खबर का असर: प्रदूषण रोकने को बंद हुआ खनन

Rohtak Bureau Updated Fri, 10 Nov 2017 02:42 AM IST
अमर उजाला ब्यूरो
भिवानी/तोशाम
स्मॉग के कहर और खराब होती आबोहवा को देखते हुए आखिरकार जिले के सभी क्रशर को वीरवार रात से बंद करने का निर्णय लिया गया है।
पिछले दो दिन से लगातार अमर उजाला इस मसले को प्रमुखता से उठा रहा है। अमर उजाला ने वायु प्रदूषण के स्तर का उल्लेख करते हुए खनन को स्मॉग और प्रदूषण का बड़ा कारण बताया था। जिले के वायु प्रदूषण का स्तर 650 पार्टिकल मैटर (2.5) तक पहुंच गया था। पार्टिकल मैटर 200 से ज्यादा होते ही खतरनाक माना जाता है।
बढ़ते प्रदूषण के मद्देनजर सरकार ने वीरवार से क्रशर व उद्योगों को बंद करने के आदेश दिए। इसके बाद प्रदूषण बोर्ड ने क्रशर मालिकों व स्मॉग के रहने तक कार्य बंद करने के आदेश दिए। वीरवार रात से कार्य बंद रहेंगे। प्रदूषण बोर्ड के रीजनल अधिकारी आरके भोसले ने बताया कि अगले आदेशों तक क्रशर, उद्योग व मिक्सर प्लांट बंद रहेंगे। इससे प्रदूषण जो फैला हुआ उसमें कमी आएगी।
--
बंद होने से बढ़ सकते है रोड़ी-क्रशर के भाव
प्रदूषण के चलते क्रशर बंद होने के बाद रोड़ी और क्रशर के दाम बढ़ने के आसार हो गए हैं। करीब तीन महीने पहले खानक मेें शुरू हुए खनन कार्यों की वजह से रोड़ी और क्रशर सस्ता मिलना शुरू हुआ था।

Spotlight

Most Read

Shimla

वन भूमि से 416 पेड़ काटने के मामले में आरोपी गिरफ्तार

वन भूमि से 416 पेड़ काटने के मामले में आरोपी गिरफ्तार

20 जनवरी 2018

Related Videos

डॉक्टर साहब गए आराम फरमाने, गार्ड ने ऐसे किया इलाज

हरियाणा के सिरसा में एक डॉक्टर की संवेदनहीनता देखने को मिली। यहां पर डॉक्टर साहब घायल शख्स का इलाज करने के बजाय आराम फरमाने चले गए। जिसके बाद मौके पर मौजूद एक सफाईकर्मी ने घायल शख्स को टांके लगाए।

19 सितंबर 2017

आज का मुद्दा
View more polls
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper