कंडम भवनों में पढ़ रहे नौनिहाल

Ambala Updated Mon, 26 Nov 2012 12:00 PM IST
अंबाला। ट्विनसिटी में जिला शिक्षा विभाग की ढुलमुल कार्यप्रणाली और उच्च अफसरों की उदासीनता के चलते छात्र खतरे के साये में पढ़ने को मजबूर हैं। कई स्कूलों के भवन अनसेफ यानी जर्जर और खतरनाक साबित होने के बावजूद भी छात्र इन्हीं भवनों की छतों में पड़ने को मजबूर है।
विभागीय सूत्रों के अनुसार जिला शिक्षा विभाग के अंतर्गत आधा दर्जन के करीबन स्कूल ऐसे हैं, जिनकी भवन बेहद जर्जर हो चुके हैं। इन स्कूलों में छबियाना सरकारी स्कूल, रामबाग रोड प्राइमरी स्कूल, राजकीय स्कूल सब्जी मंडी, कपड़ा मार्केट और एसए जैन कालेज रोड पर स्थित सरकारी स्कूल शामिल है।
इन स्कूलों में आलम यह है कि ये भवन इतने जर्जर हो चुके हैं कि अपनी मियाद पूरी कर चुके हैं। इन स्कूलों के प्राचार्यों ने बाकायदा कई बार जिला शिक्षा विभाग को लैटर भेजकर स्कूल भवनों की स्थिति से अवगत करा दिया है। मगर आज तक शिक्षा विभाग ने इस पर कोई ज्यादा गंभीरता नहीं दिखाई।
कुछ स्कूलों में तो छतों के टुकड़े कई बार टूटकर नीचे गिर चुके हैं और शिक्षक और छात्र इन घटनाओं से कई बार बचे। एक स्कूल में तो प्राचार्य के कमरे की छत का ही एक बड़ा हिस्सा नीचे गिर गया, लेकिन प्राचार्य उस वक्त कमरे में नहीं थे। उधर, एक स्कूल का पंखा ही नीचे गिर गया था। जबकि एक स्कूल में तो टीचर भी डर की वजह से भवनों से बाहर जमीन पर ही बच्चों को पढ़ाने में गनीमत समझते हैं। इन स्कूलों के शिक्षकों में भी स्कूलोें की हालत देखकर रोष है, मगर खुलकर कोई नहीं बोल पा रहा है और बच्चे के जीवन को लगातार खतरा बड़ रहा है।

गंभीरता दिखाए शिक्षा विभाग
समाज सेवी राजदीप सिंह सिद्धूृ, परमजीत सिंह और नरेश मित्तल के अनुसार जब शिक्षा विभाग जानता है कि कौन-कौन से स्कूल अनसेफ हैं तो स्कूलों के भवनों को दोबारा बनाने या फिर स्कूलों को कहीं और शिफ्ट करने की कार्रवाई क्यों नहीं करता। उनके अनुसार यदि इन भवनों की वजह से कोई बड़ा हादसा हो गया, तो इसके लिए कौन जिम्मेदार होगा? उन्होंने डीसी अंबाला से मांग की है कि वे इस मामले में गंभीरता दिखाते हुए शिक्षा विभाग से कंडम स्कूल भवनों की रिपोर्ट लें और इस भवनों को दोबारा बनाने या स्कूलों को शिफ्ट करने की प्रक्रिया शुरू कराए।

अभी इस मामले में रिपोर्ट देखी जाएगी और फिर उच्च अफसरों को इससे दोबारा अवगत करवाकर नए भवन बनवाने का प्रयास किया जाएगा। छात्रों की सुरक्षा को लेकर शिक्षा विभाग संजीदा है, जल्द ही इस पर कार्रवाई की जाएगी।
जोगेंद्र हुड्डा, जिला मौलिक शिक्षा अधिकारी, अंबाला

Spotlight

Most Read

Shimla

कांग्रेस के ये तीन नेता अब नहीं लड़ेंगे चुनाव, चुनावी राजनीति से लिया संन्यास

पूर्व मंत्री एवं सांसद चंद्र कुमार, पूर्व विधायक हरभजन सिंह भज्जी और धर्मवीर धामी ने चुनाव लड़ने की सियासत को बाय-बाय कर दिया है।

17 जनवरी 2018

Related Videos

आजादी का क्रेडिट बापू को देने पर खट्टर के मंत्री को है ये ऐतराज

हरियाणा के स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज एक बार फिर से अपने बयान को लेकर विवादों में घिर गए हैं।

20 नवंबर 2017

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper