते हैं।

18 जनवरी 2018

Saharanpur

हज

19 जनवरी 2018

Related Videos

हिमाचल चुनाव में सबसे अमीर उम्मीदवार ने डेब्यू चुनाव में ही दर्ज की बड़ी जीत

हिमाचल प्रदेश में बीजेपी ने पूर्ण बहुमत से सत्ता में वापसी की। वहीं कांग्रेस को प्रदेश में बुरी पराजय मिली है। बीजेपी और नरेंद्र मोदी की लहर में भी वीरभद्र सिंह के बेटे विक्रमादित्य ने बड़ी जीत हासिल की है।

18 दिसंबर 2017

आज का मुद्दा
View more polls
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper