बढ़े किराए के खिलाफ लामबंद हुए स्टूडेंटस

Ambala Updated Wed, 10 Oct 2012 12:00 PM IST
अंबाला। आटोचालकों द्वारा बढ़ाए गए किराए के विरोध में स्टूडेंटस लामबंद हो गए है। छात्रों ने ऑटोचालकों द्वारा बढ़ाए गए किराए को पुरजोर विरोध किया। उधर, प्रोफेसरों का कहना है कि सरकार को लोकल मिनी बस चलानी चाहिए ताकि आम आदमी को राहत मिल सकें और शहर की ट्रेफिक व्यवस्था भी सुधरेगी।
----------------------

‘सरकार को शहर में लोकल मिनी बस चलानी चाहिए। इससे यात्रियाें की यात्रा सुरक्षित होगी और शहर की ट्रेफिक व्यवस्था में सुधार होगा। इसके अलावा ऑटोचालकों को वर्दी पहननी चाहिए और लाइसेंस हमेशा साथ रखना चाहिए।’
-डा. नवीन गुलाटी, प्रोफेसर, एसडी कालेज, छावनी
----------------------

‘ऑटो चालकों को अपनी मनमानी छोड़कर किलोमीटर के हिसाब से पैसा लेना चाहिए। महंगाई को देखते हुए जायज किराया बढ़ाया जा सकता है। लेकिन उसके बाद एक्सट्रा सवारी ऑटोचालक न बिठाएं। ऑटोचालक किसी भी तरह को नशा न करें।’
- डा. प्रेम सिंह पुंडीर, प्रोफेसर, एसडी कालेज, छावनी
----------------------

‘किराया निर्धारित कर शहर में लोकल मिनी बस लगाई जाए। इससे ट्रेफिक कंट्रोल में रहेगा। दूसरा ऑटो में स्पीड कंट्रोल लगाए जाने जरूरी हैं। बीच का रास्ता निकालकर किराया फिक्स करना चाहिए ताकि आम आदमी पर भी बोझ न पड़े और ऑटोचालक की रोजी-रोटी पर भी फर्क न पडे़।’
-डा. संदीप फूलिया, प्रोफेसर, एसडी कालेज, छावनी
----------------------

‘ऑटोचालकों को कालेज व स्कूल के आईकार्ड धारकों से पांच रुपये किराया लेना चाहिए। इससे आम अभिभावकों को राहत मिलेगी।’
- सोनू कश्यप, छात्र, एसडी कालेज, छावनी।
----------------------

‘एक चौक से दूसरे चौक के 10 रुपये चार्ज करना गलत है। किलोमीटर के हिसाब से चार्ज लिया जाना चाहिए। छात्रों को ऑटो किराया में कुछ मिलनी चाहिए।’
- विश्वास, छात्र, एसडी कालेज, छावनी।
----------------------

‘अंबाला में हजारों छात्र ऑटो से स्कू ल कालेज में आते है। ऐसे में इतना किराया बढ़ाना आम आदमी पर अतिरिक्त आर्थिक बोझ पडे़गा। ऑटोचालकों को अपना फैसला वापस लेना चाहिए।’
- निशांत सैनी, छात्र, एसडी कालेज, छावनी।
----------------------

‘सरकार को ऑटो चालकों की मनमानी पर रोक लगानी चाहिए। ऑटो चालक ट्रेफिक नियमों की धज्जियां उड़ा रहे हैं। हर चालक के पास वर्दी, लाइसेंस होना चाहिए। ’
-जितेंद्र वर्मा, छात्र, एसडी कालेज, छावनी।
---
‘बस स्टैंड से बब्याल और साहा रूट पर एक मिनी बस चलने चाहिए। जो उन सवारियों को ढोए, जो सवारियां आटो पर अधारित है। तभी आटो चालकों की मनमानियां खत्म होगी। इतना ही नहीं जिला प्रशासन ये भी सुनिश्चित करे कि भविष्य में जब भी आटो चालक अपना किराया बढ़ाएंगे, तो प्रशासन की निगरानी में और समाज सेवी संस्थाओं को विश्वास में लेकर बढ़ाएगें, न कि अपनी मनमर्जी से।’
-डा. सुरेश देसवाल, प्रोफेसर, राजकीय स्कूल-


लवकुमार

Spotlight

Most Read

Lucknow

यूपी दिवस: प्रदेश को 25 हजार करोड़ की योजनाओं की सौगात, योगी बोले- आज का दिन गौरवशाली

यूपी दिवस के मौके पर प्रदेश को सरकार ने 25 हजार करोड़ करोड़ की योजनाओं की सौगात दी। मुख्यमंत्री योगी ने आज के दिन को गौरवशाली बताया।

24 जनवरी 2018

Related Videos

आजादी का क्रेडिट बापू को देने पर खट्टर के मंत्री को है ये ऐतराज

हरियाणा के स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज एक बार फिर से अपने बयान को लेकर विवादों में घिर गए हैं।

20 नवंबर 2017