कांप रहा है पुल, कोई तो ले सुध

Ambala Updated Mon, 19 Nov 2012 12:00 PM IST
अंबाला। शहर के अग्रसेन चौक पर अबाला-अमृतसर रेलवे ट्रैक पर बने ओवरब्रिज की दयनीय हालत को लेकर अभी तक गंभीरता नहीं दिखाई जा रही। इस पुल पर लगातार ट्रैफिक बढ़ता जा रहा है, जिस वजह से इस पुल का कंपन्न बढ़ता जा रहा है। इतना ही नहीं पांच बार पुल के टुकड़े भुर-भुरकर गिर चुके हैं। लेकिन उसके बावजूद भी कोई भी इस पुल की सुध नहीं ले रहा है।

इसलिए महत्वपूर्ण है पुल
अंबाला-हिसार हाईवे पर बना यह ओवरब्रिज बहुत महत्वपूर्ण है। यह नेशनल हाईवे का ओवरब्रिज है, जो हिसार जाने के लिए अंबाला से एकमात्र रास्ता है। अंबाला ही नहीं चंडीगढ़ और यमुनानगर से आने वाले ट्रैफिक के लिए हिसार, जींद और कैथल इलाकों में जाने के लिए भी इसी पुुल का इस्तेमाल किया जाता है। रोजाना इस पुल से 75 हजार वाहन गुजरते हैं। जिनमें भारी वाहनों की संख्या भी हजारों में है। इसके अलावा अंबाला शहर के दो हिस्सों मानव चौक और सेक्टर क्षेत्र, बाजारों को रेलवे लाइन बांटती है। यह पुल इन दोनों हिस्सों को जोड़ने का बड़ा माध्यम है। शहर का सारा ट्रैफिक भी शहर के एक हिस्से से दूसरे हिस्से में इसी पुल से होकर गुजरता है।

पांच बार गिरे पुल के बढ़े हिस्से
अंबाला-हिसार हाईवे पांच बार भुर-भुरकर अलग-अलग हिस्सों में गिर चुका है। तीन बार तो सड़क में से ही सुराग हो गया। चूंकि अब इस पुल पर वाहनों का बोझ अपेक्षाकृत काफी बढ़ गया है, इसलिए इसकी हालत जर्जर होती जा रही है। अब यदि कोई भी भारी वाहन इस पुल से गुजरता है, तो एकदम कंपन्न होने लगती है। इस पुल के नीचे झुग्गियों में रहने वाले लोगों के अनुसार वैसे भी पुल के टुकड़े भुर-भुरकर गिरते रहते हैं। जिससे उनकी भी जान को खतरा बना हुआ है। हर बार हल्की-हल्की मरम्मत करके काम चलाया जा रहा है।


क्या बड़े हादसे का इंतजार
जिला प्रशासन पीडब्ल्यूडी बीएंडआर विभाग को हर बार इस पुल के बारे में अपनी रिपोर्ट देने को कह देता है। रिपोर्ट आती है, रिपोर्ट में टिप्पिणयां आती है। मगर उसके बाद कार्रवाई कुछ नहीं होती। शहरवासी कई बार नया पुल बनाने की मांग कर चुके हैं। मगर शायद प्रशासन व संबंधित विभाग को बड़े हादसे का इंतजार है।

शहरवासियों में रोष
शहर के समाजसेवी त्रिलोचन सिंह, संदीप सचदेवा, अवतार सिंह, राजबीर, कृपाल सिंह, सुरेंद्र सिंह गोगू, अलका रानी व सुधा शर्मा के अनुसार जब पुल जर्जर हो चुका है, तो प्रशासन किस बात का इंतजार कर रहा है। हर बार थोड़ी बहुत मरम्मत कर काम चला दिया जाता है। मगर समस्या बहुत गंभीर है। सिर्फ काम चलाने भर से काम नहीं बनेगा। कोई ठोस कदम उठाना पड़ेगा।

पीडब्ल्यूडी बीएंडआर विभाग से रिपोर्ट मांगी हुई है। इस बारे में विचार चल रहा है। जल्द ही समस्या के समाधान का रास्ता निकाला जाएगा। लोगों की जिंदगी से बड़ा कुछ नहीं है। प्रशासन पूरी तरह से इस मामले को लेकर गंभीर है।
-शेखर विद्यार्थी, डीसी अंबाला-

Spotlight

Most Read

Lucknow

ब्राइटलैंड स्कूल में छात्र को चाकू मारने वाली छात्रा को मिली जमानत

ब्राइटलैंड स्कूल में कक्षा एक के छात्र रितिक शर्मा को चाकू से गोदने की आरोपी छात्रा को जेजे बोर्ड ने 31 जनवरी तक के लिए शुक्रवार को अंतरिम जमानत दे दी।

19 जनवरी 2018

Related Videos

आजादी का क्रेडिट बापू को देने पर खट्टर के मंत्री को है ये ऐतराज

हरियाणा के स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज एक बार फिर से अपने बयान को लेकर विवादों में घिर गए हैं।

20 नवंबर 2017

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper