हर राज्य में खोले जाएं स्पोर्ट्स स्कूल : गगन नारंग

Faridabad Updated Fri, 17 Aug 2012 12:00 PM IST
विज्ञापन

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹249 + Free Coupon worth ₹200

ख़बर सुनें
फरीदाबाद। लंदन ओलंपिक में देश की झोली में पहला मेडल डालने वाले शूटर गगन नारंग ने कहा है कि वह देश में खेलों को बढ़ावा देने के लिए प्रत्येक प्रदेश की सरकार से बात करेंगे, ताकि वहां स्पोर्ट्स स्कूल खोलेे जा सकें और खिलाड़ियाें की फौज तैयार की जा सके। हर सरकार से गुजारिश करूंगा कि खेल विषय हो और उसके भी अंक हों।
विज्ञापन

नारंग ने कहा कि वह प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह व खेल मंत्री अजय माकन के समक्ष भी स्पोर्ट्स स्कूलों को बढ़ावा देने की पेशकश करेंगे। इससे देश में खिलाड़ियों की एक बड़ी फौज तैयार हो सकेगी। स्कूल, कॉलेज स्तर पर स्पोर्ट्स की सुविधा विद्यार्थियों को मिले, जिससे अधिक मेडल मिलेंगे। वह प्रत्येक प्रदेश के स्कूल, कॉलेजों में जाकर विद्यार्थियाें का उत्साहवर्द्धन भी करेंगे।
उन्हाेंने कहा कि खेलों के स्तर पर चीन से बराबरी की बात करना गलत है। वहां करोड़ो लोग खेल खेलते हैं। उनसे मुकाबला करने के लिए अपने देश में 100 सुशील जैसे पहलवान व विजय कुमार जैसे शूटर तैयार करने होंगे। अंतरराष्ट्रीय स्तर पर पहुंचने से पूर्व ही अपने देश में ही कांटे की प्रतियोगिता हो, ताकि खिलाड़ी निखर कर सामने आ सकें। यदि हमें मेडलों की तालिका में ऊपर जाना है तो इसके लिए ओलंपिक 2016 व 20 की अभी से तैयारियां शुरू करनी होगी। उन्होंने कहा कि मैंने जो सपना देखा था, वह लंदन ओलंपिक में साकार हुआ है।
ओलंपिक मेडल विजेता नारंग ने कहा कि सरकार खिलाड़ियाें के लिए काफी अच्छा कर रही है, लेकिन अभी बहुत कुछ करना बाकी है। इस बार छह मेडल मिले हैं, अगली बार 12 मेडल होंगे।


खुली जीप में पहुंचे नारंग
फरीदाबाद। मानव रचना इंटरनेशनल यूनिवर्सिटी पहुंचे ओलंपिक मेडल विजेता गगन नारंग को खुली जीप में देखकर यूनिवर्सिटी के विद्यार्थी अपने आप को रोक नहीं पा रहे थे।
यूनिवर्सिटी में घुसने के साथ ही विद्यार्थियों का समूह ओलंपिक विजेता को देखने के लिए उमड़ पडा। यूनिवर्सिटी के प्रत्येक ब्लॉक के पास से गगन की जीप को निकाला गया, जहां दोनों तरफ छात्र-छात्राएं जमा होकर गगन का स्वागत कर रहे थे, वहीं गगन भी इतनी संख्या में यूथ के बीच अपने आप को पाकर अभिभूत हो रहे थे। वह ओलंपिक में जीत पर गर्व महसूस कर रहे थे।
वह रेंज परिसर में पहुंचे। यहां वह रेंज में लगे टारगेट को कुछ समय निहारने के बाद कुछ पीछे हटे। उन्होंने अपने कुछ जानकाराें से बातचीत की। जब उनसे रेंज के अंदर टारगेट पर निशाना लगाने के लिए आग्रह किया गया तो उनका जवाब था, कि जहां उन्हे निशाना लगाना था, वह वहां लगा आए हैं। अब वह निशाना लगाने के मूड में नहीं हैं। इसके बाद वह वापस यूनिवर्सिटी के सभागार पहुंचे।


पुलिस आयुक्त ने भी दी बधाई
ओलंपिक विजेता को बधाई देने के लिए पुलिस आयुक्त शत्रुजीत कपूर भी एमआरआईयू पहुंचे। कपूर ने गगन के साथ हाथ मिलाते हुए वेलडन गगन कहा तो इस पर गगन ने मुस्कुराकर उन्हें थैंक्यू बोला।
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us