रोडवेज की बसें बंद, यात्री तंग

Faridabad Updated Tue, 02 Oct 2012 12:00 PM IST
फरीदाबाद। सिटी बस के एक चालक की मौत से गुस्साए रोडवेज के कर्मचारियों ने सोमवार को बल्लभगढ़ डिपो में बसों के पहिये रोक दिए। इस कारण शहर से गुड़गांव व दिल्ली रूट के लिए एक भी बस नहीं चली। अंतरराज्यीय सेवा भी ठप रही। गुस्साए कर्मचारियों ने शव को डिपो परिसर में रखकर प्रदर्शन किया और उसके बाद दोपहर को राष्ट्रीय राजमार्ग जाम कर दिया। बाद में मौके पर पहुंचे अधिकारियों ने मुआवजा दिलाने और जांच का आश्वासन देकर जाम खुलवाया। बसें नहीं चलने से यात्री दिनभर परेशान रहे।
जानकारी के अनुसार, सिटी बस का चालक सुल्तान सिंह रविवार को गुड़गांव रूट की बस पर ड्यूटी करने आया था। दोपहर को उसने अपने सहकर्मी को बताया कि उसके सीने में दर्द है। उसे तुरंत बल्लभगढ़ सिविल अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां रविवार शाम उसकी मौत हो गई।
सोमवार सुबह सुलतान के परिजनों को 10 लाख मुआवजा और परिवार के एक सदस्य को नौकरी देने की मांग को लेकर रोडवेज कर्मियों ने बस संचालन ठप कर दिया। सूचना मिलने पर एसीपी बदन सिंह राणा, एसएचओ बल्लभगढ़ सिटी सुदीप कुमार, एसएचओ सदर हितेश कुमार और बतौर ड्यूटी मजिस्ट्रेट तहसीलदार नरेश कुमार वहां पहुंच गए। दोपहर तक जब रोडवेज का कोई अधिकारी नहीं पहुंचा, तो रोडवेज कर्मी दोपहर तीन बजे शव लेकर राष्ट्रीय राजमार्ग पर आ गए और जाम लगा दिया।
बाद में एसडीएम सुशील सरवन, आरटीए जितेंद्र दहिया, जीएम(रोडवेज) डीआर कुंडी और सिटी बस के जीएम लाजपत राय मौके पर पहुंच गए। इन लोगों ने चार लाख रुपये मुआवजा दिलाने का आश्वासन दिया तथा कहा कि इस समूचे प्रकरण की जांच एडीसी की अध्यक्षता में टीम करेगी। करीब दो घंटे बाद शाम पांच बजे जाम हटा लिया गया।


पुलिस ने रूट डायवर्ट किया
कर्मचारियों द्वारा शव नेशनल हाईवे पर रखे जाने के बाद पुलिस ने रूट डायवर्ट कर दिया। पलवल व बल्लभगढ़ से ट्रैफिक को एल्सन चौक से डायवर्ट किया गया, जहां से वाहन सेक्टर-55 से होते हुए राष्ट्रीय राजमार्ग पर आए।


कमर्चारियों की उपेक्षा का आरोप
कर्मचारियों की शिकायत है कि उनकी समस्याओं की ओर ध्यान नहीं दिया जा रहा। इसी कारण पहले भी इसी तरह दो कर्मचारियों की मौत हो चुकी है। यूनियन के अनुसार, चार माह पहले चालक राजेश सिरसा से आ रहा था। उसकी तबीयत खराब होने व अधिकारियों को सूचित करने के बाद भी उसे ड्यूटी पर आने के लिए कहा गया, जिसके बाद उसकी नजफगढ़ में मृत्यु हो गई। इसके अलावा एक अन्य चालक राज सिंह को ऋषिकेश जाना था, जिसकी मृत्यु भी खराब स्वास्थ्य के कारण दशहरा ग्राउंड में हो गई। यह घटना लगभग दो माह पहले की है। यूनियन के उपप्रधान जवाहर सिंह ने बताया कि चालक सुल्तान सिंह द्वारा रविवार सुबह भी संबंधित अधिकारी को संपर्क कर सूचित किया गया था कि उसकी तबीयत खराब है, लेकिन चालक पर दबाव बनाकर उसे ड्यूटी के लिए बुलाया गया।

सामान लेकर भटकते रहे यात्री
रोडवेज कर्मचारियों की हड़ताल की वजह से यात्रियों को बेहद परेशानी का सामना करना पड़ा। वह सामान लेकर इधर-उधर भटकते रहे। महिलाएं और बच्चे ज्यादा परेशान हुए। दूसरे राज्यों की जो बसें आईं, उनमें भारी भीड़ थी। बल्लभगढ़ डिपो से करीब 55 सिटी बसें गुड़गांव-दिल्ली रूट पर दो शेड्यूल में चलती हैं। इसके अलावा करीब 70 बसें सामान्य डिपो से चलती हैं। कुछ लंबे रूट की बसों का भी स्टॉपेज दिल्ली व गुड़गांव है। यह बसें शाम पांच बजे तक नहीं चलीं।

रोडवेज को लाखों का नुकसान
बसें न चलने की वजह से रोडवेज को लाखों का नुकसान झेलना पड़ा। विभाग के अनुसार, गुड़गांव-दिल्ली के रूट अधिक कमाई वाले हैं। इनके न चलने से विभाग की कमाई अधिक प्रभावित हुई है। प्रतिदिन शहर से रोडवेज की करीब 230 बसें चलती हैं। इनसे लगभग पांच लाख से अधिक की आमदनी होती है।


कांट्रेक्ट पर कार्यरत था चालक
सिटी बस सेवा के तहत सभी चालक व परिचालकों की भर्ती कांट्रैक्ट के आधार पर की गई है। सुलतान भी कांट्रेक्ट पर ही कार्यरत था। विभाग के अनुसार, कांट्रेक्ट पर होने के कारण ऐसी घटना होने पर क्या किया जाना है, इसका निर्णय यहां से नहीं लिया जा सकता।

Spotlight

Most Read

Jammu

पाकिस्तान की फायरिंग पोजिशन, बीएसएफ ने दिया मुंहतोड़ जवाब, 15 पाक रेंजर ढ़ेर

सीमा सुरक्षा बल के जवानों ने पाकिस्तानी गोलाबारी का मुंहतोड़ जवाब दिया है। पाकिस्तान की कई फायरिंग पोजिशन, आयुध भंडार और फ्यूल डिपो को बीएसएफ ने उड़ा दिया है

22 जनवरी 2018

Related Videos

हरियाणा के उद्योग मंत्री ने प्रधानमंत्री राहत कोष के लिए इस तरह जुटाए 2.5 करोड़

हरियाणा के उद्योग मंत्री विपुल गोयल द्वारा फरीदाबाद स्थित सूरजकुंड के सिल्वर जुबली हॉल में उपहारों की प्रदर्शनी लगाई। उपहारों की इस प्रदर्शनी के जरिए पीएम राहत कोष के लिए 2.5 करोड़ की धन राशि जुटाई गई।

15 जनवरी 2018

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper