विज्ञापन
विज्ञापन

ये कैसी सड़क : इंजीनियर साब! आप इसे कहते हैं सड़क

Faridabad Updated Wed, 29 Aug 2012 12:00 PM IST
ख़बर सुनें
फरीदाबाद। नगर निगम आयुक्त और इंजीनियर साहब जिसे आप सड़क कहते हैं लोग उसे अब एडवेंचर ट्रैक कहते हैं। सड़क के बारे में पूछते ही लोग कहते हैं कि क्या आप इसे सड़क कहेंगे, जिस पर गड्ढे ही गड्ढे हैं।
विज्ञापन
विज्ञापन
शहर की सड़कों की हालत जानने के लिए ‘अमर उजाला’ ने रिंग रोड को चुना, जो तीन नंबर बौद्ध विहार से शुरू होकर प्याली फैक्ट्री तक जाती है। इस पर हमने मसजिद चौक से डबुआ की ओर एक किलोमीटर का सफर तय किया, जिसमें चालीस बड़े गड्ढे मिले। छोटे गड्ढों की तो गिनती छोड़िए।
नगर निगम अधिकारी और पार्षद यह भी कह सकते हैं कि केस स्टडी के लिए यही सड़क क्यों चुनी गई तो जवाब यह है कि सड़क बनाने का प्रयास पिछले चार साल से हो रहा है। इसके गड्ढों में गिरकर एक युवती असमय ही काल के गाल में समा गई थी। फिर भी नगर निगम अधिकारियाें का दिल नहीं पसीजा और पूरी सड़क गड्ढों में बदल गई। इस सड़क का एक फायदा जरूर है कि यहां दुपहिया या चौपहिया पर सवार होकर ऊंट की सवारी का मजा लिया जा सकता है।
बारिश नहीं फिर भी बुरा हाल
इस बार जोरदार बारिश नहीं हुई है, फिर भी कई सड़कों का इतना बुरा हाल है कि उस पर चलने लायक नहीं है। हर साल यहां रिपेयर के नाम पर जो खेल होता है उसमें गड्ढे नहीं चंद लोगों की जेबें भरी जाती हैं। बारिश और घटिया सड़कों ने इसकी जमीन तैयार कर दी है। पूछने पर कार्यकारी अभियंता डीआर भास्कर कहते हैं कि पैसे नहीं हैं तो कोई भी सड़क कहां से बनेगी। बारिश बाद मरम्मत होेगी।


और कहां-कहां पर खराब हैं मुख्य सड़कें:
-वाईएमसीए यूनिवर्सिटी से सेक्टर-7-10 मार्केट होते हुए सेक्टर-आठ बाईपास।
-आईओसी रिसर्च सेंटर के पास से घई हॉस्पिटल होते हुए सेक्टर-9 की सड़क।
-बाटा फ्लाईओवर के दोनों ओर एंट्री प्वाइंट जर्जर हालत में हैं।
-सेक्टर-30 से 31 को जाने वाली सड़क बहुत खराब हालत में है।
-मेट्रो चौक से आरके हॉस्पिटल तक की सड़क बीच में काफी खराब है।
-हाइवे पर गुडईयर चौक से सेक्टर-तीन को जोड़ने वाली सड़क खराब है।
-नेहरू ग्राउंड डी ब्लॉक स्थित आनंदपुर सत्संग आश्रम रोड खराब है।
----------------------------------------------

‘इस समय शहर की जो सबसे घटिया सड़क है वह है रिंग रोड। मैंने अपने कार्यकाल में बौद्ध विहार से प्याली चौक तक करीब ढाई किमी लंबी सड़क 13 करोड़ रुपये में पास कराई। लेकिन ताज्जुब है कि यह सड़क अब तक नहीं बनाई गई। ऐसा इसलिए हो रहा है क्योंकि शहर के नेता सिर्फ अपनी स्वार्थ सिद्धि में लगे हुए हैं’।
-सीमा त्रिखा, पूर्व पार्षद।
----------------

-शहर में करीब 1150 किमी लंबी सड़क हैं, जबकि 250 किमी की कमी है।
-शहर में किसी भी सड़क पर पानी निकासी का इंतजाम नहीं है। जिससे सड़कें जल्दी खराब होती हैं।
-निगम के पास न तो सड़कों में लगे तारकोल के बिल हैं और न ही गुणवत्ता रिपोर्ट।
-सड़क बनाने के बाद यहां ठेकेदार की गारंटी सिर्फ साल भर की होती है।

...तो मिट्टी का पर्दा डालकर बचाई इज्जत
-डबुआ कॉलोनी एवं दो नंबर से गुजरने वाली रिंग रोड पर ही भारतीय खाद्य निगम का एक गोदाम है। यहां पिछले दिनों ईरान सरकार का एक प्रतिनिधिमंडल आया था। तब इस सड़क को ठीक करवाने के लिए खाद्य निगम ने नगर निगम से अपील की थी, जिस पर नगर निगम ने सड़क बनाने से मना करते हुए अपनी नाकामी पर पर्दा डालने के लिए सिर्फ गड्ढों को भरने के लिए मिट्टी डलवा दी थी। खाद्य निगम इस सड़क को ठीक करवाने के लिए चार बार पत्र लिख चुका है।

Recommended

UP Board Class 10th & 12th 2019 की परीक्षाओं का सबसे तेज परिणाम देखने के लिए रजिस्टर करें।
UP Board 2019

UP Board Class 10th & 12th 2019 की परीक्षाओं का सबसे तेज परिणाम देखने के लिए रजिस्टर करें।

क्या आप इसका उपयुक्त समाधान नहीं खोज पा रहे हैं? ज्योतिष शास्त्र द्वारा अपने प्रश्न का उत्तर जानिए
ज्योतिष समाधान

क्या आप इसका उपयुक्त समाधान नहीं खोज पा रहे हैं? ज्योतिष शास्त्र द्वारा अपने प्रश्न का उत्तर जानिए

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें

लोकसभा चुनाव में किस सीट पर बदल रहे समीकरण, कहां है दल बदल की सुगबुगाहट, राहुल गाँधी से लेकर नरेंद्र मोदी तक रैलियों का रेला, बयानों की बाढ़, मुद्दों की पड़ताल, लोकसभा चुनाव 2019 से जुड़े हर लाइव अपडेट के लिए पढ़ते रहे अमर उजाला चुनाव समाचार।

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Most Read

Delhi NCR

गन प्वाइंट पर नाबालिग लड़की से सामुहिक दुष्कर्म, दो के खिलाफ केस दर्ज

मंगलवार की शाम जंयती मोड के निकट कार सवार दो युवकों ने एक नाबालिग लडकी के साथ गन प्वाइंट पर सामुहिक दुष्कर्म करने का मामला प्रकाश में आया है।

24 अप्रैल 2019

विज्ञापन

राजधानी नई दिल्ली के मायापुरी में सीलिंग को लेकर बवाल, पुलिस पर बरसाए गए पत्थर

राजधानी नई दिल्ली के मायापुरी में उस समय बवाल हो गया, जब नगर निगम की टीम एनजीटी के आदेश पर राजधानी के सबसे बड़े कबाड़ मार्केट में सीलिंग करने के लिए पहुंची। कुछ स्थानीय लोगों ने यहां पुलिस पर पथराव कर दिया, जिसके बाद पुलिस को एक्शन लेना पड़ा।

13 अप्रैल 2019

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
Election