सोनिया गांधी के सच्चाखेड़ा दौरे की आहट

Hisar Updated Tue, 09 Oct 2012 12:00 PM IST
नरवाना (जींद)। जींद जिले के गांव सच्चाखेड़ा में तीन दिन पहले दलित किशोरी द्वारा सामूहिक दुराचार के बाद आत्मदाह किए जाने के मामले की गूंज दिल्ली तक पहुंच गई है। मंगलवार को इलाके में सुबह ही एसपीजी के अधिकारी पहुंच गए। वीवीआईपी की सुरक्षा से जुड़े ये अधिकारी इलाके के हालात का अध्ययन कर रहे थे। संभावना है कि कांग्रेस अध्यक्ष और यूपीए की चेयरपर्सन सोनिया गांधी मंगलवार को गांव सच्चाखेड़ा पहुंच सकती हैं। यहां वे पीड़ित परिवार से मिलेंगी। हालांकि प्रशासन ने देर शाम तक किसी वीवीआईपी के आने की पुष्टि नहीं की।
सूत्रों के अनुसार, सोनिया गांधी हेलीकाप्टर से नरवाना पहुंचेंगी और वहां से हिसार रोड पर छह किमी. दूर सच्चाखेड़ा गांव जाएंगी। जींद प्रशासन भी वीआईपी दौरे को देखते हुए सुरक्षा व्यवस्था में जुट गया है। नरवाना के नवदीप स्टेडियम में सुरक्षा कड़ी कर दी गई है, जहां सोनिया गांधी का हेलीकाप्टर उतर सकता है। पूरे शहर में भी चौकसी बढ़ा दी गई है। जींद प्रशासन ने अपने वरिष्ठ अधिकारियों को भी मुख्यालय में बुला लिया है। सूत्रों के अनुसार इस दौरे के लिए प्रशासन ने आसपास के जिलों में आवश्यक स्टाफ को मंगलवार सुबह आठ बजे नरवाना पहुंचने के निर्देश दिए हैं। सोमवार दोपहर बाद ही किसी वीवीआईपी के सच्चाखेड़ा गांव पहुंचने की चर्चा शुरू हो गई थी। एसपीजी और खुफिया विभाग की टीमें नरवाना व इसके आसपास के क्षेत्र में उस रूट का अध्ययन कर रही थीं, जहां से वीवीआईपी को सच्चाखेड़ा तक लाया जा सकता है। जिला प्रशासन ने इस संबंध में मीडिया को कोई जानकारी नहीं दी। हालांकि शाम को यह बात सामने आई कि सोनिया गांधी गांव सच्चाखेड़ा आकर पीड़ित परिवार से मिलेंगी। सोनिया गांधी नरवाना के गांव बेलरखां भी जा सकती हैं जहां 3 अक्तूबर को एक दलित महिला से गैंगरेप हुआ था।

Spotlight

Most Read

Bihar

चारा घोटाला: लालू और जगन्नाथ मिश्रा को 5 साल की सजा, कोर्ट ने 5 लाख का लगाया जुर्माना

पूर्व रेल मंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के खिलाफ सीबीआई की विशेष अदालत ने बड़ा फैसला सुनाया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

हिमाचल चुनाव में सबसे अमीर उम्मीदवार ने डेब्यू चुनाव में ही दर्ज की बड़ी जीत

हिमाचल प्रदेश में बीजेपी ने पूर्ण बहुमत से सत्ता में वापसी की। वहीं कांग्रेस को प्रदेश में बुरी पराजय मिली है। बीजेपी और नरेंद्र मोदी की लहर में भी वीरभद्र सिंह के बेटे विक्रमादित्य ने बड़ी जीत हासिल की है।

18 दिसंबर 2017

आज का मुद्दा
View more polls