ठंड ने ली एक की जान

Faridabad Updated Wed, 26 Dec 2012 05:30 AM IST
फरीदाबाद। ठंड ने यहां पर एक व्यक्ति की जान ले ली। मंगलवार सुबह एक अज्ञात व्यक्ति का शव सड़क किनारे पड़ा मिला। पुलिस का कहना है कि ठंड के कारण उक्त व्यक्ति की मौत हुई है।
उधर, कोहरे के कारण मंगलवार को भी जनजीवन प्रभावित रहा। दिन में 11:30 बजे के बाद सूर्य के दर्शन हो सके। मंगलवार सुबह नीला-बाटा रोड पर एक अज्ञात व्यक्ति (70) का शव सड़क किनारे पड़ा होने की सूचना कोतवाली पुलिस को मिली। सूचना मिलने पर पुलिस पहुंच गई और शव को पोस्टमार्टम और पहचान के लिए बीके अस्पताल की मॉर्चरी में रखवा दिया है। पुलिस के अनुसार, ठंड के कारण यह मौत हुई है।

रैन बसेरे खाली
प्रशासन ने खुले आसमान के नीचे रहने वाले लोगों को ठंड से बचाने के लिए शहर में रैन बसेरों की व्यवस्था की है, लेकिन वह खाली पड़े हैं। शहर में रेडक्रॉस सोसायटी भवन, सेक्टर 14, बौद्ध विहार, न्यू जनता कॉलोनी, बल्लभगढ़ के सिटी पार्क और एनएच तीन स्थित नारी निकेतन में रैन बसेरे बनाए गए हैं। यहां पर कंबल की भी व्यवस्था की गई है, लेकिन लोग यहां नहीं पहुंच रहे हैं।

दान के कंबल का है लालच
जिला रेडक्रॉस सोसायटी के सचिव डीआर शर्मा ने बताया कि खुले आसमान के नीचे रहने वाले ज्यादातर लोग इसलिए रैन बसेरों में नहीं जाना चाहते, क्योंकि उन्हें दान के कंबल का लालच है। शहर में सर्दियों में दान करने वाले कुछ लोग रात में सड़कों पर रह रहे लोगों को कंबल बांटते हैं। खुले आसमान के नीचे रहने वाले लोग इन कंबलों को दूसरे दिन ही बेच देते हैं। अगर वह रैन बसेरों में आ जाएंगे, तो कंबल नहीं मिलेगा, इसीलिए वे रैन बसेरों में नहीं आते। प्रशासन लोगों से अपील भी कर चुका है कि वह इस तरह कंबल न बांटे, लेकिन लोग नहीं मान रहे।




ठिठुरन वाली ठंड में घरों में दुबके लोग

सुबह-शाम प्रभावित हो रहा है जनजीवन

फरीदाबाद। पहाड़ों पर बर्फबारी और मैदान में कोहरे के कारण मंगलवार को लोगों का सामना ठिठुरने वाली ठंड से हुआ। ठंड की वजह से छुट्टी के दिन अधिकांश लोग घरों में दुबके रहे।
कोहरे और ठंड की मार से शहर का जनजीवन सुबह-शाम प्रभावित हो रहा है। पार्कों में सुबह सैर करने वालों में कमी आई है। दोपहर में धूप निकलने पर लोगों ने पार्कों में सैर की।
शाम को दिन ढलते ही फिर से ठंड ने शहर को अपनी चपेट में ले लिया। शहर से बाहर हाईवे के कुछ हिस्सों में दिन में भी कोहरा रहा। शहर में सुबह दृश्यता लगभग 50 मीटर रही, इसलिए लोग अपने वाहन दिन में ही लाइट जलाकर चला रहे थे। 10 बजे तक कोहरा छंटने लगा।
दोपहर में सूर्य देवता के दर्शन के बाद भी ठिठुरन रही। ठंड और कोहरे के कारण कंस्ट्रक्शन साइटों पर काम करने वाले, साइकिल सवारों, मोटरसाइकिल चालकों को परेशानी का सामना करना पड़ा। दोपहिया सवारों ने बाहर निकलने पर टोपी एवं दस्तानों का इस्तेमाल किया। लोगों ने ठंड से बचने के लिए घरों में हीटर जलाए। सुबह के वक्त चाय की दुकानों पर कई जगह अलाव जलाए गए थे।
आमतौर पर मंगलवार को बाजारों में अच्छी भीड़भाड़ होती है, लेकिन ठंड के कारण बाजारों की रौनक कम हो गई है। मौसम विभाग के मुताबिक, कोहरा 27 तारीख तक कम हो सकता है।

Spotlight

Most Read

Bihar

चारा घोटाला: लालू और जगन्नाथ मिश्रा को 5 साल की सजा, कोर्ट ने 5 लाख का लगाया जुर्माना

पूर्व रेल मंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के खिलाफ सीबीआई की विशेष अदालत ने बड़ा फैसला सुनाया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

गुरुग्राम में धारा 144 लागू, ‘पद्मावत’ देखने जाने से पहले रखें इन बातों का ध्यान

फिल्म 'पद्मावत' की रिलीज को लेकर हो रहे हिंसक प्रदर्शन और विवाद को देखते हुए गुरुग्राम में धारा 144 लगा दी गई है।

24 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls