मिट जाता है इतिहास भूलने वाला समाज

Gurgaon Updated Sun, 30 Sep 2012 12:00 PM IST
गुड़गांव। इतिहास को भूलने वाला समाज मिट जाता है। हमारे लिए गर्व की बात है कि इतिहास में मानव संस्कृति का प्रचार प्रसार करने में हरियाणा को आज भी माना जाता है। प्रयास रहेगा कि आगे भी हरियाणा इसी प्रकार साहित्य की सेवा करता रहे। यह बात मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने शनिवार को हिंदी साहित्यकार बाल मुकुंद गुप्त की 106वीं जयंती पर आयोजित विशेष समारोह में कही।
हरियाणा लोक प्रशिक्षण संस्थान परिसर स्थित हरियाणा इतिहास व संस्कृति अकादमी के सभागार में आयोजित इस कार्यक्रम में मुख्यमंत्री ने अकादमी की 17 पुस्तकों का विमोचन भी किया। उन्होंने कहा कि प्रदेश में आज भी कई ऐसे स्थान हैं, जोकि अपने भीतर पूरा इतिहास समेटे हैं, जरूरत है तो बस उनको लोगों तक पहुंचाने की।

बाल मुकुंद को श्रद्धांजलि दी
इससे पूर्व मुख्यमंत्री ने बाल मुकुंद की तस्वीर पर पुष्प चढ़ाकर श्रद्धांजलि दी। उन्होंने कहा कि बाल मुकुंद की रचनाएं दिलों में देशभक्ति की भावना भरती है। आजादी से पहले भी बाल मुकुंद की रचनाएं पढ़ कई लोग स्वतंत्रता संग्राम की लड़ाई में शामिल होने के लिए प्रेरित हुए। उन्होंने बाल मुकुंद के साहित्य जीवन पर भी प्रकाश डाला।

किसी भाषा का मोहताज नहीं साहित्य
राज्यसभा सदस्य डॉ. रामप्रकाश ने बतौर विशिष्ट अतिथि कहा कि बाल मुकुंद पहले उर्दू में लिखते थे, लेकिन बाद में हिंदी में लिखने लगे। उन्होंने अंग्रेजी में भी खूब लिखा। इससे स्पष्ट है कि साहित्य किसी भाषा का मोहताज नहीं है। लार्ड कर्जन तानाशाह था, लेकिन इसके बावजूद वह बाल मुकुंद की रचनाएं अवश्य पढ़ता था। उन्होंने कहा कि मनुष्य को जीवित रखने में साहित्य का बड़ा योगदान रहा है और हमेशा रहेगा।

स्वर्ण अक्षरों में बदला जाएगा इतिहास
अकादमी के निदेशक डॉ. केेसी यादव ने कहा कि इतिहास अभी कच्ची स्याही से लिखा है, लेकिन इसे स्वर्ण अक्षरों में बदलने का काम शुरू कर दिया गया है। उन्होंने मुख्यमंत्री के प्रयासों की सराहना करते हुए कहा कि अकादमी ने कुछ सालों में ही देश विदेश में अपनी पहचान बना ली है। अकादमी ने अपने संकलन में 39 हजार दुर्लभ दस्तावेजों को शामिल किया है, आगे भी इसी प्रकार साहित्य की सेवा जारी रहेगी।

प्रदर्शनी का किया अवलोकन
कार्यक्रम के बाद मुख्यमंत्री ने प्रदर्शनी का भी अवलोकन किया। इस मौके पर मुख्य संसदीय सचिव राव दान सिंह, विधायक राव धर्मपाल, हीपा के डायरेक्टर जरनल महापात्रा, नगर निगम के मेयर विमल यादव, पुलिस कमिश्नर केके संधू के अलावा साहित्य समाज से जुड़े प्रबुद्ध व्यक्ति उपस्थित थे।

पुस्तकों में सिमटा है गौरवमयी इतिहास
अकादमी द्वारा इन 17 पुस्तकों में गौरवमयी इतिहास संजोया गया है। यह पुस्तकें सभी लाइब्रेरी में उपलब्ध कराई जाएंगी, ताकि ज्यादा से ज्यादा लोग इसका लाभ उठा सकें।
यह है विमोचित पुस्तकें व रचनाएं
-हिंदी भाषा
-शिव शंभू के चिट्ठे
-चिट्ठे और खत
-रत्नावली नाटिका
-हरिदास
-रास पंचाध्यायी और भंवरगीत
-सर्पाकाल चिकित्सा
-खिलौना
-खेल तमाशा

यह है हरियाणा इतिहास स्रोत सीरीज
- प्राचीन हरियाणा में मुद्रा निर्माण और टकसाल
- हरियाणा: स्केचेज हिस्टोरिकल एंड डिसक्रिप्टिव
- हरियाणा: एडमिनिस्ट्रेशन एंड सोसायटी
- सोशियो इकोनॉमिक लाइफ इन रूरल हरियाणा 19 सेंचुरी
- हरियाणा में क्रांतिकारी आंदोलन, 1919 से 1947
- आजादी का सफरनामा
- हरियाणा में किसान आंदोलन
- हरियाणा में राष्ट्रीय काव्य धारा 1857 से 1947

Spotlight

Most Read

Shimla

कांग्रेस के ये तीन नेता अब नहीं लड़ेंगे चुनाव, चुनावी राजनीति से लिया संन्यास

पूर्व मंत्री एवं सांसद चंद्र कुमार, पूर्व विधायक हरभजन सिंह भज्जी और धर्मवीर धामी ने चुनाव लड़ने की सियासत को बाय-बाय कर दिया है।

17 जनवरी 2018

Related Videos

गुरुग्राम: SPA की आड़ में चल रहे जिस्मफरोशी के धंधे का पर्दाफाश

हरियाणा के गुरुग्राम में स्पा सेंटर की आड़ में चल रहे देहव्यापार के गोरखधंधे का पुलिस ने भंडाफोड़ किया है। पुलिस ने गुरुग्राम के सेक्टर-5 इलाके में चल रहे स्पा सेंटर में छापेमारी करके 6 लड़कियों और 2 लड़कों को गिरफ्तार किया है।

10 जनवरी 2018

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper