डिफेंस यार्ड में इंजन में आग, हड़कंप

Ambala Updated Fri, 05 Oct 2012 12:00 PM IST
अंबाला। छावनी रेलवे स्टेशन के डिफेंस यार्ड की लाइन नंबर दो में वीरवार को एक मालगाड़ी की शंटिंग के दौरान अचानक इंजन में आग लग गई। इंजन धू-धूकर जलने लगा और वहां एकदम से हड़कंप का माहौल बन गया। चालक और सहायक चालक ने तुरंत इंजन से निकलकर और वहां से भागकर अपनी जान बचाई। चालक ने तुरंत इसकी सूचना रेलवे अफसरों को दी। सूचना पाकर मौके पर पहुंची तीन फायर ब्र्र्रिगेड गाड़ियों ने एक घंटे की मशक्कत के बाद इंजन में लगी आग पर काबू पाया। रेलवे अफसरों ने भी दौरा कर मौका का मुआयना किया। डीआरएम ने इस मामले में जांच के आदेश के दिए हैं।
बलबीर नाम का चालक डिफेंस यार्ड से मालगाड़ी के खाली डिब्बों को शंटिंग के दौरान बैक कर रहा था। इस डिफेंस यार्ड में आर्मी यूनिटों के ट्रांसफर या अन्य कारणों से आर्मी के टैंक, गाड़ियां और अन्य सामान यही से ट्रेन में लोड करके अपने गंतव्य के लिए रवाना किया जाता है। जैसे ही एक खाली माल गाड़ी की शंटिंग चल रही थी, अचानक मालगाड़ी की शंटिंग करने वाले इंजन में अचानक आग गई। इससे वहां हड़कंप मच गया और चालक व सहायक चालक इंजन छोड़कर भाग गए। इंजन पूरी तरह से आग की लपटों में घिर गया। तुरंत माल गाड़ी की अन्य बोगियों को इंजन से अलग कर दिया गया। चालक बलबीर ने बताया कि उसे मालूम नहीं चला कब इंजन में आग लग गई। वह तो इंजन की मदद से ट्रेन को बैक ले जा रहा था, तभी उसे धुएं की दुर्गंध आई, उसने जब बाहर देखा तो इंजन में आग लग चुकी थी। इसके बाद उसने और सहायक ने इंजन छोड़ दिया और रेलवे अफसरों को इसकी सूचना दी।

‘आग इंजन के एक्प्रेशर में लगी थी। इसी एक्सप्रेशर से इंजन के लिए कंप्रेशर और वैक्यूमनीटर दोनों बनते हैं। ये इंजन का महत्वपूर्ण हिस्सा होता है। इसी वजह से फिल्टर में भी आग लग गई। इस मामले में जांच के आदेश दिए गए हैं। तकनीकी स्टाफ इसमें जांच करेगा।
- प्रमोद कुमार, एडीआरएम, अंबाला
---

फट सकता था इंजन
इंजन के जिस हिस्से में आग लगी, उसके नीचे ही इंजन का फ्यूल टैंक था। तेज हवा की वजह से आग की लपटें ऊपर की ओर जा रही थी। इसकी वजह से फ्यूल टैंक आग की लपेट से दूर ही रहा। यदि समय रहते फायर ब्र्रिगेड की गाड़ियां वहां नहीं पहुंचती तो आग से टैंक फट सकता था।

बूढ़े इंजनों से चल रहा काम!
रेलवे में अभी भी बूढे़ डीजल इंजनों से काम लिया जा रहा है। ये वो इंजन है, जिन्हें मेन स्ट्रीम से तो हटा लिया गया है, मगर यार्डों में अभी इन्हीं इंजनों से काम लिया जा रहा है। जो खतरनाक है। रेलवे सूत्रों के मुताबिक ये इंजन काफी पुराने हो चुके हैं, इसलिए इनमें आग लगने जैसे मामले अब सामने आने लगे हैं। अंबाला में कुछ माह के दौरान ही इंजन में आग लगने की ये तीसरी घटना है। कुछ समय पहले जंडली पुल के पास यार्ड में ही एक इंजन में अचानक आग लग गई थी। उसके बाद बाद स्टेशन पर अचानक एक इंजन में आग लग गई, जिससे हड़कंप का माहौल बन गया। अब तीसरी घटना में डिफेंस यार्ड में इंजन धू-धूकर जल उठा। रेलवे सूत्रों के अनुसार जो इंजन पुराना और मियाद पूरी करने वाला हो जाता है, उसे यार्ड में लगाया जा रहा है, इन्हीं पुराने इंजनों में आग लगने की घटनाएं सामने आ रही है। डिफेंस यार्ड में जला इंजन भी शकूरबस्ती का डीजल इंजन था।
---

‘इस मामले में जांच के आदेश दिए हैं। ये एक शंटिंग इंजन था। इससे यार्ड में केवल शंटिंग का ही काम करवाया जाता था। तकनीकी विभाग की टीम इस बारे में मालूम कर रही है कि आखिरकार इंजन में आग कैसे लगी। कुछ इंजनों को कुछ समय के बाद अलग कर दिया जाता है, इन इंजनों का इस्तेमाल सवारी गाड़ी के लिए नहीं होता, इन्हें इंजन में ही सिर्फ शंटिंग के लिए रखा जाता है। जलने वाला इंजन भी शंटिंग इंजन था।’
-प्रदीप कुमार सांघी, डीआरएम, अंबाला

Spotlight

Most Read

Chandigarh

पंजाब: कैबिनेट मंत्री राणा गुरजीत सिंह ने दिया इस्तीफा

पंजाब के कैबिनेट मंत्री राणा गुरजीत सिंह ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है। राणा गुरजीत ऊर्जा एवं सिंचाई विभाग के मंत्री थे।

16 जनवरी 2018

Related Videos

आजादी का क्रेडिट बापू को देने पर खट्टर के मंत्री को है ये ऐतराज

हरियाणा के स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज एक बार फिर से अपने बयान को लेकर विवादों में घिर गए हैं।

20 नवंबर 2017

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper