निष्काम भक्ति का दौर शुरू

Gurgaon Updated Sun, 19 Aug 2012 12:00 PM IST
गुड़गांव। उत्तम पुरुषोत्तम मास शनिवार से शुरू हो गया है। शहर के सभी मंदिरों में उत्तम मास के दौरान भगवान विष्णु की विशेष पूजा-अर्चना की जाएगी। हालांकि इस माह के दौरान बड़े मांगलिक कार्य नहीं होंगे, लेकिन भगवान विष्णु की भक्ति के लिए इस माह को सबसे उत्तम बताया गया है। पं. मनीष शास्त्री बताते हैं कि उत्तम पुरुषोत्तम मास की स्थापना स्वयं भगवान विष्णु ने की थी। हिरण्य कश्यप नामक असुर ने वरदान मांगा था कि साल के बारह माह में उसे कोई भी मार न सके। ऐसे में भगवान विष्णु ने सूर्य और चंद्र की गति बदल दी। इसका परिणाम यह हुआ कि तीन वर्ष के बाद एक माह अतिरिक्त हो गया। इसी माह के दौरान हिरण्य कश्यप का संहार किया गया। उत्तम पुरुषोत्तम मास में केवल विष्णु की आराधना होती है। अन्य कोई भी बड़ा मांगलिक कार्य इस दौरान नहीं किया जाता।
आगे बढ़ गए सभी त्योहार
पंडित हरिओम ने बताया कि उत्तम पुरुषोत्तम मास की वजह से कई त्योहार आगे बढ़ गए हैं। जन्माष्टमी के दस दिन बाद गणेश उत्सव शुरू हो जाता है। लेकिन उत्तम पुरुषोत्तम मास की वजह से अब 16 सितंबर के बाद ही गणेश उत्सव मनाया जाएगा।
भगवान विष्णु की विशेष कृपा रहेगी
पंडितों का कहना है कि सावन मास में उपासना करने से जहां शिव की विशेष कृपा प्राप्त होती है, वहीं उत्तम पुरुषोत्तम मास में की गई आराधना भगवान विष्णु को प्रसन्न करती है। इस माह में भागवत गीता का पाठ और रामायण का पाठ करना अति फलदायी माना गया है।

Spotlight

Most Read

Bihar

चारा घोटाला: लालू और जगन्नाथ मिश्रा को 5 साल की सजा, कोर्ट ने 5 लाख का लगाया जुर्माना

पूर्व रेल मंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के खिलाफ सीबीआई की विशेष अदालत ने बड़ा फैसला सुनाया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

गुरुग्राम में धारा 144 लागू, ‘पद्मावत’ देखने जाने से पहले रखें इन बातों का ध्यान

फिल्म 'पद्मावत' की रिलीज को लेकर हो रहे हिंसक प्रदर्शन और विवाद को देखते हुए गुरुग्राम में धारा 144 लगा दी गई है।

24 जनवरी 2018