खापों का 30 की महापंचायत में हिस्सा लेने से इंकार

Hisar Updated Sat, 22 Sep 2012 12:00 PM IST
जींद। जींद के गांव बहबलपुर में निजी स्कूलों की मनमानी रोकने के लिए 30 सितंबर को बुलाई गई खापों की महापंचायत को लेकर संशय की स्थिति बन गई है। महापंचायत को नौ दिन शेष रह गए हैं और अभी तक खाप चौधरियों को न्यौता तक नहीं पहुंचा है। महापंचायत के आयोजक एवं सर्वजातीय सर्वखाप पंचायत के राष्ट्रीय अध्यक्ष का दावा है कि महापंचायत में प्रदेश की सभी खापें भाग लेंगी।
उधर, बराह बाहरा खाप के प्रधान कुलदीप सिंह ढांडा का कहना है कि सर्वजातीय सर्वखाप पंचायत की 26 सदस्यीय कमेटी से आयोजकों ने अब तक महापंचायत को लेकर कोई विचार विमर्श नहीं किया है। नौगामा खाप के प्रधान के बुलावे बगैर हम किसी पंचायत में नहीं जाएंगे। उन्होंने कहा कि पंचायत या महापंचायत बुलाने का एक तरीका होता है। जिस खाप में पंचायत बुलाई जाए, उस खाप के प्रधान के माध्यम से ऐसे आयोजन की प्रार्थना सर्वखाप पंचायत हरियाणा को भेजी जाती है और आपसी विचार विमर्श के बाद आयोजन के बारे में निर्णय लिया जाता है।
प्रदेश की सबसे बड़ी गठवाला खाप के अध्यक्ष दादा बलजीत मलिक का कहना है कि महापंचायत के आयोजकों की तरफ उन्हें किसी प्रकार का नियंत्रण नहीं मिला है। ऐसे में बहबलपुर गांव की महापंचायत में जाने का औचित्य ही नहीं बनता है। मलिक ने कहा कि आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के बच्चों के निजी स्कूलों में दाखिला मिले, यह सभी खाप पंचायतें चाहती हैं। लेकिन इस मुद्दे पर महापंचायत बुलाने का तरीका भी तो सही होना चाहिए।
कथूरा बारहा सोनीपत के अध्यक्ष भलेराम नरवाल ने कहा है कि उनकी खाप बहबलपुर की महापंचायत में बिल्कुल नहीं जाएगी। उन्होंने कहा कि जिस गांव में महापंचायत का आयोजन किया जाता है, उसकी खाप द्वारा महापंचायत के लिए चिट्ठी फाड़ी जाती है। लेकिन सर्वजातीय सर्वखाप महापंचायत के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने ऐसा नहीं किया है। दहिया खाप के प्रताप सिंह दहिया ने भी कहा है कि उनकी खाप महापंचायत में भाग नहीं लेगी, क्योंकि नौगामा खाप से इस बारे में कोई निमंत्रण नहीं मिला है।
बिनैन खाप के प्रवक्ता सूबेसिंह समैण ने कहा है कि उनकी खाप भी महापंचायत में भाग नहीं लेगी, क्योंकि महापंचायत बुलाने की परंपरा का निर्वहन स्वामी कर्मपाल द्वारा नहीं किया जा रहा है। एक आदमी के बुलाने से खापें एकत्रित नहीं होती। 14 जुलाई को बीबीपुर और 13 सितंबर को दनौदा कलां की महापंचायतें उनकी खापों द्वारा बुलायी गई थी। प्रदेश भर की खापों ने भाग लिया और ठोस फैसले भी लिए गए।

इस मामले पर होना है विचार विमर्श
जींद के गांव बहबलपुर में 30 सितंबर को प्रस्तावित महापंचायत में आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के छात्रों का निजी स्कूलों में दाखिला सरकारी स्कूलों की फीस पर कराए जाने के बारे में मंथन किया जाना है। प्रदेश के निजी स्कूलों में चालू शिक्षा सत्र में 3 लाख 96 हजार छात्र शिक्षा ग्रहण कर रहे हैं। न्यायालय का आदेश है सभी निजी स्कूल 25 प्रतिशत छात्रों को सरकारी स्कूलों की फीस पर शिक्षा प्रदान करेंगे। निजी स्कूल संचालकों ने न्यायालय के आदेश पर बीपीएल परिवारों के 35561 बच्चों को मु्फ्त शिक्षा देनी शुरू कर दी है लेकिन आर्थिक रूप से कमजोर परिवार जिनकी वार्षिक आय दो लाख रुपये से कम है, के बच्चों को दाखिले अभी तक नहीं दिए गए हैं।
क्या कहना है नौगामा खाप का
बहबलपुर गांव में 30 सितंबर को हो रही महापंचायत को लेकर उनकी खाप ने प्रदेश की किसी भी खाप को नियंत्रण नहीं भेजा है। नियंत्रण इसलिए नहीं भेजा गया कि क्योंकि बहबलपुर गांव की तरफ से ऐसा कोई प्रस्ताव भी नहीं आया, जिस पर विचार विमर्श करके खाप महापंचायत का मसौदा तैयार किया जाता है और खापों को आमंत्रण के लिए चिट्ठी फाड़ी जाती है।
कुलदीप सिंह, कार्यकारी प्रधान, नौगामा खाप रामराय तपा।

क्या कहना है कि महापंचायत के आयोजक का
रोहतक की हुड्डा, अहलावत, अठगामा बोहर बहु बारहा के अनुरोध पर बहबलपुर में 30 सितंबर को महापंचायत होगी। इसमें निजी स्कूलों में आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के बच्चों का दाखिला सरकारी स्कूलों की फीस के आधार पर कराने पर विचार विमर्श किया जाएगा। महापंचायत के लिए सभी को बुलावा भेजा जाएगा।
स्वामी कर्मपाल, राष्ट्रीय अध्यक्ष, सर्वजातीय सर्वखाप महापंचायत।

Spotlight

Most Read

Hapur

अब जिले में नहीं कटेंगे बूढ़े हो चुके फलदार वृक्ष

अब जिले में नहीं कटेंगे बूढ़े हो चुके फलदार वृक्ष

22 जनवरी 2018

Related Videos

हिमाचल चुनाव में सबसे अमीर उम्मीदवार ने डेब्यू चुनाव में ही दर्ज की बड़ी जीत

हिमाचल प्रदेश में बीजेपी ने पूर्ण बहुमत से सत्ता में वापसी की। वहीं कांग्रेस को प्रदेश में बुरी पराजय मिली है। बीजेपी और नरेंद्र मोदी की लहर में भी वीरभद्र सिंह के बेटे विक्रमादित्य ने बड़ी जीत हासिल की है।

18 दिसंबर 2017

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper