रावण को मिला चंद्रहास, नारद को हुआ मोह

Gurgaon Updated Wed, 17 Oct 2012 12:00 PM IST
गुड़गांव। श्री सनातन धर्मसभा गीता भवन की रामलीला की मंगलवार को शुरुआत हुई। पहले दिन राम और रावण के जन्म के वृत्तांत का भावपूर्ण मंचन किया गया। इस प्रसंग में शिव-पार्वती संवाद भी होता है। मंचन के दौरान एक तरफ रावण को भगवान शंकर चंद्रहास खड्ग भेंट करते हैं तो दूसरी तरफ नारद को मोह हो जाता है।
एक दृश्य में एक दिन रावण अपने पुष्पक विमान से कैलाश पर्वत की ओर भ्रमण कर रहा था। तभी उसकी नजर कैलाश पर्वत पर एक मनोरम स्थल की ओर पड़ी। वह वहां बनी गुफा में अंदर जाने का प्रयास करता है। नंदी उन्हें अंदर जाने से रोकता है। रावण ने कहा कि अगर वह उसे अंदर नहीं जाने देगा तो वह कैलाश पर्वत को फेंक देगा। वह कोशिश भी करता है, लेकिन सफल नहीं होता। हारकर वह शिव की आराधना करने लगता है। नाम के अनुरूप भोले भंडारी प्रकट होते हैं और रावण को चंद्रहास खड्ग भेंट करते हैं।
दूसरे दृश्य में भगवान शिव पार्वती को श्रीराम के पृथ्वी लोक में जन्म के माहात्म्य के बारे में बताते हैं। वह कहते हैं कि पृथ्वी लोक से राक्षसों के अत्याचार को मिटाने के लिए उन्होंने जन्म लिया है। रामलीला के तीसरे दृश्य में नारद मोह का मंचन होता है। नारद की भूमिका निभा रहे राजेश खरबंदा ने सशक्त अभिनय किया। उनकी एक-एक संवाद अदायगी पर लोगों ने खूब तालियां बजाईं। भ्रमण के दौरान नारद एक रमणीक स्थल पर समाधि लगाकर तपस्या करने लग जाते हैं। उनकी समाधि से इंद्र का सिंहासन डोलने लगता है। उन्हें गद्दी छिनने का भय सताने लगता है। वह कामदेव को उनकी तपस्या भंग करने को भेजते हैं। इसमें वह सफल नहीं होते। नारद को इस बात का अभिमान हो जाता है कि वह शिव के बराबर हो गए हैं।
विष्णु ने रची माया नगरी
नारद के मोह को नष्ट करने के लिए भगवान विष्णु माया नगरी की रचना करते हैं। वहां के राजा शीलनिधि की पुत्री विश्वमोहिनी के प्रेमपाश में नारद फंस जाते हैं। वह विष्णु से हरि का रूप मांगते हैं। हरि का एक अर्थ वानर भी होता है। उन्हें बंदर की शक्ल देते हैं। वह स्वयंवर में सबसे आगे बैठते हैं। विश्वमोहिनी उन्हें छोड़ भगवान विष्णु का वरण कर लेती हैं। इससे कुपित नारद ने विष्णु को श्राप दे दिया। उधर, नारद मोह के मंचन के मौके पर कलाकारों की एक-एक प्रस्तुतियों को दर्शकों ने खूब सराहा। जो भी दृश्य और संवाद उन्हें पसंद आता वह इनाम देने के लिए खड़े हो जाते। देर रात तक यह प्रक्रिया अनवरत जारी रही।
एक्सट्रा इफेक्ट का भी चला जादू
रामलीला को और अधिक रोचक बनाने के लिए रामलीला कमेटी की ओर से एक्सट्रा इफेक्ट का भी जमकर इस्तेमाल हो रहा है। लाइटिंग, साउंड और कोरियोग्रॉफी का भी भरपूर इस्तेमाल हो रहा है।

Spotlight

Most Read

Lucknow

यूपी में फिर शुरू हुई डीजीपी की रेस, ओपी सिंह को केंद्र ने नहीं किया रिलीव

उत्तर प्रदेश के नए डीजीपी के लिए अभी और इंतजार करना पड़ सकता है।

19 जनवरी 2018

Related Videos

गुरुग्राम: SPA की आड़ में चल रहे जिस्मफरोशी के धंधे का पर्दाफाश

हरियाणा के गुरुग्राम में स्पा सेंटर की आड़ में चल रहे देहव्यापार के गोरखधंधे का पुलिस ने भंडाफोड़ किया है। पुलिस ने गुरुग्राम के सेक्टर-5 इलाके में चल रहे स्पा सेंटर में छापेमारी करके 6 लड़कियों और 2 लड़कों को गिरफ्तार किया है।

10 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper