फिलहाल बसों का किराया नहीं बढ़ाएगी जेब का बोझ

Gurgaon Updated Tue, 18 Sep 2012 12:00 PM IST
गुड़गांव। आम आदमी पर बसों के किराये का बोझ फिलहाल नहीं बढ़ेगा। हरियाणा परिवहन विभाग ने राहत प्रदान कर दी है। रोडवेज विभाग लोगों पर किराया वृद्धि का अतिरिक्त भार डालने के मूड में नहीं है।
विभाग के महानिदेशक अरुण कुमार ने साफ कहा कि आम आदमी पर कोई बोझ नहीं डाला जाएगा। यह झटका विभाग स्वयं सहन करेगा। उन्होंने कहा कि डीजल के दामों में वृद्धि के बाद रोडवेज को प्रतिदिन 10 से 12 फीसदी का घाटा होगा। लोगों की राहत के लिए विभाग यह घाटा सहन करने को तैयार है। उन्होंने कहा कि सभी रूटों पर किराया पुरानी दरों से वसूल किया जाएगा।
दूसरी ओर दिल्ली परिवहन निगम भी किराया वृद्धि से अभी गुरेज ही कर रहा है। हालांकि राष्ट्रपति चुनाव के बाद तेल पदार्थों की मूल्यवृद्धि की सुगबुगाहट के बीच अधिकारिक तौर पर डीटीसी ने किराया वृद्धि की बात कही थी। लेकिन एकाएक डीजल के दाम बढ़ने के बाद डीटीसी भी अभी किराया वृद्धि से इनकार कर रही है। परिवहन मंत्री रमाकांत गोस्वामी ने कहा कि जनता की जेब पर कोई बोझ नहीं डाला जाएगा। डीजल मूल्यवृद्धि को डीटीसी स्वयं वहन करेगा। उन्होंने कहा कि सामान्य सफर की लगभग सभी बसें सीएनजी वर्जन की हैं और सीएनजी बसें खरीदने पर जोर दिया जा रहा है। कुछ एसी बसें ही डीजल से चालित हैं। ऐसे में लोगों की जेब पर किराये का बोझ नहीं डाला जाएगा।

रोडवेज को प्रति महीने 10 से 12 फीसदी का घाटा
डीजल मूल्य वृद्धि के बाद हरियाणा रोडवेज पर प्रतिदिन 10 से 12 फीसदी अतिरिक्त भार पड़ेगा। इस समय पूरे प्रदेश मेें एक दिन में ढाई लाख लीटर डीजल रोडवेज की बसों में फूंकता है। पहले इसका दाम 40 रुपये प्रति लीटर था जो अब बढ़कर 45 रुपये प्रति लीटर हो गया है। महानिदेशक अरुण कुमार ने कहा कि इस भरपाई को पूरा करने के लिए दूसरे विकल्पों पर विचार किया जाएगा। आम आदमी की जेब पर कोई भार नहीं डाला जाएगा।

चालकों की भर्ती अगले छह महीने में
महानिदेशक ने कहा कि रोडवेज बसों में चालकों की कमी को पूरा करने के लिए अगले छह महीने में नए चालकों को भर्ती किया जाएगा। उन्होंने स्वीकार किया कि चालकों की कमी के कारण सेवा प्रभावित हो रही है। खासकर गुड़गांव में चलाई जा रही सिटी सेवा को इस कमी के कारण नए रूटों पर नहीं चलाया जा पा रहा है। उन्होंने कहा कि अगले महीने 20-25 चालकों की व्यवस्था की जाएगी। जिससे तीन-चार रूटों पर सिटी सेवा का विस्तार करने की योजना है। बसें खरीदी जा चुकी है। चालकों की कमी के कारण रूटों पर नहीं दौड़ पा रही है। फिलहाल शहर में नौ रूटों पर करीब 60 बसें चलाई जा रही है। चालकों की भर्ती के बाद इसका विस्तार कर इसकी संख्या सौ के पार कर दी जाएगी।

Spotlight

Most Read

Lucknow

यूपी दिवस: प्रदेश को 25 हजार करोड़ की योजनाओं की सौगात, योगी बोले- आज का दिन गौरवशाली

यूपी दिवस के मौके पर प्रदेश को सरकार ने 25 हजार करोड़ करोड़ की योजनाओं की सौगात दी। मुख्यमंत्री योगी ने आज के दिन को गौरवशाली बताया।

24 जनवरी 2018

Related Videos

गुरुग्राम में धारा 144 लागू, ‘पद्मावत’ देखने जाने से पहले रखें इन बातों का ध्यान

फिल्म 'पद्मावत' की रिलीज को लेकर हो रहे हिंसक प्रदर्शन और विवाद को देखते हुए गुरुग्राम में धारा 144 लगा दी गई है।

24 जनवरी 2018